ASI Harjeet Singh | Punjab Patiala Coronavirus Lockdown Update, COVID-19 News; Assistant Sub-Inspector ASI Harjeet Singh | एएसआई हरजीत को प्रोमोट कर एसआई बनाया, पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने पर निहंगों ने तलवार से काट दी थी कलाई

ASI Harjeet Singh | Punjab Patiala Coronavirus Lockdown Update, COVID-19 News; Assistant Sub-Inspector ASI Harjeet Singh | एएसआई हरजीत को प्रोमोट कर एसआई बनाया, पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने पर निहंगों ने तलवार से काट दी थी कलाई


  • 12 अप्रैल को सुबह करीब सवा 6 बजे सब्जी मंडी में भीड़ जमा होने से रोकने के कर्फ्यू के बारे में पूछा था पुलिस वालों ने
  • भड़के निहंग ने तलवार से काट दी थी हरजीत की कलाई, पीजीआई चंडीगढ़ में साढ़े 7 घंटे की मेहनत के बाद जोड़ा डॉक्टर्स ने

दैनिक भास्कर

Apr 16, 2020, 07:53 PM IST

चंडीगढ़/पटियाला. पटियाला सब्जी मंडी में निहंगों के हमले में घायल पंजाब पुलिस के एएसआई हरजीत सिंह को प्रोमोट कर दिया गया है। अब हरजीत असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर नहीं, बल्कि सब इंस्पेक्टर कहलाएंगे। फिलहाल वह चंडीगढ़ पीजीआई में भर्ती हैं। साथ ही 12 अप्रैल की हरजीत के साथ इस घटना में हरजीत के साथ घायल हुए तीन और पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। इन्हें ‘डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस ऑनर फॉर इग्जेम्पलरी सेवा टू सोसायटी’ के लिए नामांकित किया गया है। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने यह फैसला गुरुवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ विचार-विमर्श करने के बाद लिया है।

पटियाला में हमले के बाद सड़क पर घायल अवस्था में पुलिस मुलाजिम हरजी और पास से भागकर गाड़ी में चढ़ते हमलावर निहंग। बाद में ये लोग 20 किलोमीटर दूर एक गुरुद्वारे में छिप गए थे।

घटना रविवार 12 अप्रैल सुबह की है, जब करीब सवा 6 बजे पटियाला में पांच निहंग एक गाड़ी में सवार होकर सब्जी मंडी में पहुंचे थे। यहां मंडी स्टाफ ने इनकी गाड़ी रोककर कर्फ्यू पास के बारे में पूछा था, ताकि मंडी में बेवजह भीड़ न हो। पास न होने पर इन लोगों ने सब्जी मंडी के स्टाफ से झगड़ा किया और अपनी गाड़ी से बैरिकेड तोड़कर भागने की कोशिश की। इसके बाद वहां तैनात पुलिस ने निहंगों की गाड़ी को घेर लिया। जैसे ही पुलिस ने गाड़ी रोकी, तलवार लिए निहंगों ने हमला कर दिया। इसी हमले में एक निहंग ने तलवार से एएसआई की कलाई काट दी। कलाई अलग होकर जमीन पर गिर गई। इसके बाद निहंग करीब 20 किलोमीटर दूर जाकर एक गुरुद्वारे में छिए गए। वहां कंमाडो कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया।

घटना के बाद कटी हुई कलाई हरजीत को पकड़ाता बिहार मूल का सब्जी बेचने वाला शंकर। फाइल फोटो
हमले के आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के लिए लेकर पहुंची पुलिस।

‘डर! कहीं भाभी को सदमा न लगे’
घायल एएसआई हरजीत सिंह के भाई गुरजीत बताते हैं, ‘हमने इस घटना की जानकारी परिवार वालों को नहीं दी थी। हमें डर था कि भाभी (हरजीत सिंह की पत्नी) को अगर हमने बता दिया तो उनको कहीं सदमा न लग जाए। हां, मेरा भतीजा अर्शप्रीत टीवी पर सब देख चुका था। उसने मुझे फोन किया और बताया कि चाचा मैं सब जान गया हूं। मैंने टीवी का केबल निकाल दिया है ताकि मम्मी को न पता चल जाए। हमने अपने माता-पिता को भी घटना की जानकारी शाम को दी थी।’

चंडीगढ़ में पीजीआई में उपचाराधीन हरजीत सिंह के पास उनके भाई गुरजीत सिंह।

भाई ने कहा-‘कर्मवीरों के साथ ऐसा सलूक…’
गुरजीत के मुताबिक, उनके बड़े भाई हरजीत ने 1989 में पुलिस फोर्स जॉइन की थी। एक साल पहले ही उन्हें प्रमोट कर एएसआई बनाया गया। शुरुआत में वह चौकी में रहे। फिर 4-5 महीने पहले वह सदर पुलिस स्टेशन में चले गए। गुरजीत ने कहा, ‘जब इस घटना की जानकारी हुई तो मुझे खीझ आ रही थी। मैं सोच रहा था कि पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी, डॉक्टर्स सभी मानवता को बचाने के लिए अपना फर्ज निभा रहे हैं, फिर भी उनके साथ सलूक किया जा रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन की शुरुआत के साथ ही मैंने अपने भाई से कहा था कि वह अपना ख्याल रखें। मास्क, सैनिटाइजर साथ रखें।

पीजीआई में कलाई जोड़ने की सफल सर्जरी के बाद हरजीत सिंह के पास मौजूद डॉक्टर्स टीम।

कलाई जोड़ने पर सीएम और डीजीपी ने दी थी डॉक्टर्स को बधाई
चंडीगढ़ पीजीआई के डॉक्टरों की टीम ने साढ़े सात घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद एएसआई की कटी हुई कलाई जोड़ दी है। डॉक्टरों की पूरी टीम को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पंजाब डीजीपी ने सैल्यूट किया है। चंडीगढ़ पीजीआई डायरेक्टर प्रो. जगतराम ने भी इस ऑपरेशन को बड़ी कामयाबी बताया है और डॉक्टर्स की टीम को बधाई दी।

बहादुर पुलिस मुजाजिम हरजीत से वीडियो कॉल पर बात करते मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह। इस दौरानदर्द के बावजूद मुस्कुरा रहे थे हरजीत।

अमरिंदर ने वीडियो कॉल पर पूछा- ज्यादा दर्द हो रहा है; जवाब में मुस्कुराहट देख कहा-आप सच में बहादुर हो
घटना के अगले दिन सोमवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ पीजीआई में भर्ती एएसआई हरजीत सिंह से वीडियो कॉल पर बात की। सीएम ने हरजीत से यह भी कहा कि पूरे राज्य को उन पर गर्व है। कैप्टन ने जब हरजीत से पूछा कि क्या दर्द हो रहा है तो एएसआई ने हंसकर कहा- हां दर्द तो है। कैप्टन ने कहा कि आप सच में बहादुर हो जो अब भी हंस रहे हो।

Leave a Reply