44 people from Hyderabad, including students, will be placed at the temporary quarantine center in Andhra Pradesh, 301 kilometers away | तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के 44 लोगों को आइसोलेशन के लिए 301 किमी दूर आंध्र के क्वारैंटाइन सेंटर भेजा


  • तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री जेएम रेड्डी के बीच बुधवार को बात हुई
  • दोनों मुख्यमंत्रियों ने यह फैसला लिया कि हैदराबाद के इन लोगों को दूसरे स्थान पर नहीं जाने दिया जाए 
  • बैठक के बाद डिप्टी कलेक्टर और डीएसपी इन सभी लोगों को शिफ्ट किए जाने को लेकर आदेश दिया गया

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 05:27 PM IST

कृष्णा (आंध्र प्रदेश). तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के बीच बुधवार को हुई बातचीत में हैदराबाद के 44 लोगों को आंध्र प्रदेश की सीमा में प्रवेश करने के मामले पर सहमति बन गई। सभी लोगों को आंध्र प्रदेश के आईआईआईटी और नुजुटी स्थित केफोर हॉस्टल में बनाए गए अस्थाई क्वारैंटाइन सेंटर में रखा गया। वहां 330 लोगों को रखने की व्यवस्था की गई है।

दोनों मुख्यमंत्रियों ने इस बात पर भी सहमति जताई कि हैदराबाद के इन लोगों को दूसरी जगह जाने की इजाजत न दी जाए। सभी की शिफ्टिंग के लिए डिप्टी कलेक्टर और डीएसपी को आदेश दिया गया है।

देश में कोरोना से अब तक 13 की मौत
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोनावायरस के अब तक 653 मामले सामने आ चुके हैं। इससे 13 की मौत हो चुकी है। आंध्र प्रदेश में कोरोनावायरस के अब तक 11 और तेलंगाना में 41 मामले सामने आ चुके हैं, इनमें 10 विदेशी शामिल हैं। तेलंगाना में जन सेना पार्टी के प्रमुख पवन कल्याण ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में एक करोड़ रु. और आंध्र प्रदेश-तेलंगाना के मुख्यमंत्री राहत कोष में 50-50 लाख रु. दान करने की घोषणा की है। 

महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले 
अब तक कोरोना के सबसे ज्यादा 116 मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं जबकि केरल (109) दूसरे स्थान पर है। कर्नाटक सरकार ने कहा कि राज्य में 24 घंटे में 10 नए मामलों को मिलाकर संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 51 हो गई है। इनमें से 3 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज किए जा चुके हैं और एक की मौत हो गई है।