JNU student accused of beating on Security gaurd during Coronavirus Lockdown – VIDEO: लॉकडाउन के बीच कैंपस से बाहर जाने पर रोका तो JNU स्टूडेंट बोला- मैं खांसकर फैला दूंगा Corona, लगाया पिटाई का आरोप


VIDEO: लॉकडाउन के बीच कैंपस से बाहर जाने पर रोका तो JNU स्टूडेंट बोला- मैं खांसकर फैला दूंगा Corona, लगाया पिटाई का आरोप

JNU स्टूडेंट ने गार्डों पर लगाया पिटाई का आरोप

खास बातें

  • लॉकडाउन के बीच कैंपस से बाहर जाना चाहता था जेएनयू छात्र
  • गार्डों ने बाहर जाने से रोका तो गेट पर बैठा
  • सुरक्षाकर्मियों पर लगाया पिटाई का आरोप

नई दिल्ली:

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के एक छात्र ने कोरोनावायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) के बीच विश्वविद्यालय परिसर से बाहर जाने की कोशिश की. छात्र ने सुरक्षाकर्मियों पर उसके साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है. इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें वह कैंपस के गेट के पास बैठा नजर आ रहा है और कह रहा है कि वह यहां से नहीं जाएगा. छात्र का नाम प्रणव बताया जा रहा है. वहीं, सुरक्षा गार्डों ने कहा कि उसके पास हॉस्टल वार्डन का जो लेटर था. उस मुहर नहीं थी. 

वायरल वीडियो में, प्रणव नाम के छात्र को जेएनयू गेट के पास बैठे देखा जा सकता है. उसने सुरक्षा गार्डों से बहस करते हुए कहा कि उसे एक महत्वपूर्ण काम के लिए कैंपस से बाहर जाने की जरूरत है. उसने दावा किया कि उसके पास हॉस्टल वार्डन से लिखित परमिशन भी है. इस बात को लेकर छात्र और गार्डों के बीच बहस हो गई. उसके बाद छात्र ने कहा” मैं किसी भी कीमत पर यहां से नहीं जाऊंगा, आप मुझे पकड़कर पीछे हटाना चाहते हैं, मैं आप पर खांसूंगा, मैं कोरोना फैला दूंगा” 

इस दौरान, सुरक्षा गार्डों ने कहा कि पत्र में हॉस्टल वार्डन की मोहर नहीं थी, इसलिए इसकी क्या विश्वसनीयता है. गार्ड ने छात्र से परिसर में वापस जाने के लिए कहा. हालांकि, छात्र ने कहा कि उसे बाद में गार्डों ने पीटा और फिर उसे एम्स ट्रॉमा सेंटर में भेजा गया. 

बता दें कि कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउऩ जारी है. 21 दिनों का लॉकडाउऩ 14 अप्रैल तक जारी रहेगा. भारत में कोरोनावायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. गुरुवार सुबह तक इसके मरीजों की संख्या बढ़कर 1965 हो गई. जबकि इससे मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 50 पहुंच गया है. वहीं, इसी बीच अच्छी खबर भी है कि इससे संक्रमित 151 लोगों का अभी तक उपचार किया जा चुका है. पिछले 24 घंटे में 328 नए मामले (कल के दोपहर के आंकड़े के आधार पर) सामने आए हैं. वहीं, पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की मौत हुई है.