Azim Premji of Wipro Rs. 1125 crore Will spend Ticketok 100 crores. Donated safety suits; The judges of the Supreme Court have given 50-50 thousand rupees. Given in PM care fund | विप्रो के अजीम प्रेमजी 1125 करोड़ रु. खर्च करेंगे, टिकटॉक ने 100 करोड़ रु. के सेफ्टी सूट्स दान किए


  • दो दिन पहले टाटा संस ने 1500 करोड़ रु. देने का ऐलान किया था, रिलायंस इंडस्ट्री ने पीएम केयर फंड में 500 करोड़ रु. जमा किए थे,
  • कॉरपोरेट जगत की कई हस्तियां मदद के लिए आगे आई हैं, सुप्रीम कोर्ट के 33 जजों ने 50-50 हजार रु. पीएम केयर फंड में दिए

दैनिक भास्कर

Apr 01, 2020, 10:14 PM IST

नई दिल्ली/मुंबई. देश में तेजी से फैलते कोरोनावायरस को रोकने के लिए पूरा देश एकजुट हो गया है। कॉरपोरेट जगत हो या फिल्म इंडस्ट्री, खेल की दुनिया हो या आम नागरिक। हर कोई अपनी-अपनी सहूलियत के अनुसार कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में योगदान दे रहा है। रतन टाटा, मुकेश अंबानी के बाद अब विप्रो के अजीम प्रेमजी और टिकटॉक ने मदद का बड़ा ऐलान किया है। विप्रो लिमिटेड, विप्रो एंटरप्राइजेज लिमिटेड और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ने संयुक्त रूप से कोरोनावायरस संकट से निपटने के लिए 1,125 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है। वहीं, टिकटॉक ने 100 करोड़ रुपये के 4 लाख सेफ्टी सूट दान किए हैं। यह सूट डॉक्टर्स और मेडिकल हेल्थ वर्कर्स के प्रयोग के लिए है। सुप्रीम कोर्ट के 33 जजों ने भी बुधवार को 50-50 हजार रुपये पीएम केयर फंड में जमा किए हैं।  
 
इन कामों में खर्च होगी विप्रो की रकम
विप्रो कंपनी ने बयान जारी कर बताया कि इस राशि का उपयोग चिकित्सा-सामाजिक सेवा में जुटी मेडिकल टीम और सामाजिक कार्यकर्ताओं को जरूरी चीजों को मुहैया करवाने पर खर्च किया जाएगा। लॉकडाउन से प्रभावित समाज के कमजोर तबके के लोगों तक मदद पहुंचाई जाएगी। कुल 1,125 करोड़ रुपए में से विप्रो लिमिटेड ने 100 करोड़ रुपए, विप्रो एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने 25 करोड़ रुपए और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ने 1,000 करोड़ रुपए का योगदान किया है। 

20 हजार सूट मिल गए, बाकी दूसरे चरण में आएंगे
टिकटॉक की तरफ से 4 लाख सेफ्टी सूट देने का ऐलान किया गया है। इस पर 100 करोड़ रुपये खर्च होंगे। बुधवार को 20 हजार 675 सूट केंद्र सरकार को मिल गए। शनिवार से पहले 1 लाख 80 हजार 375 सूट भारत आ जाएंगे। अगले हफ्ते तक बाकी के 2 लाख सूट भी भारत पहुंच जाएंगे। टिकटॉक के प्रमुख निखिल गांधी ने पत्र के जरिए इस बात की जानकारी दी। भारत में टिकटॉक के 25 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं।  

देश के दूसरे कॉरपोरेट ने क्या किया?

1. रतन टाटा ने 1500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया
कोरोनावायरस से निपटने के लिए रतन टाटा ने अब तक का सबसे बड़ा डोनेशन दिया है। 82 वर्षीय टाटा ने शनिवार को पहले टाटा ट्रस्ट की तरफ से 500 करोड़ रुपए खर्च करने की बात कही। फिर ढाई घंटे बाद ही एक अन्य ट्वीट के जरिए 1,000 करोड़ रुपए की अतिरिक्त मदद का ऐलान किया। 

2. मुकेश अंबानी ने 500 करोड़ रुपये पीएम केयर फंड में दिए 
रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सोमवार को पीएम केयर फंड में 500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया। इंडस्ट्री की तरफ से 5-5 करोड़ रुपये महाराष्ट्र और गुजरात के मुख्यमंत्री राहत कोष में भी दिए जाएंगे। इंडस्ट्री की तरफ से कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए मुंबई में 100 बेड का अस्पताल दो हफ्तों में तैयार किया गया, जिसका नाम कोविड-19 रखा गया। डॉक्टर-नर्स के लिए पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट तैयार करवाए जा रहे हैं। प्रतिदिन एक लाख मास्क तैयार किए जा रहे हैं। इमरजेंसी वाहनों में फ्री ईंधन और डबल डेटा भी उपलब्ध कराया जा रहा है। 10 दिनों तक रोजाना पांच लाख लोगों को खाना मुहैया कराया जाएगा।

3. अनिल अग्रवाल, चेयरमैन, वेदांता रिसोर्सेज
कोरोनावायरस से लड़ने के लिए 100 करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया।

4. आनंद महिंद्रा, चेयरमैन, महिंद्रा ग्रुप
महिंद्रा ग्रुप अपनी यूनिट्स में वेंटिलेटर बनाएगा, ताकि कोरोना के मामले बढ़ने पर देश में वेंटीलेटर की कमी न हो। महिंद्रा ने अपनी हॉलीडे कंपनी क्लब महिंद्रा को भी मरीजों की देखभाल के लिए खोलने का प्रपोजल दिया है। महिंद्रा अपनी 100% सैलरी कोविड-19 फंड में देंगे। यह फंड छोटी इंडस्ट्री और डेली वेजेज पर काम करने वाले लोगों की मदद के लिए बनाया गया है।

5. पंकज एम मुंजाल, चेयरमैन, हीरो साइकल्स  
कोरोनावायरस से निपटने के लिए कंपनी के इमरजेंसी फंड में से 100 करोड़ रुपए देंगे।

6. बजाज ग्रुप : 
हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर करने, खाने और रहने के इंतजाम करने के लिए 100 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया।

7. विजय शेखर शर्मा, फाउंडर-सीईओ, पेटीएम 
पेटीएम वेंटिलेटर और दूसरे जरूरी सामान बनाने वालों को 5 करोड़ रुपए की मदद करेगी।

8. सन फार्मा :
25 करोड़ रुपए की दवाएं और सैनिटाइजर दान करेगी।

9. पारले
कंपनी अगले तीन हफ्ते में बिस्किट के 3 करोड़ पैकेट बांटेगी।