Coronavirus: WHO gave important advice to India, said- need to adopt comprehensive strategy in time – Coronavirus : WHO ने भारत को दी अहम सलाह, कहा- समय रहते व्यापक रणनीति अपनाने की जरूरत


नई दिल्ली:

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की दक्षिण-पूर्व एशिया की रीजनल डायरेक्टर डॉ पूनम खेत्रपाल ने भारत को सलाह दी है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के सामुदायिक संक्रमण को रोकने के लिए और इसका पता लगाने के लिए रैंडम सेम्पलिंग पर्याप्त नहीं है. अधिक परीक्षण की आवश्यकता है और समय रहते व्यापक रणनीति अपनाने की आवश्यकता है. डॉ खेत्रपाल ने NDTV से कहा कि ”तैयारी की बात शुरू से की है. पहले जहां नहीं है वहां भी तैयारी हो. एक केस आया तो क्या, लोकल ट्रांसमिशन हुआ तो क्या, और चौथा कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो तो क्या करना है. अभी तो कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है, जो भारत ने बताया है, और लगता भी है. मामले बढ़े ज़रूर हैं पर इसको देखकर ये नहीं कह सकते कि कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो गया है.”

उन्होंने कहा कि ”कम्युनिटी ट्रांसमिशन को लेकर रैंडम सैंपल काफी नहीं है. कम्प्रेहेंसिव स्ट्रेटेजी अपनानी होगी. टेस्टिंग बढ़ानी होगी. रेस्पिरेटरी के सीवियर केसों का भी सैंपल करना चाहिए.” उन्होंने कहा कि ”पिछली चिट्ठी में हमने लिखा था कि प्राइवेट लैब को साथ लें, ताकि ज़्यादा टेस्ट हो सकें. जितने 51 प्राइवेट लैब हैं..उससे भी ज़्यादा नंबर हो तो बेहतर है. केस को लेकर कह नहीं सकते कि कैसे बढ़ेंगे..पूरी दुनिया में देखा है.”

उन्होंने कहा कि ”सलाह यही है कि टेस्टिंग ज़्यादा से ज़्यादा हों. तीसरी चिट्ठी में लिखा है कि कम्युनिटी ट्रांसमिशन को लेकर तैयारी कर लीजिए. भारत बेहतर कर रहा है इसमें कोई दो राय नहीं है. जो टेस्ट अब तक इंडिया कुछ लोगों के कर रहा था उसको जारी रखे. इसके अलावा और भी करे, जैसे एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम वालों को. अब इंडिया की कम्प्रहेंसिव स्ट्रेटजी होनी चाहिए, टेस्ट बढ़ा देने चाहिए.” 

डॉ खेत्रपाल ने कहा कि उपचार को लेकर 200 दवाइयों पर रिसर्च चल रही है. इंजेक्शन आने में एक से डेढ़ साल लगेगा.

उधर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की. उन्होंने कोविंद से कोरोना वायरस (Coronavirus) के मुद्दे पर चर्चा की. स्वास्थ्य मंत्री ने हालात और तैयारी की जानकारी दी.

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इसके अलावा कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को लेकर तैयारियों के लिए आज एक उच्च स्तरीय बैठक भी की. बैठक में केंद्र के सभी अस्पतालों के मेडिकल सुप्रिंटेंडेंट मौजूद रहे. क्वारंटाइन सेवाओं का रोजाना जायजा लेने के लिए टीम गठित की गई. कोरोना की तैयारियों पर स्वास्थ्य मंत्री भी रोज समीक्षा बैठक लेंगे.

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में लगे सभी कर्मियों के बचाव के साधन सुनिश्चित किए जाएं. कोरोना से निपटने के लिए मल्टीमीडिया कैंपेन शुरू होगा. कैंपेन के जरिए कोरोना से बचाव, सावधानी और अफवाह से बचने के लिए जागरूक किया जाएगा.

उधर, विस्तारा एयरलाइंस ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर 20 से 31 मार्च तक अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द कर दी हैं. एयरलाइंस की ओर से एक बयान में कहा गया है कि मांग घटने के कारण विस्तारा ने मार्च और अप्रैल माह के लिए डोमेस्टिक फ्लाइटें भी सीमित कर दी हैं. जिन यात्रियों ने पहले से टिकट बुक करा रखे हैं, और उड़ानें रद होने से प्रबावित हो रहे हैं, उनको पूरा रिफंड दिया जाएगा.