Coronavirus Covid-19 India | All international commercial flights remain suspended till April 14 due to coronavirus covid-19 spread. | देश में अब 14 अप्रैल की आधी रात तक कोई अंतरराष्ट्रीय यात्री विमान नहीं उतरेगा, लॉकडाउन की वजह से डीजीसीए का फैसला


  • कार्गो फ्लाइट्स पर प्रतिबंध नहीं रहेगा, डीजीसीए ने पहले अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर 23 से 29 मार्च तक रोक लगाई थी
  • देश में ट्रांसपोर्ट के सारे साधन बंद हैं; ट्रेनें, घरेलू उड़ानें और इंटर स्टेट बसों पर 14 अप्रैल तक रोक है

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 09:03 PM IST

नई दिल्ली. इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगा प्रतिबंध 29 मार्च से बढ़ाकर 14 अप्रैल तक कर दिया गया। गुरुवार को यह जानकारी न्यूज एजेंसी ने डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन यानी डीजीसीए के हवाले से दी। बता दें कि पहले डीजीसीए ने 23 मार्च से 29 मार्च तक ही इन फ्लाइट्स पर रोक लगाई थी। लेकिन, कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए अब यह बैन 14 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। 

डीजीसीए ने जारी किया बयान
इंटरनेशनल कमर्शियल पैसेंजर फ्लाइट्स पर प्रतिबंध की अवधि बढ़ाने की जानकारी डीजीसीए ने गुरुवार रात बयान जारी कर दी। इसमें कहा गया, ‘19 मार्च को इंटरनेशनल फ्लाइट्स ऑपरेशन्स सस्पेंड करने के बारे में एक सर्कुलर जारी किया गया था। अब प्रतिबंध की अवधि 14 अप्रैल रात 12 बजे तक की जा रही है। यह प्रतिबंध कार्गो फ्लाइट्स और डीजीसीए द्वारा मंजूर उड़ानों पर लागू नहीं होंगे।’  

घरेलू उड़ानें पहले ही रद्द
केंद्र सरकार ने 24 फरवरी से सभी घरेलू उड़ानों पर भी रोक लगा दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि कोरोनावायरस की चेन तोड़ने के लिए तमाम उपाय किए जा रहे हैं। इसके पहले कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 12 मार्च को ही सभी वीजा आवेदन निरस्त करने का फैसला किया था। 13 मार्च की रात 12 बजे से सभी वीजा आवेदन 15 अप्रैल तक के लिए निरस्त कर दिए गए हैं। 

देश में क्या-क्या बंद?
1. उड़ानें

केंद्र ने 29 मार्च तक सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा रखी है। केंद्र ने सोमवार को सभी घरेलू उड़ानें बंद करने का फैसला लिया है। केंद्र ने कहा कि मंगलवार रात 12 बजे के बाद सभी घरेलू उड़ानें रद्द कर दी जाएंगी। हालांकि, केंद्र ने यह नहीं बताया कि यह रोक कब तक रहेगी। 

2. ट्रेनें

31 मार्च तक रेलवे ने 12500 यानी सभी यात्री ट्रेनें बंद करने का फैसला लिया है। 9 दिन तक मालगाड़ियों को छोड़कर कोई भी ट्रेन नहीं चलेगी। इस फैसले का मतलब यह है कि रोजाना इन ट्रेनों से सफर करने वाले 2.3 करोड़ लोग अब कहीं आ-जा नहीं सकेंगे।

3. मेट्रो सर्विसेस-इंटर स्टेट बसें

कैबिनेट सेक्रेटरी ने रविवार को सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को निर्देश दिए कि मेट्रो सर्विसेस और इंटर स्टेट बसों को भी 31 मार्च तक रोक दिया जाए। इसमें दिल्ली मेट्रो भी शामिल है, जिससे करीब दो करोड़ लोग रोजाना सफर करते हैं।

भारत में एयर ट्रांसपोर्ट

भारत में मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरू, कोच्चि, कोलकाता, चेन्नई और हैदराबाद प्रमुख अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं। इनके अलावा देश के करीब 20 हवाई अड्डों से भी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें उपलब्ध हैं। इन स्थानों से 55 देशों के 80 शहरों के लिए उड़ानें उपलब्ध हैं। भारत से मध्य और दक्षिणी अमेरिका के लिए सीधी उड़ानें संचालित नहीं होतीं, लेकिन इन स्थानों के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट उपलब्ध हैं। फरवरी, 2019 की एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में एक साल में करीब 32 करोड़ अंतरराष्ट्रीय यात्री फ्लाइट्स के जरिए आते-जाते हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों में मौजूद एयरपोर्ट्स…

दक्षिण: तिरुअनंतपुरम, तिरुचिरापल्ली, मंगलुरु, मदुरै, कोयंबटूर, विशाखापटनम और काझीकोड, कन्नूर

पश्चिम: गोवा, पुणे, सूरत और अहमदाबाद

उत्तर: वाराणसी, अमृतसर, लखनऊ और जयपुर

मध्य: नागपुर

पूर्व: भुवनेश्वर, गया और गुवाहाटी