Health Minister said- two companies of the country competing for clinical trial of vaccine, it is a matter of pride for us | स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- देश की दो कंपनियां क्लीनिकल ट्रायल स्टेज तक पहुंची, यह हमारे लिए गौरव की बात


  • Hindi News
  • National
  • Health Minister Said Two Companies Of The Country Competing For Clinical Trial Of Vaccine, It Is A Matter Of Pride For Us

नई दिल्ली10 मिनट पहले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने गुरुवार को कहा कि भारत दुनिया के पांच ऐसे देशों में शामिल है जो कोरोना का वैक्सीन बना सकता है।

  • स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा- हमारा लक्ष्य आने वाले समय में हर दिन 10 लाख टेस्ट करने का है
  • ‘भारत का रिकवरी रेट करीब 64% है जो दूसरे देशों की तुलना में अच्छा है, हमारे यहां मृत्यु दर भी काफी कम है’

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने गुरुवार को कहा कि देश की दो दवा कंपनियां वैक्सीन का ट्रायल करने के स्टेज तक पहुंच गई हैं। यह हमारे लिए गौरव की बात है। भारत दुनिया के पांच ऐसे देशों में शामिल है जो यह वैक्सीन बना सकता है। उन्होंने काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (सीएसआईआर) के एक सम्मेलन की शुरुआत के मौके पर यह बात कही। इस सम्मेलन में संक्रमण रोकने के तरीकों पर चर्चा करने के लिए देश भर से विशेषज्ञ शामिल हो रहे हैं।

उन्होंने कहा, कि भारत वायरस से मजबूती से लड़ रहा है। इसे हराने के लिए देश के वैज्ञानिक और एक्सपर्ट कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हमारे हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स, डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ समेत सभी कोरोना वॉरियर्स अच्छा काम कर रहे हैं। उन्होंने वायरस की रोकथाम के लिए नई तकनीकों को ईजाद करने के लिए सीएसआईआर की तारीफ की।

हमारा रिकवरी रेट अच्छा: डॉ. हर्षवर्धन

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि देश में कोरोना को रोकने के लिए किए गए कामों के अच्छे नतीजे सामने आए हैं। भारत का रिकवरी रेट करीब 64% है जो दूसरे देशों की तुलना में अच्छा है। हमारे यहां मृत्यु दर भी कम है। अब पूरे देश में 10 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, जो दूसरे लोग अस्पताल में भर्ती है वे भी ठीक हो रहे हैं। भारत करीब 150 देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की सप्लाई कर रहा है।

हर दिन 10 लाख टेस्टिंग का लक्ष्य: स्वास्थ्य मंत्री

उन्होंने कहा कि, लक्ष्य आने वाले समय में हर दिन 10 लाख टेस्ट करने का है। अप्रैल तक देश में हर दिन सिर्फ 6 हजार टेस्ट ही हो रहे थे। अब इसका आंकड़ा 5 लाख के पार हो गया है। हम नए टेस्टिंग सेंटर्स बना रहे हैं। तेजी से संक्रमितों की पहचान की जा रही है और उनका इलाज किया जा रहा है। इस वायरस के खत्म होने के बारे में अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता। हालांकि, हम इससे लड़ने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

देश में कोरोना से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें:

1.कोरोना हार रहा है:10 लाख लोगों के सामने कोरोना बेदम यानी 64% मरीज ठीक हो चुके; 40 हजार मरीज रोज रिकवर हो रहे

2.कोरोना वैक्सीन का तीसरा ह्यूमन ट्रायल: देश में 5 जगहों पर परीक्षण होगा, ट्रायल कामयाब रहने पर जल्द आ सकेगी वैक्सीन

0

Leave a Reply