CM Ashok Gehlot claimed support of two MLAs of regional Party for the government – सीएम अशोक गहलोत ने एक क्षेत्रीय दल के दो विधायकों का समर्थन मिलने का दावा किया

CM Ashok Gehlot claimed support of two MLAs of regional Party for the government – सीएम अशोक गहलोत ने एक क्षेत्रीय दल के दो विधायकों का समर्थन मिलने का दावा किया


सीएम अशोक गहलोत ने एक क्षेत्रीय दल के दो विधायकों का समर्थन मिलने का दावा किया

भारतीय ट्राइबल पार्टी के विधायकों और नेताओं के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत.

नई दिल्ली:

राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस सरकार (Congress Government) पर मंडराते संकट के दौर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने दावा किया है कि एक क्षेत्रीय दल भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) के दो विधायकों ने उनको अपना समर्थन दे दिया है. अशोक गहलोत ने एक ट्वीट करके यह दावा किया है. उन्होंने कहा है कि ”भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के दोनों विधायकों ने उनकी प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के साथ मुलाकात कर और अपने मांगपत्र के साथ चर्चा कर सरकार को समर्थन देने की घोषणा की.” इस दल ने चंद दिनों पहले ही गहलोत सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था.

यह भी पढ़ें

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भारतीय ट्राइबल पार्टी के विधायकों ने समर्थन देने का पत्र सौंप दिया है. इसका फोटो भी उन्होंने ट्वीट किया है. 

 

गौरतलब है कि राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच पांच दिन पहले ही भारतीय ट्राइबल पार्टी (Bharatiya Tribal Party) ने कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार से समर्थन वापस ले लिया था. भारतीय ट्राइबल पार्टी के अध्यक्ष महेश भाई वसावा ने अपनी पार्टी के दोनों विधायकों को पत्र लिखकर निर्देश दिया और कहा था कि विधानसभा में फ़्लोर टेस्ट के समय वे न तो कांग्रेस को, ना अशोक गहलोत को, ना सचिन पायलट (Sachin pilot) को और ना ही बीजेपी (BJP) को वोट करें. दोनों विधायकों को वोटिंग के दौरान एबसेंट रहने को कहा गया था. पार्टी ने साथ-साथ निर्देश न मानने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की भी चेतावनी दी थी. राजस्थान में भारतीय ट्राइबल पार्टी के दो विधायक हैं.

राजस्थान में इसी हफ्ते उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के विद्रोह और उक्त दो विधायकों का रुख सियासी ड्रामे को एक दिलचस्प मोड़ पर ले आया था. अपने विधायकों को सचिन पायलट के विद्रोही खेमे में जाने से बचाने के लिए संघर्ष कर रही कांग्रेस के लिए यह एक और संकट था.दो विधायकों के समर्थन वापस लेने से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बहुमत का आंकड़ा बिगड़ जाता.  

qo1f35tg

तमाम उठापटक के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फिलहाल अपनी सरकार बचाने में कामयाब रहे हैं. उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट की बगावत रंग लाती नहीं दिख रही है. बीजेपी ने पायलट से दूरी बना ली है और तीस विधायकों का दावा कर रहे पायलट के खेमे में मुश्किल से 15-20 विधायक ही जुटा पाए हैं. 

VIDEO: सचिन पायलट के साथ नहीं भारतीय ट्राइबल पार्टी


Leave a Reply