jammu & Kashmir: Corona in Jammu & Kashmir: Villager faked his death to avoid India’s coronavirus lockdown | जिंदा व्यक्ति को मुर्दा बताया, बॉडी को एंबुलेंस में लेकर 200 किमी चले; गांव से पहले पड़े आखिरी चेकपोस्ट पर पकड़े गए

jammu & Kashmir: Corona in Jammu & Kashmir: Villager faked his death to avoid India’s coronavirus lockdown | जिंदा व्यक्ति को मुर्दा बताया, बॉडी को एंबुलेंस में लेकर 200 किमी चले; गांव से पहले पड़े आखिरी चेकपोस्ट पर पकड़े गए


  • जम्मू के अस्पताल में सिर की चोट का इलाज कर रहे व्यक्ति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाया गया
  • जम्मू से पुंछ जाने के लिए एंबुलेंस में 5 लोग रवाना हुए, इन सभी को पुंछ में अपने गांव जाना था

दैनिक भास्कर

Apr 01, 2020, 08:08 PM IST

जम्मू. देशभर में लागू 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान घर जाने के लिए लोग अजीब-अजीब तरकीबें आजमा रहे हैं। लेकिन, जम्मू के अस्पताल से 200 किलोमीटर दूर पुंछ जाने के लिए 5 लोगों ने ऐसा बहाना बनाया कि पुलिस भी हैरान हो गई। पुंछ के रहने वाले हकीमदीन को सिर में चोट लगी थी। वह अस्पताल में इलाज करवा रहा था। वहां की एंबुलेंस में काम करने वाले ड्राइवर को भी पुंछ ही जाना था। उसने हकीमदीन से कहा कि वह अपना मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा ले और ऐसे में उसकी बॉडी को लेकर वह पुंछ छोड़ आएगा।

इस तरकीब को अंजाम तक पहुंचाने के लिए हकीमदीन, ड्राइवर और अन्य तीन लोगों ने मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाया। ये सभी लोग पुंछ जाना चाहते थे। जो हकीमदीन जिंदा था, उसकी बॉडी को एंबुलेंस में रखा और पुंछ की ओर निकल पड़े। 200 किलोमीटर के रास्ते में ये लोग सभी चेक पॉइंट्स को पार कर गए, लेकिन गांव से पहले पड़ने वाले आखिरी चेक पोस्ट पर एक पुलिसवाले को शक हुआ। वह यह समझ गया कि चादर ओढ़कर लेटा हुआ शख्स जीवित है। इसके बाद जब पुलिस ने पूछताछ की तो सारी सच्चाई सामने आ गई। इन सभी पर धोखाधड़ी और सरकार के आदेशों का उल्लंघन करने का आरोप है।

Leave a Reply