Coronavirus Jharkhand Ranchi Cases Live | (COVID-19) Corona Cases In Jharkhand Ranchi Dhanbad Bokaro Hazaribagh Lockdown Situation Latest Today News Updates | रांची से मिला एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज; नया मरीज वेस्टइंडीज का निवासी, राज्य में अब तक 33 संक्रमित


  • रांची में 18, बोकारो में 9, हजारीबाग में 2, कोडरमा में 1, सिमडेगा में 1, गिरिडीह में 1 और धनबद में 1 मरीज में कोरोना संक्रमण की हो चुकी है पुष्टि
  • रांची के हिंदपीढ़ी में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 18, यहां मलेशिया निवासी महिला में भी मिल चुका है कोरोना

दैनिक भास्कर

Apr 18, 2020, 04:16 PM IST

रांची/जमशेदपुर/धनबाद. झारखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या शनिवार को 33 हो गई। नया मरीज रांची के हिंदपीढ़ी इलाके से मिला, जो वेस्टइंडीज का रहने वाला है। ये मरीज तब्लीगी जमात से जुड़ा है और काफी दिनों तक हिंदपीढ़ी में रहा था। हालांकि, 30 मार्च को इसके साथ ही 16 विदेशी समेत 22 लोगों को खेलगांव स्थित आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था। जांच के दाैरान इसी दल की एक मलेशिया की महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी, जो राज्य की पहली कोरोना संक्रमित मरीज है। महिला के अलावा बाकी सबकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद इन्हें क्वारैंटाइन में रखा गया था। 16 अप्रैल को लिए गए दूसरे सैंपल में इस विदेशी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब तक रांची में 18, बोकारो में 9, हजारीबाग में 2, कोडरमा में 1, सिमडेगा में 1, गिरिडीह में 1 और धनबद में 1 मरीज में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से दो की मौत हो चुकी है।

वहीं, शनिवार को महाराष्ट्र से 14 मजदूर साइकिल से रांची पहुंचे। सभी को आईटीआई बस स्टैंड के पास चेक पोस्ट के पास रोका गया। मेडिकल टीम जांच करने के बाद खेलगांव स्थित क्वारैंटाइन सेंटर भेज दिया गया। इधर, लॉकडाउन फेज-2 के चौथे दिन शनिवार को गुमला सब्जी मंडी की तस्वीरें परेशान करने वाली थीं। लॉकडाउन फेज वन की तरह भीड़ थी। प्रशासन और पुलिस की टीम यहां तैनात है। लेकिन, लोग मानने तैयार ही नहीं। राज्य के सरकारी दफ्तर 20 अप्रैल से खुल सकते हैं। केंद्र की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए गृह एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने इसका प्रस्ताव मंजूरी के लिए सरकार को भेजा है।

रांची की सब्जी दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है। इस दौरान लोग संक्रमण से बेखौफ सड़कों पर घूमते नजर आए।

जमशेदपुर: जवान ने खुद को गोली मारी

जमशेदपुर के गुडाबांधा थाने में तैनात जैप के जवान ने शनिवार सुबह खुद को गोली मार ली। गोली उसके कंधे पर लगी। उसे एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत, अब खतरे से बाहर है। जवान का नाम  पूर्णचंद्र मुंडा है। उसके घर या रिश्तेदारों में किसी की शादी होनी है। लॉकडाउन की वजह से परेशानी आ रही है। सुबह वो फोन पर किसी से इसी संबंध में बात भी कर रहा था। कुछ देर बाद खुद को गोली मार ली। उसका परिवार जमशेदपुर में ही रहता है। 

चाईबासा के सोनुआ में लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का परिचय दिया। गैस एजेंसी के बाहर लाइन से सिलेंडर लगाए और अपनी बारी का इंतजार किया।

चाईबासा:  यहां समझदारी का परिचय

चाईबासा के सोनुआ में लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर बैरिकैडिंग है। गैस एजेंसी संचालकों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन तय कराया। लोग तय जगह पर ही खड़े हुए। जिसकी बारी आई उसने नियम के हिसाब से सिलेंडर लिया। 

कोडरमा : क्वारैंटाइन सेंटर से 4  भागे, दो पकड़े गए
यहां क्वारैंटाइन सेंटर से गुरुवार को चार लोग भाग निकले। गिनती के बाद खुलासा हुआ। शुक्रवार को इनमें से दो को पकड़ा गया। एसपी डॉ. एम तमिल वाणन ने बताया कि चारों ही बिहार के नवादा के रहने वाले हैं। 18 दिन से क्वारैंटाइन सेंटर में थे। चूंकि अभी ये आदेश नहीं है कि क्वारैंटाइन सेंटर में रखे गए दूसरे प्रदेश के लोगों को 14 दिनों के बाद छोड़ा जाए। इसलिए, उन्हें यहीं रखा गया था। इनके खिलाफ अब एफआईआर दर्ज की जाएगी।

