Corona Virus Free Food Appealing Amid Coronavirus Pandemic Over COVID-19 Cases Rise | फेल्प्स जैसे खिलाड़ी मदद के लिए कपड़े नीलाम कर रहे, रेस्तरां 12 हजार रुपए वाली प्लेट का खाना मुफ्त खिला रहे


  • फुटबॉलर रोनाल्डो के जिस 4-स्टार होटल को अस्पताल में बदला गया उसका एक दिन का किराया 15-18 हजार रुपए  है
  • 28 ओलिंपिक मेडल जीत चुके माइकल फेल्प्स ने अपना ऑटोग्राफ किया हुआ स्विम सूट दान किया है

दैनिक भास्कर

Mar 18, 2020, 06:48 PM IST

हेल्थ डेस्क. दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन ऐसे समय में लोग एक-दूसरे की मदद के हाथ थामते नजर भी आ रहे हैं। डॉक्टर, नर्स और सपोर्टिंग मेडिकल स्टाफ 24×7 मरीजों की देखभाल में लगे हैं। प्रशासन अपने स्तर पर जुटा है लेकिन साथ ही परोपकारी लोग भी अपने-अपने हिसाब से मदद कर रहे हैं। इसमें सोशल मीडिया पर कई कैंपेन चल रहे हैं, जिनमें मुफ्त खाने और इलाज की अपील की जा रही है।

चर्चा में बने नेकी के ऐसे ही कुछ उदाहरण –

 

इंग्लैंड : 12 हजार रुपए की थाली का खाना मुफ्त लोगों को खिला रहे

कोरोनावायरस के खौफ के बीच इंग्लैंड के विल्टशायर में शेफ रोजर जॉन्स ने लोगों को मुफ्त खाना खिलाने की मुहिम शुरू की है। रोजर का खुद का रेस्तरां हैं जो काफी मशहूर है। यहां की एक थाली की कीमत 12 हजार रुपए है। जिसमें मशरूम, वेजिटेरियन करी, मॉन्कफिश और लैंब केसरोल शामिल है। यहां खाना लोगों को मुफ्त खिलाया जा रहा है, इसमें रोजर का साथ दे रही हैं उनकी पत्नी स्यू।  ज्यादा से ज्यादा यह लोगों तक पहुंचे इसके लिए ट्विटर इसकी घोषणा भी की गई है।

एथलीट्स फॉर रिलीफ : ऑटोग्राफ किए कपड़ों की नीलामी से हो रही फंडिंग

लोगों की मदद करने का सिललिला खेल जगत में भी तेजी से बढ़ रहा है। रोनाल्डो के बाद अब एथलीट्स खेल से जुड़ी चीजें दान कर रहे हैं जिसकी बोली लगाई जाएगी और इकट्‌ठा हुई रकम से मदद की जाएगी। इस मुहिम का नाम है ‘एथलीट्स फॉर रिलीफ’। बुधवार तक 70 एथलीट इसका हिस्सा बन चुके हैं। इसमें दुनिया की सबसे फिट महिला एथलीट सिमोन बाइलस और माइकल फेल्प्स जैसे ओलंपिक चैम्पियन शामिल हैं। हर एक चीज के लिए 25 डॉलर की न्यूनतम बोली लगाना जरूरी है। बोली लगाने की अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है। यह सारा पैसा ‘सेंटर फॉर डिजास्टर’ को दिया जाएगा। यह संस्था पीड़ित लोगों की मदद करेगी। 

  • सिमोना बाइल्स ने ट्वीट करके बताया कि उन्होंने अपनी साइन की हुई जिम्नास्टिक ड्रेस दान की है, 28 ओलिंपिक मेडल जीत चुके माइकल फेल्प्स ने अपना ऑटोग्राफ किया हुआ स्विम सूट दान किया है।
  • तीन बार के ओलिंपिक चैंपियन स्नोबोर्डर शॉन वाइट ने भी स्केटबोर्ड पर साइन करके उसे दान किया है।
  • ग्लोबेटरोटर्स ने साइन की हुई जर्सी-बास्केटबॉल और पूर्व क्रिकेटर डेरेन गॉ ने क्रिकेट बॉल पर ऑटोग्राफ देकर उसे दान किया है।

इससे पहले उटाह जैज के खिलाड़ी रूडी गोबर्ट को कोरोना वायरस होने के कारण पूरी एनबीए लीग को रद्द कर दिया गया था। रूडी ने एनबीए के लिए काम करने वाले लोगों को हुए नुकसान के लिए भरपाई के लिए बनाए गए फंड के लिए पांच लाख डॉलर का दान दिया था। इसके बाद कई एनबीए टीमों ने ऐलान किया था कि वह दान करेंगे।

