jammu and kashmir latest news|Four militants killed by security forces in Anantnag, 8th incident of encounter this year | अनंतनाग में चार आतंकी ढेर; बाथरूम में गड्‌ढा खोदकर छिपे थे, सुरक्षा बलों ने वहीं एनकाउंटर किया


  • अनंतनाग के वटरूग्राम में एक घर में छिपे थे आतंकवादी, सुरक्षाबलों के पहुंचने पर फायरिंग शुरू कर दी
  • सोपोर में जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी दानिश अहमद काकरू गिरफ्तार, पिस्तौल और गोलियां बरामद

दैनिक भास्कर

Mar 15, 2020, 06:19 PM IST

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में रविवार को सुरक्षा बलों ने 4 आतंकियों को मार गिराया। आतंकवादी वटरीग्राम गांव के एक घर में थे। वे यहां बाथरूम में गड्ढा खोदकर छिपे थे। सुरक्षाबलों ने के पहुंचने पर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने बाथरूम में घुसकर ही आतंकियों का एनकाउंटर किया। सभी आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। इनकी पहचान, मुजफ्फर अहमद, उमर अमीन भट्‌ट, साजाद अहमद भट्‌ट और गुलजार अहमद भट्‌ट के रूप में हुई है। उनके पास से हथियार और गोलाबारूद बरामद किया गया है।

सोपोर में रविवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया। उसके पास से पिस्तौल, मैगजीन और बुलेट जब्त की गईं। जैश आतंकी बारामूला की चिश्ती कॉलोनी का रहने वाला दानिश अहमद काकरू है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, इसे पकड़ने के लिए सेना के 52 राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन, सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) और स्पेशन ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने संयुक्त अभियान चलाया था।

अनंतनाग में मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में किसी अन्य आतंकी की मौजूदगी जांचने के लिए सर्च ऑपरेशन किया। हमले में किसी भी जवान के जख्मी होने की सूचना नहीं है। यह कश्मीर में आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की 8वीं मुठभेड़ है। 

8 मार्च को भी शोपियां के सीतापोरा इलाके में जवानों ने दो आतंकियों की हमले की कोशिश नाकाम कर दी थी। अवंतीपोरा पुलिस ने आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन की मदद करने वाले 3 सहयोगियों को गिरफ्तार किया था। ये तीनों आतंकियों को शरण देने और जरूरी सामान मुहैया करवाने में मदद करते थे। 

कश्मीर में इस साल हुए एनकाउंटर

15 मार्च: अवंतीपोरा जिले के वटरीग्राम में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया।

22 फरवरी: दक्षिण कश्मीर के संगम बिजबेहरा में जवानों और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। दो आतंकी मारे गए।
19 फरवरी: पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर के दौरान 3 आतंकियों को ढेर किया।
5 फरवरी: श्रीनगर के पास मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे, जबकि एक सीआरपीएफ जवान शहीद हुआ था। बाइक पर सवार 3 आतंकियों ने सीआरपीएफ चैकपोस्ट पर फायरिंग की थी।
31 जनवरी: जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर ट्रक में छिपे 4-5 आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था। ट्रक को नगरोटा के टोल प्लाजा पर चैकिंग के लिए रोका गया था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकी मारे गए, जबकि एक पुलिस जवान जख्मी हो गया। ट्रक का ड्राइवर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का चचेरा भाई है और वही आतंकियों का मुख्य हैंडलर था।
25 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 2 पाकिस्तानी आतंकी कारी यासिर और बुरहान शेख मारे गए थे। यासिर जैश-ए-मोहम्मद का कश्मीर एरिया कमांडर था। 
21 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे। सेना का एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एसपीओ शहीद हो गया था।
20 जनवरी: शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकी मारे गए थे।