Local News In Hindi : : Ayodhya Ram Mandir Nirman Karya Impact Postponed, Ram Mandir Trust members Meeting Cancelled Amid Coronavirus Outbreak In Uttar Pradesh | लॉकडाउन तक राम मंदिर निर्माण से जुड़े कार्यक्रम स्थगित, ट्रस्ट की अयोध्या में 4 अप्रैल को होने वाली बैठक भी टली


  • श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्र ने बताया- बैठक की अगली तारीख बाद में तय होगी
  • टेंट से अस्थायी मंदिर पहुंच चुके हैं रामलला, इसके बाद जमीन समतलीकरण का काम शुरू होना था

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 03:19 PM IST

अयोध्या. तेजी से फैल रहे कोरोनावायरस संक्रमण के बीच लॉकडाउन लागू रहने तक राम मंदिर निर्माण के सारे कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं। ट्रस्ट के सदस्यों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर देशभर में लॉकडाउन है। कोरोना संकट से निपटना देश की प्राथमिकता है। 4 अप्रैल को अयोध्या में होने वाली ट्रस्ट की बैठक स्थगित कर दी गई है। उत्तर प्रदेश में अब तक संक्रमितों की संख्या 46 तक पहुंच गई है। 

निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेंद्र दास के मुताबिक अब भव्य राम मंदिर के गर्भ स्थल की जगह खाली हो गई है। इसके समतलीकरण और निर्माण का काम शुरू होना है। 4 अप्रैल को होने वाली बैठक में भूमिपूजन की तारीख तय होनी थी। कोरोना संकट को देखते हुए अब ये तारीख टल गई है। निर्मोही अखाड़ा मंदिर में राम नवमी पर होने वाले सारे कार्यक्रम भी रद्द कर दिए गए हैं। इस बीच श्रद्धालुओं का मंदिर में प्रवेश रोक दिया गया है।

1528 के बाद पहली बार श्रीरामलला चांदी के सिंहासन पर विराजमान हुए
चैत्र नवरात्रि की शुरुआत के दिन श्री रामलला, उनके भाइयों और भक्त हनुमान को बुधवार रात करीब 3 बजे चीड़ की लकड़ी और कांच से बने अस्थायी मंदिर में स्थापित किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ श्रीराम जन्मभूमि स्थित मानस भवन में मौजूद रहे। उन्होंने मंदिर निर्माण के लिए दान में 11 लाख रुपए का चेक भी दिया। इससे पहले मंगलवार को मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने भगवान से नए स्थान पर विराजने की प्रार्थना की और सालों से चली आ रही रस्म को पूरा करते हुए नए मंदिर का वास्तु पूजन किया था। रात 2 से तड़के 3 बजे तक टेंट में स्थित गर्भगृह में श्रीरामलला की अंतिम बार आरती, भोग और श्रृंगार किया गया। 1528 के बाद पहली बार श्रीरामलला चांदी के सिंहासन पर विराजमान हुए।

केशव मौर्य ने भेजा था छप्पन भोग प्रसाद 
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की ओर से नए मंदिर में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच रामलला को “छप्पन भोग प्रसाद” अर्पित किया गया। मौर्य ने इसके साथ ही राष्ट्र समाज पर आए संकट से मुक्ति और कल्याण की प्रार्थना की है। उन्होंने कहा कि भगवान देश पर कोरोनावायरस के रूप में आई महामारी से मुक्ति देकर सभी का कल्याण करें।

श्रीरामलला के अकाउंट में 2.81 करोड़ रु. नकद, 8.75 करोड़ की एफडी
अयोध्या में विराजमान रामलला के अकाउंट में 2.81 करोड़ रुपए नकद और 8.75 करोड़ रुपए की एफडी जमा है। इसके अलावा 230 ग्राम सोना, 5019 ग्राम चांदी व 1531 ग्राम अन्य धातुएं हैं। उनका नया अस्थायी मंदिर कुटी की तरह तैयार किया गया है, जिसे जर्मन पाइन लकड़ी व कांच से बनाया गया है। इसका प्लेटफार्म संगमरमर से तैयार किया गया है।