Gujarat: 14 New Cases Found, 10 Are Related to Tabligi Jamaat – गुजरात में कोविड-19 के 14 नए मामले आए सामने, 10 का संबंध तबलीगी जमात से


गुजरात में कोविड-19 के 14 नए मामले आए सामने, 10 का संबंध तबलीगी जमात से

14 नए मामलों में से 8 अहमदाबाद, 2 सूरत, 2 भावनगर, 1- वडोदरा और 1- छोटा उदयपुर से सामने आए

अहमदाबाद:

गुजरात में कोरोना वायरस के 14 नए मरीज आने से राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या 122 पर पहुंच गई है. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इनमें से 10 मामले दिल्ली के निजामुद्दीन में पिछले महीने तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन से जुड़े हैं. अधिकारी ने बताया कि राज्य में 61 वर्षीय महिला की मौत भी हो गई है जिसे शनिवार को सूरत के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई थीं. उसे मधुमेह भी था. रविवार को सामने आए 14 नए मामलों में से 8 अहमदाबाद, 2-2 सूरत और भावनगर तथा 1-1 मामले वडोदरा और छोटा उदयपुर से सामने आए. प्रधान सचिव (स्वास्थ्य) जयंती रवि ने बताया कि इन 14 नए मामलों में से 10 का पिछले महीने दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के धार्मिक आयोजन से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर कोई न कोई संबंध है. 

उन्होंने बताया कि सूरत में 61 वर्षीय महिला की मौत के साथ राज्य में कोविड-19 से मरने वाले लोगों की संख्या 11 पर पहुंच गई है. जिले के अनुसार, अहमदाबाद में सबसे अधिक पांच लोगों की मौत हुई. इसके बाद भावनगर और सूरत में दो-दो लोगों की और पंचमहल तथा वडोदरा में एक-एक शख्स की मौत हुई. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि अभी तक संक्रमण के सबसे अधिक 53 मामले अहमदाबाद से सामने आए हैं. इसके बाद सूरत से 15, गांधीनगर से 13, भावनगर से 11, राजकोट और वडोदरा से 10-10, पोरबंदर से तीन, गिर सोमनाथ से दो और कच्छ, मेहसाणा, पंचमहल, पाटण तथा छोटा उदयपुर से एक-एक मामले सामने आए.कुल 122 मामलों में से 72 स्थानीय संक्रमण के हैं, 33 मरीजों ने विदेश की यात्रा की और 17 ने दूसरे राज्यों की यात्रा की थी. 

रवि ने बताया कि अभी तक 17 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. सभी 94 सक्रिय मरीजों की हालत स्थिर है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य सरकार ने अभी तक कुल 2,354 नमूनों की जांच की है जिनमें से आठ के नतीजे अभी नहीं आए हैं. अभी तक राज्य में कुल 14,920 लोगों को पृथक रखा गया है जिनमें 13,560 लोग अपने घरों में पृथक वास में रह रहे हैं, 1085 लोग सरकारी केंद्रों में था 275 निजी केंद्रों में पृथक रह रहे हैं.