Father got stroke in lockdown, son was 2000 km away, CRPF airlifted him to hospital | लॉकडाउन में आया पिता को स्ट्रोक, करीब 2000 किलोमीटर दूर मुंबई से साइकिल से घर जा रहे बेटे को सीआरपीएफ ने एयरलिफ्ट किया

Father got stroke in lockdown, son was 2000 km away, CRPF airlifted him to hospital | लॉकडाउन में आया पिता को स्ट्रोक, करीब 2000 किलोमीटर दूर मुंबई से साइकिल से घर जा रहे बेटे को सीआरपीएफ ने एयरलिफ्ट किया


  • राजौरी जिले के पंजग्रेन गांव में रहने वाले वजीर हुसैन को स्ट्रोक आया था, सरकारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है
  • केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल मुंबई से साइकिल से लौट रहे वजीर हुसैन के बेटे आरिफ को भी जम्मू लाने में मदद दी

दैनिक भास्कर

Apr 06, 2020, 11:29 AM IST

जम्मू. देशभर में लाॅकडाउन के दौरान जम्मू के राजौरी जिले के पंजग्रेन गांव में रहने वाले वजीर हुसैन को स्ट्रोक आया। जानकारी मिलने पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ने रविवार को उन्हें जम्मू के सरकारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया है। इससे पहले सीआरपीएफ ने वजीर के बेटे आरिफ की भी मदद की। वह मुंबई से पिता से मिलने साइकिल से निकल पड़े थे। 30 साल के आरिफ को करीब 2000 किलोमीटर का सफर तय करना था। इसी बीच किसी ने सीआरपीएफ के कश्मीर स्थित ‘मददगार’ हेल्पलाइन को जानकारी दी। इसके बाद आरिफ को एयरलिफ्ट किया गया। 

सीआरपीएफ के विशेष महानिदेशक (जम्मू-कश्मीर जोन) जुल्फिकार हसन ने बताया, ‘‘हेल्पलाइन मददगार को आरिफ के बारे जानकारी मिली। इसके बाद तुरंत कार्रवाई की गई. आरिफ को भी फोन किया और पांच राज्यों में फैले सीआरपीएफ नेटवर्क जरिए उसके लिए जरूरी चीजों की व्यवस्था कराई गई। गुजरात के वडोदरा में रविवार को आरिफ को खाने के पैकेट, 2,000 रुपए, सैनिटाइजर, मास्क और गुजरात पुलिस की मदद से आवश्यक सामान भी दिया गया।’’

आज जोधपुर पहुंचेगा वजीर का बेटा आरिफ

जुल्फिकार हसन ने बताया, ‘‘आरिफ को लॉकडाउन के कारण सीआरपीएफ बेस कैंप में रहने को कहा था। उन्हें आश्वासन भी दिया कि उनके पिता का ध्यान रखा जाएगा। हालांकि जब आरिफ नहीं माना तो उसके लिए लाने की व्यवस्था की।’’


Leave a Reply