Delhi Police will send its soldiers in turn to stay apart


खास बातें

  1. कोरोना के खतरे को कम करने के लिए उठाया जा रहा है कम
  2. एक चौथाई जवानों को बारी-बारी से भेजा जाएगा
  3. बारी-बारी के आधार पर दस दिन के लिए पृथक रहना चाहिए

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) कोरोना वायरस (Corona Virus) के खतरे को कम करने के लिए अपने करीब एक चौथाई जवानों को दस दिन के लिए बारी-बारी के आधार पर पृथक रखने की योजना बना रही है. दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने एक आंतरिक संदेश में अपने जवानों से कहा कि पुलिस बल का एक हिस्सा बारी-बारी के आधार पर दस दिन के लिए पृथक रहना चाहिए और बाकी को सरकार द्वारा घोषित 21 दिन के लॉकडाउन को लागू कराना चाहिए.

पत्र में कहा गया है, ‘सभी थानों, जिले के एसीपी/डीसीपी कार्यालयों और अन्य उच्च अधिकारियों के कार्यालयों को परामर्श दिया जाता है कि उनके कार्यालय में पदस्थ 25-33 प्रतिशत स्टाफ को पृथक रहने के लिए भेजें.’ इसमें कहा गया है कि करीब 50 साल उम्र के आसपास के पुलिसकर्मियों या सेहत संबंधी दिक्कतों वाले जवानों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए. 

टिप्पणियां

लॉकडाउन के पहले दिन बोले केजरीवाल- पैनिक होने की जरूरत नहीं, जरूरत का सामान मिलता रहेगा

वहीं देश में चल रहे लॉकडाउन के पहले दिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हमें किसी भी हालत में घर से बार नहीं निकलना. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पैनिक होने की जरूरत नहीं है, जरुरत का सामान मिलता रहेगा. सीएम केजरीवाल ने कहा, जो लोग जरूरत का सामान और सेवा दे रहे हैं. उनको पास देने की तैयारी की जा रही है. जिनके पास अपना आई कार्ड नहीं है. उनके लिए हेल्पलाइन जारी करेंगे. आप उस नंबर पर फोन कीजिए और ईपास ले लीजिए. डॉक्टर, नर्स. मीडिया इन सबके पास अपने आईकार्ड हैं.  23469536 पर फ़ोन करके पुलिस से सहायता ले सकते हैं. यह नंबर पुलिस कमिश्नर दफ्तर का है. 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)