Bhima Koregaon Elgar Parishad case Latest News Update; Bhima Koregaon Elgar Parishad case, Bhima Koregaon case, NIA, National Investigation Agency (NIA) | एनआईए ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर को गिरफ्तार किया, जांच एजेंसी ने माओवादी विचारधारा फैलाने का आरोप लगाया

Bhima Koregaon Elgar Parishad case Latest News Update; Bhima Koregaon Elgar Parishad case, Bhima Koregaon case, NIA, National Investigation Agency (NIA) | एनआईए ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर को गिरफ्तार किया, जांच एजेंसी ने माओवादी विचारधारा फैलाने का आरोप लगाया


  • Hindi News
  • National
  • Bhima Koregaon Elgar Parishad Case Latest News Update; Bhima Koregaon Elgar Parishad Case, Bhima Koregaon Case, NIA, National Investigation Agency (NIA)

नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि डीयू प्रोफेसर हेनी बाबू उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर का रहने वाला है।

  • भीमा कोरेगांव में 1 जनवरी 2018 को हिंसा भड़की थी, एनआईए कर रही है मामले की जांच
  • हेनी बाबू को मुंबई में एनआईए की विशेष कोर्ट में बुधवार को पेश किया जाएगा

नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने भीमा कोरेगांव यलगार परिषद मामले में मंगलवार को एक और गिरफ्तारी की। एनआईए ने मामले में दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) के प्रोफेसर हनी बाबू एमटी को गिरफ्तार किया है। एनआईए ने डीयू प्रोफेसर पर माओवादी विचारधारा फैलाने का आरोप लगाया है।

एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि डीयू प्रोफेसर हनी बाबू उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर का रहने वाला है। वह डीयू के इंग्लिश डिपार्टमेंट में असोसिएट प्रोफेसर है।

बुधवार को एनआईए कोर्ट होगी पेशी
एनआईए सूत्रों के मुताबिक, जांच के दौरान पता चला कि हनी बाबू नक्सली गतिविधियों और माओवादी विचारधारा का प्रचार कर रहा था। हनी बाबू अन्य आरोपियों के साथ साजिश रचने में शामिल था। हनी बाबू को मुंबई में एनआईए की विशेष कोर्ट में बुधवार को पेश किया जाएगा। एनआईए ने इस साल जनवरी में मामले की जांच शुरू की थी। एनआईए ने 14 अप्रैल को आनंद तेलतुंबड़े और गौतम नौलखा को गिरफ्तार किया था।

पुणे में ऐसे हुई थी हिंसा
31 दिसंबर 2017 को यलगार परिषद सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इसमें दिए गए भड़काऊ भाषणों के कारण अगले दिन 1 जनवरी 2018 को पुणे जिले के भीमा कोरेगांव युद्ध स्मारक के निकट हिंसा हुई थी। इसमें एक युवक की जान चली गई थी। साथ ही करोड़ों की सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान हुआ था।

मामले में 19 आरोपी
भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में अरुण थॉमस फेरेरिया, रोना जैकब विल्सन, सुधीर प्रल्हाद धवले समेत 19 आरोपी हैं। पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश की गई ड्राफ्ट चार्जशीट के मुताबिक, आरोपी पूर्व पीएम राजीव गांधी की हत्या की तरह ही रोड शो के दौरान पीएम मोदी की हत्या की साजिश रच रहे थे। आरोपियों में मानवाधिकार वकील, शिक्षाविद और लेखक शामिल थे। पुलिस ने इनका संबंध प्रतिबंधित सीपीआई (माओवादी), कबीर कला मंच (केकेएम) से बताया था।

ये भी पढ़ सकते हैं…

1. केंद्र ने 2 साल बाद एनआईए को जांच सौंपी, महाराष्ट्र सरकार बोली- फैसला संविधान के खिलाफ

2. महाराष्ट्र पुलिस ने जांच से जुड़े दस्तावेज एनआईए को देने से इनकार किया

0

Leave a Reply