Army said- 9 terrorists killed in different areas in 24 hours; One young martyr, two seriously injured | सेना ने कहा- 24 घंटे में अलग-अलग क्षेत्रों में 9 आतंकी मार गिराए; एक जवान शहीद, दो गंभीर रूप से जख्मी


  • 4 आतंकी शनिवार को कुलगाम और 5 आतंकी रविवार को एलओसी के पास ढेर
  • इस साल अब तक सुरक्षाबलों की आतंकियों के साथ 10 मुठभेड़ हो चुकी हैं 

दैनिक भास्कर

Apr 05, 2020, 11:49 AM IST

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खात्मे के लिए सुरक्षाबलों का अभियान जारी है। सेना ने रविवार को बताया कि बीते 24 घंटे में 9 आतंकी मार गिराए गए। इनसे से 4 शनिवार को कुलगाम के बटपोरा और 5 रविवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास केरन सेक्टर में मारे गए। ये सभी भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे थे। ऑपरेशन में एक जवान शहीद भी हो गया, जबकि दो जवान गंभीर रूप से घायल हैं। जख्मी जवानों को निकालने के लिए ऑपरेशन जारी है। भारी बर्फबारी और पहाड़ी इलाका होने के कारण बचाव अभियान में दिक्कतें आ रही हैं।

शनिवार को मारे गए चारों आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन के थे। मौके पर पहुंचते ही झाड़ियों में छिपे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में चारों मारे गए। इनमें से तीन की तस्वीर भी सामने आई। 15 मार्च को अनंतनाग जिले में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के 4 आतंकियों को मार गिराया था। आतंकी वटरीग्राम गांव के एक घर बाथरूम में गड्ढा खोदकर छिपे थे।

कश्मीर में इस साल अब तक 10 एनकाउंटर

5 अप्रैल: केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास 5 आतंकी मारे।

4 अप्रैल: कुलगाम में चार आतंकी मारे गए।

15 मार्च: अवंतीपोरा जिले के वटरीग्राम में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया।

22 फरवरी: दक्षिण कश्मीर के संगम बिजबेहरा में जवानों और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। दो आतंकी मारे गए।
19 फरवरी: पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर के दौरान 3 आतंकियों को ढेर किया।
5 फरवरी: श्रीनगर के पास मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे, जबकि एक सीआरपीएफ जवान शहीद हुआ था। बाइक पर सवार 3 आतंकियों ने सीआरपीएफ चैकपोस्ट पर फायरिंग की थी।
31 जनवरी: जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर ट्रक में छिपे 4-5 आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था। ट्रक को नगरोटा के टोल प्लाजा पर चैकिंग के लिए रोका गया था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकी मारे गए, जबकि एक पुलिस जवान जख्मी हो गया। ट्रक का ड्राइवर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का चचेरा भाई है और वही आतंकियों का मुख्य हैंडलर था।
25 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 2 पाकिस्तानी आतंकी कारी यासिर और बुरहान शेख मारे गए थे। यासिर जैश-ए-मोहम्मद का कश्मीर एरिया कमांडर था। 
21 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे। सेना का एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एसपीओ शहीद हो गया था।
20 जनवरी: शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकी मारे गए थे।