Chaitra Navratri 2020: How to perform Kanya Puja during Coronavirus Lockdown


Chaitra Navratri 2020: लॉकडाउन में अष्‍टमी और रामनवमी के दिन इकट्ठा न करें कन्‍याएं, ये है बेस्‍ट तरीका

Ram Navami: अष्‍टमी और राम नवमी के दिन कन्‍या पूजन का विधान है

जयपुर:

राजस्थान के चिकित्सा `एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि कोरोना वायरस महामारी के दौर में दुर्गाष्टमी (Durgashtami)और राम नवमी (Ram Navami) के पर्व पर बच्चियों को बुलाकर, इकट्ठा कर या बैठाकर खाना खिलाना किसी भी हालत में उचित नहीं होगा. इससे कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण फैलने की आशंका काफी हद तक बढ़ जाती है.

उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी महामारी के दौर के बीच आगामी दुर्गाष्टमी और रामनवमी पर प्रदेशवासी अगर बेसहारा, बेघर और जरूरतमंद बच्चियों को खाना बांटेंगे तो यह सही मायने में समाजसेवा होगी.

डॉ. शर्मा ने कहा कि जरूरतमंद बेटियों को फूड पैकेट देंगे तो उनको भरपेट भोजन मिल सकेगा और इस तरह से समाज की सेवा भी हो सकेगी.

चिकित्सा मंत्री ने कहा, “प्रदेश में कोरोनावायरस से होने वाले संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी धर्मगुरुओं के साथ बैठक हुई थी. उसी का परिणाम यह रहा कि धार्मिक स्थलों पर आमजन की आवाजाही बंद हो गई. त्योहारों और उत्सवों पर हमने खुद पर नियंत्रण किया.”

उन्होंने कहा कि 30 मार्च को राजस्थान दिवस पर पहली बार कोई समारोह आयोजित नहीं किया गया.

गौरतलब है कि चैत्र नवरात्रि के आठवें दिन अष्‍टमी और नौवें दिन नवमी मनाई जाती है. इस बार अष्‍टमी 1 अप्रैल को है, जबकि नवमी 2 अप्रैल को मनाई जाएगी. इसी दिन राम नवमी का त्‍योहार भी है. आप अपनी सुविधानुसार अष्‍टमी या नवमी में से कोई भी एक दिन चुन सकते हैं.