From the facility of work from home to the employees, the customers are being offered free masks like opening an account in the bank | कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम सुविधा, ग्राहकों को बैंक में खाता खोलने पर फ्री मास्क जैसे ऑफर

From the facility of work from home to the employees, the customers are being offered free masks like opening an account in the bank | कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम सुविधा, ग्राहकों को बैंक में खाता खोलने पर फ्री मास्क जैसे ऑफर


  • कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा नुकसान दुनियाभर के बिजनेस को हो रहा, कंपनियां काम जारी रखने के तरीके ढूंढ रही हैं
  • फैक्ट्रियों में संक्रमण की जांच के लिए बनाई विशेष यूनिट; चीन से फैलकर 160 से ज्यादा देशों में पैर पसार चुका कोरोना

दैनिक भास्कर

Mar 18, 2020, 12:31 AM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के प्रभाव से निपटने के लिए दुनियाभर में कंपनियां नए-नए तरीके आजमा रही हैं। कोई कर्मचारियों को घर से काम करने की सलाह दे रही हैं तो कहीं बैंक खाता खोलने के बदले मास्क फ्री देने की पेशकश कर रहे हैं। कुछ कंपनियां सेगमेंट बदलकर परफ्यूम की जगह सैनिटाइजर्स बनाने के कारोबार में उतर गई हैं।

भारत में कंपनियों ने क्या किया

1. स्विगी, जोमैटो ने शुरू की कॉन्टैक्टलेस डिलीवरी

डॉमिनोज, स्विगी, जोमैटो जैसी कंपनियों ने कॉन्टैक्टलेस डिलीवरी की शुरुआत की है। डिलीवरी एक्सपर्ट जब ग्राहक के घर पहुंचेगा तो वह एक कैरी बैग ग्राहक के दरवाजे के सामने रखेगा और कुछ फीट पीछे जाएगा। वह तब तक खड़ा रहेगा, जब तक ग्राहक ऑर्डर ग्राहक द्वारा रिसीव नहीं कर लिया जाता।

2. फोर्ड ने कर्मचारियों को घर से ही काम करने को कहा

अमेरिकी ऑटोमेकर कंपनी फोर्ड ने कोरोना के मद्देनजर भारत के 10 हजार कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा है। इससे पहले वॉल्वो भी इसी तरह की घोषणा कर चुकी है। आईटी कंपनी विप्रो ने भी साेमवार को वर्क फ्रॉम होम का ऐलान किया।

3. एफएमसीजी कंपनियों ने लागू किए कड़े प्रोटोकॉल

खाने-पीने की वस्तुओं और रोजमर्रा की जरूरतों का सामान बनाने वाली एफएमसीजी कंपनियों ने कड़े प्रोटोकॉल लागू कर दिए हैं। हिंदुस्तान यूनीलीवर ने सेल्स कर्मचारियों को ग्राहकों के साथ मेल-मिलाप रोकने के लिए कहा है। फैक्ट्रियों में भी कर्मचारियों के स्वास्थ्य की जांच की जा रही है।

4. आपात स्थिति के लिए बनी विशेष टीमें

आपात स्थिति से निपटने के लिए आईटीसी, गोदरेज आदि ने विशेष टीमें बनाई हैं। मीटिंग स्थगित कर वीडियो कान्फ्रेंसिंग का सहारा लिया जा रहा है। कर्मचारियों की रोटेशन में ड्यूटी के साथ फैक्ट्रियों में आइसोलेशन यूनिट तैयार की जा रही है। हैंड सैनिटाइजर को बढ़ावा दिया जा रहा है।

विदेश में कंपनियों ने क्या कदम उठाए

1. परफ्यूम बनाने वाली कंपनी बनाने लगीं सैनिटाइजर्स

परफ्यूम बनाने वाली कंपनियां हैंड सैनिटाइजर के कारोबार में उतर गई हैं। फ्रांस के लग्जरी गुड्स समूह एलवीएमएस ने परफ्यूम कारखानों में सैनिटाइजर्स बनाना शुरू कर दिया है। अमेरिका में ब्रुकलिन स्थित न्यूयॉर्क डिस्टिलाइजिंग कंपनी रेस्तरां, बार में हैंड सैनिटाइजर मुहैया करा रही है।
 

2. रम व वोदका वाली कंपनियां बना रहीं सैनिटाइजर

साइकोपॉम्प माइक्रो डिस्टिलरी सालाना लगभग 15,000 लीटर जिन का उत्पादन करती है, लेकिन मार्च की शुरुआत में कंपनी ने हैंड सैनिटाइजर्स बनाने का काम शुरू किया है। कैलिफोर्निया स्थित लाइम मार्गरीटा व्हिस्की, रम, ब्रांडी की उत्पादक है। अब कंपनी सैनिटाइजर बना रही है।

3. खाता खुलवाने पर मुफ्त में मिल रहा फेस मास्क

चीन के बैंकों ने काेराेनावायरस के इफेक्ट में कारोबार में आई मंदी को दूर करने के लिए एक अनोखा तरीका ढूंढ निकाला है। बैंक अपने यहां अकाउंट खोलने के एवज में ग्राहकों को मुफ्त में मास्क मुहैया करा रहे हैं। वीचैट-पे अकाउंट्स से डेबिट या क्रेडिट कार्ड को लिंक कराने पर यूजर को पांच मास्क दिए जा रहे हैं। 

4. शॉपिंग का शुरूआती एक घंटा सिर्फ बुजुर्गों के लिए

उत्तरी आयरलैंड में सुपरमार्केट्स में लंबी-लंबी लाइनें लगने लगी थीं। लिहाजा, सुपरमार्केट्स में खरीदारी के लिए बुजुर्गों को प्राथमिकता जा रही है। बेलफास्ट स्टोर में रोजाना सुबह एक घंटे का समय बुजुर्गों के लिए रिजर्व किया गया है। इस दौरान वे ही खरीदारी करेंगे।

Leave a Reply