Broken Gandak river dam in Gopalganj and East Champaran, water filled in 1000 villages, 12-year-old teenager shed | गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में गंडक नदी का बांध टूटा, 1000 से ज्यादा गांवों में पानी भरा; 12 साल का लड़का बहा

Broken Gandak river dam in Gopalganj and East Champaran, water filled in 1000 villages, 12-year-old teenager shed | गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में गंडक नदी का बांध टूटा, 1000 से ज्यादा गांवों में पानी भरा; 12 साल का लड़का बहा


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Broken Gandak River Dam In Gopalganj And East Champaran, Water Filled In 1000 Villages, 12 year old Teenager Shed

एक घंटा पहले

पूर्वी चंपारण जिले के संग्रामपुर में टूटे चंपारण बांध से बहता पानी। पानी गांवों में कई फीट तक भर गया है।

  • ग्रामीण जान बचाने के लिए ऊंची जगहों की ओर पलायन कर रहे हैं
  • बांध टूटने से दोनों जिलों के करीब एक लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

नेपाल और उत्तर बिहार में पिछले चार-पांच दिन से हो रही बारिश के चलते गंडक नदी उफान पर है। गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में शुक्रवार को गंडक का बांध तीन जगह टूट गया। बांध टूटने से 1000 से ज्यादा गांवों में पानी भर गया। लोग जान बचाने के लिए ऊंची जगहों की ओर पलायन कर रहे हैं। जिले के एक लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं। जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा रही है। सारण और सीवान जिले में भी बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

पूर्वी चंपारण जिले के भवानीपुर में घर में पानी भर जाने के चलते सुरक्षित जगह की ओर जाता ग्रामीण।

देवापुर के पास सारण मुख्य बांध टूटा
गोपालगंज जिले में देवापुर के पास सारण मुख्य बांध टूट गया है। पानी तेजी से एनएच 28 की ओर बह रहा है। इससे सड़क कटने का खतरा है। हादसों को रोकने के लिए कई जगह बैरिकेडिंग की गई है। देवापुर में 12 साल का बच्चा पानी में बह गया। उसकी तलाश की जा रही है। मांझागढ़ के पुरैना में भी सारण बांध टूट गया, जिससे इलाके में अफरा-तफरी मच गई।

पूर्वी चंपारण जिले के भवानीपुर में अपने मवेशी और सामान लेकर जाते गांव के लोग।

भवानीपुर में टूटा चंपारण बांध
पूर्वी चंपारण जिले की भवानीपुर पंचायत के निहालु टोला में गंडक नदी पर बना चंपारण बांध 10 फीट की चौड़ाई में टूट गया है। पानी तेजी से आस-पास के करीब 600 गांव में फैल गया। एसएच 74 पर भी पानी चढ़ने लगा है। पानी दक्षिणी भवानीपुर गांव में आ गया है। एनडीआरएफ की कई टीमें तैनात हैं। जवान लोगों को बचाकर सुरक्षित स्थान तक ले जा रहे हैं।

गोपालगंज जिले में टूटे सारण के मुख्य बांध से बहता पानी।

गंडक में था 3.5 लाख क्यूसेक पानी का बहाव
गंडक नदी में 3.5 लाख क्यूसेक पानी का बहाव था, जिसके चलते गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में बांध टूटा। गोपालगंज जिला प्रशासन ने प्रभावित इलाके के लोगों से सुरक्षित जगह जाने की अपील की है। पूर्वी चंपारण में लोगों को प्रशासन ऊंचे स्थानों पर पहुंचा रहा है। 2001, 2010 और 2017 में भी सारण बांध टूट गया था।

पूर्वी चंपारण जिले के संग्रामपुर में बांध टूटने के बाद पहुंचे डीएम एसके अशोक और एसपी नवीन चंद्र झा।

भारी बारिश की आशंका
जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा है कि अगले 48 घंटों के दौरान गंडक बेसिन में भारी बारिश की आशंका है। बीते 24 घंटों में बागमती, कोसी और कमला बेसिन में कुछ जगहों पर भारी बारिश हुई है, जिसके चलते नदियों का जल स्तर बढ़ा। जल संसाधन विभाग के अधिकारी अलर्ट पर हैं।

पूर्वी चंपारण जिले के संग्रामपुर में बांध टूटने के बाद मची अफरा-तफरी।

दरभंगा-समस्तीपुर ट्रैक पर ट्रेनें बंद
हायाघाट मुंडा पुल तक पानी पहुंच जाने के चलते रेलवे ने सावधानी बरतते हुए दरभंगा-समस्तीपुर ट्रैक पर ट्रेनें रोक दी हैं। बिहार संपर्क क्रांति का रूट बदला गया है। अब ट्रेन सीतामढ़ी होकर जाएगी।

एनडीआरएफ की टीम के साथ बाढ़ प्रभावित पूर्वी चंपारण जिले के संग्रामपुर गांव का जायजा लेते डीएम एसके अशोक।

0

Leave a Reply