Divyanshi Jain 12th Topper Update | CBSE Class 12th Uttar Pradesh From Lucknow Topper Divyanshi Jain scored 600/600; All you need to know | लखनऊ की दिव्यांशी जैन को 600 में से 600 मार्क्स मिले; पैरेंट्स और टीचर्स ने कहा- हमें तुम पर गर्व है


  • दिव्यांशी जैन अब डीयू से बीए ऑनर्स करना चाहती हैं
  • हाईस्कूल में दिव्यांशी को 97.6% मार्क्स मिले थे

दैनिक भास्कर

Jul 13, 2020, 08:49 PM IST

लखनऊ. सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने सोमवार को इंटरमीडिएट के रिजल्ट जारी कर दिए। लखनऊ के नवयुग रेडियंस स्कूल की दिव्यांशी जैन ने 12वीं की परीक्षा में 600 में से 600 मार्क्स लाकर कीर्तिमान स्थापित कर दिया है। दिव्यांशी ने कहा कि उसने सपने में भी नहीं सोचा था कि उसे 100% मार्क्स मिल सकते हैं। उसे हाईस्कूल में 97.6% मार्क्स मिले थे। 

दिव्यांशी से बातचीत के अंश-

  • सवाल: माता-पिता क्या करते हैं?
  • जवाब: मेरे पापा राकेश प्रकाश जैन बिजनेसमैन हैं। उनकी गणेशगंज में दुकान है। मां सीमा जैन हाउसवाइफ हैं। मुझे पढ़ाई को लेकर कभी भी कोई फोर्स नहीं करता था। 
  • सवाल: पढ़ाई के लिए क्या कुछ अलग किया?
  • जवाब: शुरू से ही नोट्स बनाए थे। जिसे रिवाइज करती थी। मेरा मानना है कि शुरूआत से ही तैयारी करनी चाहिए। परीक्षा का इंतजार नहीं करना चाहिए। 
  • सवाल: इतिहास जैसे विषयों में फुल मार्क्स कैसे आए?
  • जवाब: भले ही लोगों को इतिहास जैसे विषयों को पढ़ने और याद करने में दिक्कत होती है लेकिन, मैंने कभी विषयों को रटने को कोशिश नहीं की। इतिहास को कहानी के रूप में समझा। संस्कृत में भी गणित के जैसे फार्मूले होते हैं। उनको याद किया।
  • सवाल: विषय कौन से थे?
  • जवाब: इतिहास, अंग्रेजी, संस्कृत, भूगोल, अर्थशास्त्र और इंश्योरेंस में शत-प्रतिशत मिले हैं।
  • सवाल: आगे क्या प्लान है?
  • जवाब: फिलहाल, दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए (ऑनर्स) की पढ़ाई करने का फैसला लिया है। 
  • सवाल: सफलता का श्रेय किसे देना चाहती हैं?
  • जवाब: अपने माता-पिता और शिक्षकों को। मेरे शिक्षकों ने मेरा पूरे साल मार्गदर्शन किया और मैं अपने माता-पिता के कारण ही मैं अपने डेली रूटीन को फॉलो कर पाई। इसी वजह से मुझे अपनी पढ़ाई पर फोकस करने और अच्छे मार्क्स लाने में मदद मिली। 

प्रिंसिपल बोले- हमें विश्वास था दिव्यांशी करेगी टॉप

प्रयागराज रीजन में 82.49% छात्र सफल हुए हैं। उनमें दिव्यांशी को अधिकतम अंक मिले हैं। CBSE की क्षेत्रीय अधिकारी श्वेता अरोड़ा ने बताया कि वह भूगोल विषय को छोड़कर सभी परीक्षाओं में उपस्थित हुई थी। भूगोल को कोरोना के चलते रद्द कर दिया गया था। मुझे दिव्यांशी पर गर्व है। स्कूल के प्रिंसिपल बी. सिंह ने कहा कि हमें विश्वास था कि वह टॉप करेगी। स्कूल के प्रबंधक सुधीर हलवासिया ने कहा कि दिव्यांशी ने हमें गौरवान्वित किया है। 

वेबसाइट और उमंग ऐप पर देखें रिजल्ट

अपने नतीजों को स्टूडेंट्स बोर्ड की ऑफिशिल वेबसाइट http://cbseresults.nic.in और http://results.gov.in पर देख सकते हैं। इसके अलावा स्टूडेंट्स उमंग ऐप के जरिए भी अपने नतीजे चेक कर सकते हैं। यह मोबाइल प्लेटफॉर्म, एंड्रॉएड, आईओएस और विंडोज आधारित स्मार्ट फोन्स एप्लिकेशन है। मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड आईटी, गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के द्वारा डेवलप किया गया है।