धनबाद: सड़क पर निकले लोगों को रोका गया

धनबाद के बोकारो में 9 मामले मिलने के बाद प्रशासन सख्त हो  गया। शनिवार को सड़क पर निकले कई लोगों को रोका गया। चास चेक पोस्ट पर पुलिसकर्मी लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए यमराज का रूप धारण किए नजर आए। लोगों को ‘हम नहीं सुधरेंगे’ का बोर्ड पकड़ाया गया। 

बोकारो में संक्रमण के 9 मामले सामने आ चुके हैं। शनिवार को बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने हम नहीं सुधरेंगे का बोर्ड थमाया।

रांची : हिंदपीढ़ी में 18 मरीज में संक्रमण की पुष्टि

रांची के हिंदपीढ़ी में शनिवार को एक और मरीज में कोरोना संक्रमण की पुष्टि की गई। शुक्रवार की देर शाम हिंदपीढ़ी में ही दंपती समेत तीन कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। कोरोना संक्रमित महिला की दो दिन की बच्ची का शनिवार को सैंपल जांच के लिए भेज गया। मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉक्टर विवेक कश्यप ने बताया कि बच्ची को सुरक्षा में रखा गया है। डॉक्टर्स से सलाह भी ली गई है। सदर अस्पताल में महिला के संपर्क में आए डॉक्टर और पैरा मेडिकल कर्मियों के सैंपल की भी जांच होगी। उन्हें क्वारैंटाइन किया जाएगा। उस वार्ड के अन्य मरीजों को भी क्वारैंटाइन किया जाएगा। महिला के पति से भी पूछताछ होगी। अगर ससुराल में रहने के दौरान वह अपने घर आजाद बस्ती गया होगा तो वहां से भी लोगों के सैंपल लेकर उन्हें क्वारैंटाइन किया जाएगा। सिविल सर्जन ने बताया कि इनकी ट्रैवल हिस्ट्री चेक की जाएगी। 

 गुमला की बाजार टांड सब्जी मंडी में रोजाना भीड़ उमड़ने की सूचना के बाद शनिवार सुबह प्रशिक्षु आईएएस मनीष कुमार पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बाजार में मौजूद लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की अपील भी की।

20 से सरकारी ऑफिस खुलेंगे, 33% कर्मचारी काम पर आएंगे
झारखंड में सरकारी कार्यालय 20 अप्रैल से खुल सकते हैं। केंद्र की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए गृह एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने कार्यालय खोलने का प्रस्ताव मंजूरी के लिए सरकार को भेजा है। इसमें कहा गया है कि हॉट स्पॉट वाले इलाकों को छोड़कर अन्य इलाकों के सरकारी कार्यालय खोले जाएं। कितने कर्मचारी-अधिकारी कार्यालय आएंगे यह तय करने की जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की होगी। 33% कर्मचारियों और 20% ग्रुप डी के कर्मचारियों को बुलाने का प्रस्ताव है।

स्वास्थ्य सचिव नाराज 
राज्य में एक तरफ कोरोना संदिग्धों की जांच की संख्या कम है तो दूसरी तरफ इसके लिए उपलब्ध संसाधनों का भी पूरा इस्तेमाल नहीं हो रहा है। एमजीएम जमशेदपुर में क्षमता से कम सैंपल की जांच की जा रही है। इसको लेकर स्वास्थ्य सचिव डॉ. नितिन कुलकर्णी ने नाराजगी जताते हुए एमजीएम के अधीक्षक को पत्र लिखा। इसमें कहा है कि एमजीएम में दो आरटीपीसीआर मशीनें हैं। इस पर प्रतिदिन 180 टेस्ट किया जा सकते हैं। फिर क्यों 90 टेस्ट ही हो रहे हैं। दोनों मशीनों की पूर्ण क्षमता का इस्तेमाल करें।

रिम्स: दो मशीनों से हर दिन हो रही 180 सैंपल की जांच, 400 वेटिंग में
रिम्स में हर दिन 180 सैंपल की जांच की जा रही है। जबकि, यहां अभी करीब 400 सैंपल वेटिंग में हैं। वहीं, जमशेदपुर में औसतन हर दिन 90 जांच ही की जा रही है। रिम्स में राज्य के रांची, गुमला, लोहरदगा, रामगढ़, हजारीबाग, पलामू, लातेहार, गढ़वा, कोडरमा और चतरा जिले के सैंपल की जांच हो रही है। एमजीएम जमशेदपुर में पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला, सिमडेगा और खूंटी जिले के सैंपल की जांच हो रही है।

दुमका, हजारीबाग व पलामू में जांच केंद्र शुरू किए जाने की कवायद तेज
दुमका, हजारीबाग और पलामू में टेस्टिंग सेंटर की स्थापना के लिए इन जिलों के डीसी को पत्र लिखा गया है। एनएचएम के अभियान निदेशक शैलेश कुमार चौरसिया की ओर से डीसी को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि इन तीनों जिलों के मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला में कोरोना जांच की व्यवस्था के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर, इक्यूपमेंट, रिजेंट आदि की रिपोर्ट तैयार कर दो दिनों के भीतर सरकार को उपलब्ध कराएं।