Life under coronavirus: 24 hours around the world in pictures | 24 pictures from a single day show how coronavirus has changed lives around the world. | कोरोना ने पैदा की दूरियां, लेकिन जुड़े रहने के लिए भी हो रहे खूब जतन, देखिए लॉकडाउन दुनिया के हाल


दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 10:23 PM IST

कोरोना डेस्क.  बीते 24 घंटों के दौरान लगभग एक तिहाई दुनिया घरों में कैद हो गई है। कोरोनावायरस के कारण दुनियाभर के 50 से ज्यादा देशों ने लॉकडाउन घोषित किया है। इस वजह से करीब 230 करोड़ से ज्यादा लोग जान बचाने के लिए एक-दूसरे से दूर हो गए हैं। 130 करोड़ लोग केवल भारत में ही लॉकडाउन हैं। ज्ञात इतिहास में ऐसा पहली बार है कि हर कहीं सिर्फ कोरानावायरस ही सिर्फ अकेली खबर और लॉकडाउन ही एकमात्र तस्वीर है। 

न्यूज एजेंसी एएफपी के फोटोग्राफर्स ने पेरिस से लेकर ढाका और मुम्बई से लेकर मेलबर्न तक 24 तस्वीरें उतारी हैं जो लॉकडाउन दुनिया में  बीते 24 घंटों में लोगों की जिंदगी के हालात बयां करती है। देखिए कैमरे के एंगल से लॉकडाउन दुनिया की 24 तस्वीरें, लेकिन सबकी कहानी एक ही है, और वह है घर में रहना, खुद को सबसे दूर रखना है ताकि खुद भी बचें और दूसरों को बचाएं।

लॉकडाउन के दौरान ग्रीस की राजधानी एथेंस की एक इमारत की छत पर, एक ग्रीक कलाकार ग्रैफिटी बनाकर लोगों को घर पर रहने और मास्क पहनने का मैसेज देता हुआ।

कोराेना के कारण पैदा हुई लॉकडाउन की स्थिति के कारण बैंकॉक में लोगों ने खुद को घरों में बंद कर लिया है।
भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन के पहले दिन बेंगलुरु में गोल घेरे में खड़े होकर राशन लेने का इंतजार करते ग्राहक।

हांगकांग की लैन क्वै फोंग में आमतौर पर भरे रहने वाले बार, रेस्तरां और कैफे खामोश हो गए हैं।

 इटली के बर्गामो प्रांत में अंतिम संस्कार सेवा का कर्मचारी, सुरक्षात्मक गियर और कपड़े पहने हुए एक ताबूत की तस्वीरें लेता हुआ। इटली कोरोनावायरस का एपिसेंटर बन चुका है और हालात ऐसे हैं कि अपनों को दफनाने के लिए कोई कब्रिस्तान तक भी नहीं जा रहा।

इस्लाम के तीसरे पवित्रतम स्थल, यरूशलम में अल-अक्सा मस्जिद के प्रवेश द्वार के सामने नमाज पढ़ते श्रद्धालु। कोरोना के खतरे के चलते इसे बंद कर दिया गया है।

आमतौर पर पर्यटकों और लोगों से गुलजार रहने वाला पेरिस का प्रसिद्ध एवेन्यू, चैंप्स-एलिसे, इन दिनों सुनसान है।

सेनेगल के धार्मिक स्थल लायने ब्रदरहुड अल्माडीज की पवित्र गुफा के लिए होने वाली वार्षिक तीर्थयात्रा को रद्द कर दिया गया है। गुफा के मुहाने पर प्रार्थना करता एक श्रद्धालु।

जापान में वर्क फ्रॉम होम के कारण कर्मचारी घर से काम रहे हैं। एक स्टार्ट-अप कंपनी की कर्मचारी युकी सातो काम में जुटी हैं, जबकि उनकी दोनों बेटियां आसपास खेलने में लगी हैं।