अमेरिका: लेखक की अपील पर पीड़ितों के लिए जुटाए 7.82 लाख  

अमेरिकी लेखक शेया सेरेनों पर सोशल मीडिया पर कोरोना पीड़ित लोगों के लिए डोनेशन की अपील कर रहे हैं। वह अब 10 हजार डॉलर यानी 7.82 लाख रुपए जरूरतमंदों तक पहुंचा चुके हैं। शेया ने ट्विटर पर अपने सवा तीन लाख से अधिक फॉलोवर से मदद करने की अपील की और 5 दिन में यह रकम जुटाई जा सकी। ऐसे लोग जिन्होंने कर्ज और मेडिकल बिल की तस्वीरें पोस्ट की थी उन्हें यह मदद पहुंचाई गई। सोशल मीडिया पर लगातार लोग उनसे मदद ले रहे हैं और शुक्रिया अदा कर रहे हैं।

ताइवान : 10 पीड़ितों को 100-100 डॉलर की मदद करने का लक्ष्य

ताइवान में रह रहे अमेरिकी एडिडॉयन ऑयजेरेन ने अपने देश में बढ़ते कोरोना मामलों को टीवी पर देखने के बाद लेखक रॉक्सेन गे का एक ट्वीट देखा। ट्वीट में लिखा था मैं 10 पीड़ितों को 100-100 डॉलर की जरूरत की चीजें दूंगी। अगर आप भी मदद करना चाहते हैं तो इस मुहिम में शामिल हो सकते हैं और हर इंसान को 100 डॉलर की मदद कर सकते हैं। मदद के लिए सोशल मीडिया पर लोगों की तलाश की तो पाया कि एक महिला ने डायपर का बिल पोस्ट किया है जिसकी उन्होंने मदद की। लेखक रॉक्सेन गे ने अपनी मुहिम में अब 20 जरूरतमंदों को 100-100 डॉलर की मदद कर रहे हैं।

स्कॉटलैंड : दंपति बुजुर्गों को बांट रहे मुफ्त मास्क और सेनेटाइजर
कोरोना वायरस के खौफ के बीच यहां एक दंपति की बुजुर्ग से मुलाकात हुई जिसने हैंड सेनेटाइजर और मास्क खरीदने में असमर्थता जताई। यह मामला सामने आने के बाद स्कॉटलैंड की आसिया ने एक मुहिम की शुरुआत की। आसिया ने बताया, मैं स्टोर गई हैंडवॉश और फेसमास्क खरीदे बुजुर्गों को मुफ्त बांटने शुरू किए। फेसबुक पर इसे साझा किया ताकि लोगों तक मदद पहुंच सके।  

आसिया ने यह शुरुआत अपने पति जावेद के साथ मिलकर की। दोनों घर पर जरूरी सामान के पार्सल तैयार करते हैँ और जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए निकल जाते हैं। पति जावेद कहते हैं पहले इसकी शुरुआत हमने अपने पैसों से की। बाद में लोगों को इस बारे में जानकारी मिलने पर उन्होंने लिफाफे में पैसे भेजने शुरू किए। जिसमें 10 या 20 पाउंड होते हैं। जब हम लोगों की मदद करते हैं तो बेहद खुशी होती है।

ऑस्ट्रेलिया: फर्मेंटेड फूड और गाजर का अचार बांट रहीं डि-किल्सबे
मेलबर्न की डि किल्सबे ने जरूरतमंदों को फर्मेंटेड फूड और गाजर का अचार बांट रही हैं। उनका कहना है कि यह पोषक तत्वों से भरा है और लंबे समय तक रखकर इसको खाया जा सकता है। सोशल मीडिया पर इनके घर का पता शेयर किया गया है जहां जरूरतमंद पहुंचकर फूड ले सकता है। डि किल्सबे कहती हैं कि ऐसे समय में हमें एक-दूसरे से पूछकर मदद करने की जरूरत है। आप कितने भी अमीर हों लेकिन लोग अगर आप तक पहुंच नहीं सकते तो सही मायने में आप कुछ भी नहीं हैं।

डि किल्सबे घर पर तैयार कर रहीं अचार

पुर्तगाल : रोनाल्डो ने मुफ्त इलाज के लिए अपने दो होटल अस्पताल में बदले

कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने पुर्तगाल के अपने दो होटल को अस्थाई अस्पताल में बदल दिया है। उन्होंने लिस्बन और फुंचाल के अपने दोनों CR7 होटल को अस्पताल में बदला है। स्पेनिश अखबार मार्का की रिपोर्ट के अनुसार, यहां वायरस से संक्रमित लोगों का मुफ्त इलाज किया जाएगा। इसके अलावा डॉक्टरों और नर्स को सैलरी भी उनका फाउंडेशन देगा। मरीज और मेडिकल स्टाफ का रहने, आने-जाने, खाने-पीने और दवाइयों का पूरा खर्च उनका फाउंडेशन उठाएगा। रोनाल्डो के ये दोनों होटल फोर-स्टार हैं। लिस्बन के होटल में एक रात का किराया 18 हजार और फुंचाल के होटल में एक रात का किराया 15 हजार रुपए है।

सोशल मीडिया पर मदद के लिए उठे हाथ