10 thousand ex-servicemen to fight coronavirus in Maharashtra; Former drivers will drive ambulances, health workers will join hospitals | महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से लड़ेंगे 10 हजार पूर्व सैनिक; पूर्व ड्राइवर एंबुलेंस चलाएंगे, स्वास्थ्यकर्मी अस्पतालों से जुड़ेंगे


  • 10 हजार रिटायर्ड जवान राज्य सरकार की मदद के लिए आगे आए हैं, ये सभी पूर्व सैनिक 50 साल से कम उम्र के हैं
  • मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आह्वान पर 21 हजार लोगों और व्यवसाइयों ने भी मुश्किल वक्त में मदद का हाथ बढ़ाया है

दैनिक भास्कर

Apr 18, 2020, 06:35 AM IST

औरंगाबाद. (सतीश वैरालकर) वैश्विक महामारी कोरोनावायरस को हराने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने पूर्व सैनिकों की मदद लेने का फैसला किया है। करीब 10 हजार रिटायर्ड जवानों ने राज्य सरकार की मदद के लिए रजामंदी दिखाई है। ये सभी पूर्व सैनिक 50 साल से कम उम्र के हैं। इनमें से जो पहले सेना के वाहन चलाते थे। वे अब एंबुलेंस चलाएंगे। इसी तरह जो पूर्व सैनिक चिकित्सा संबंधी कार्यों से जुड़े थे। अब वे अस्पतालों से जुड़े रहेंगे।

वहीं, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आह्वान पर 21 हजार लोगों और व्यवसाइयों ने भी मदद का हाथ बढ़ाया है। महाराष्ट्र में 1.80 लाख पूर्व सैनिक हैं। इनमें 60% की उम्र 60 साल या उससे अधिक है। 40 हजार पूर्व सैनिक राज्य सरकार के विविध विभागों में सेवारत हैं।

कोल्हापुर में 300 पूर्व सैनिक काम कर रहे हैं- डिप्टी डायरेक्टर

पुणे स्थित सैनिक कल्याण विभाग के डिप्टी डायरेक्टर लेफ्टिनेंट कर्नल राजेंद्र जाधव ने बताया कि कोल्हापुर में 300 पूर्व सैनिक काम कर रहे हैं। इन्हें 20 हजार रुपए प्रतिमाह वेतन भी दिया जा रहा है।