Ashok Gehlot Sachin Pilot | Rajasthan Government News Live Today Latest News Updates: Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot Congress MLA | राजस्थान के सीएम गहलोत बोले- हमारे पास बहुमत है, केंद्र सरकार की जांच एजेंसियों के छापों से हम डरने वाले नहीं हैं


  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ashok Gehlot Sachin Pilot | Rajasthan Government News Live Today Latest News Updates: Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot Congress MLA

जयपुर6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • कांग्रेस के 19 बागी विधायकों की अयोग्यता नोटिस के खिलाफ दायर याचिका पर हाईकोर्ट 24 जुलाई को फैसला सुनाएगा
  • गहलोत ने कहा- स्पीकर ने विधायकों को नोटिस इसलिए भेजा था ताकि उनसे बातचीत के बाद फैसला लिया जा सके

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को दावा किया कि उनके पास बहुमत है। उन्होंने केंद्र की भाजपा सरकार पर दबाव बनाने की कार्रवाई का आरोप भी लगाया है। गहलोत ने कहा कि केंद्र की जांच एजेंसियों के छापे से हम डरने वाले नहीं हैं। हाल के दिनों में गहलोत के करीबियों और रिश्तेदारों के घर ईडी और सीबीआई के छापे मारे गए हैं। इसी सिलसिले में गहलोत ने केंद्र को जवाब दिया है।

  • गहलोत की चेतावनी और आरोप
  • पायलट खेमे के कोर्ट में जाने पर कहा- जो लोग कोर्ट में गए हैं, उन्होंने गलती की है। मीटिंग इसलिए की थी कि जो चले गए हैं, वो वापस आ जाएं। इनकी मंशा अलग होने की है। हमने स्पीकर से भी यही कहा था। स्पीकर नोटिस देकर बातचीत करके फैसला लेते हैं। 
  • हमारे कुछ विधायकों को उन लोगों ने बंधक बनाकर रखा है। बाउंसर लगा रखे हैं। उनके फोन आ रहे हैं कि हम निकल नहीं पा रहे हैं। हमारे पास बहुमत है। 
  • ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स की जिस तरह से यहां कार्रवाई हुई है, यह कोई नई बात नहीं है। पहले जमाना था। छापे पड़ते थे। अब पहले से ही पता चल जाता है कि छापे पड़ने वाले हैं। इन छापों से हम न डरने वाले हैं, न घबराने वाले हैं। ये लोकतंत्र की हया करने वाले लोग हैं।
  • मोदी जी अच्छे वक्ता हैं। एक सीमा तक प्रभावित कर सकते हैं। ताली, थाली, मोमबत्ती लगवा दी। कोरोना एक महामारी है। उसका मुकाबला करना चाहिए। आपने सरकार गिरा दी मध्यप्रदेश की। हमारे कुछ साथियों को गुमराह करके ले जाओ, लेकिन जनता माफ नहीं करेगी।

पायलट खेमे ने हाईकोर्ट से कहा- केंद्र को भी पक्षकार बनाएं

गुरुवार को ही सचिन पायलट खेमे के विधायक पृथ्वीराज मीणा ने हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की है। इसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार को भी इस मामले में पक्षकार बनाया जाए। स्पीकर सीपी जोशी के अयोग्यता नोटिस के खिलाफ बागी 19 विधायकों की याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है। फैसला 24 जुलाई तक सुरक्षित रखा है। तब तक स्पीकर को किसी तरह का फैसला नहीं लेने पर रोक लगा दी है।

दरअसल, सचिन पायलट खेमे के बागी तेवर के बाद गहलोत ने विधायक दल की बैठक बुलाई थी। बागी 19 विधायक बैठक में नहीं पहुंचे। इसके बाद स्पीकर सीपी जोशी ने चीफ व्हिप  महेश जोशी की शिकायत पर 14 जुलाई को इन्हें अयोग्यता का नोटिस भेजा। इसके खिलाफ ये विधायक हाईकोर्ट पहुंच गए थे।

दोनों ही गुट विधायकों को बाहर निकालने में कतरा रहे
गहलोत गुट के विधायक राजस्थान के पास फेयरमोंट होटल में ठहरे हैं। वहीं, पायलट गुट के विधायक दिल्ली-एनसीआर में हैं। ये लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे हैं। इस बीच, दोनों गुट के नेता बाहर आने से बच रहे हैं। डर  सता रहा है कि कहीं उनके विधायक दूसरा गुट तोड़कर नहीं ले जाए। कई विधायकों के फोन तक जब्त किए जा चुके हैं। यह भी खबर है कि सरकार के स्तर पर कई विधायकों और नेताओं के फोन टेप कराए जा रहे हैं।

राजस्थान की सियासत से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. गहलोत-पायलट में अब सुप्रीम लड़ाई: 123 विधायकों की सरकार में 2 गुट, 101 के लिए लड़ाई

2. सुप्रीम कोर्ट ने कहा- लोकतंत्र में असहमति को नहीं दबाया जा सकता, फैसला सुनाने से हाईकोर्ट को नहीं रोकेंगे

3. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ जयपुर कोर्ट ने जांच के आदेश दिए

0

Leave a Reply