Madhya Pradesh News In Hindi : BJP MLA Narayan Tripathi With Bhopal Congress MLA Arif Masood In Car During MP Assembly Vidhan Sabha Session | कांग्रेस विधायक के साथ सीएम हाउस पहुंचे भाजपा विधायक त्रिपाठी, कहा- जो मेरे क्षेत्र का विकास करेगा उसके साथ जाऊंगा


  • भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के साथ कार में बैठ विधानसभा से गए

  • त्रिपाठी ने कहा- मेरी मां का देहांत हो गया, मैं अभी राजनीति के बारे में कुछ नहीं सोच रहा हूं
     

सुमित पांडेय

सुमित पांडेय

Mar 16, 2020, 02:34 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश में सियासी उठापटक का ड्रामा अभी पूरा नहीं हुआ है। जहां एक तरफ सेंधमारी के डर से कांग्रेस और भाजपा दोनों अपने-अपने विधायकों को रिजॉर्ट में रखे हुए हैं। दूसरी तरफ चर्चा है कि कांग्रेस ने भी भाजपा में सेंधमारी शुरू कर दी है। सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही स्थगित होने के बाद मैहर से भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के साथ नजर आए। वे मसूद के साथ बाहर आए और फिर वहां से उन्हीं के साथ कार में कमलनाथ से मिलने मुख्यमंत्री आवास पहुंचे।

मैं अभी राजनीति के बारे में नहीं सोच रहा हूं: त्रिपाठी
दैनिक भास्कर से बातचीत में नारायण त्रिपाठी ने सबसे पहले विधानसभा स्पीकर को सदन स्थगित करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा- मेरी मां का देहांत हो गया है। मैं अभी राजनीति के बारे में नहीं सोच रहा हूं। कांग्रेस विधायक के साथ विधानसभा से बाहर आने के सवाल पर उन्होंने कहा- मैं यहां आता हूं तो सबसे मिलता हूं। मुझे लगेगा कि जो मेरे क्षेत्र के विकास के लिए काम करेगा। मैं उसके साथ ही जाऊंगा।

न भाजपा विधायकों के साथ आए, न साथ गए 
जहां भाजपा के सभी विधायक दो बसों में होटल आमेर ग्रीन से विधानसभा पहुंचे। भाजपा विधायकों के साथ शिवराज सिंह और नरोत्तम मिश्रा भी थे। सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद सभी भाजपा विधायक सीधे राज्यपाल आवास पर गए। वहीं, दूसरी तरफ नारायण त्रिपाठी न भाजपा विधायकों के साथ आए और न ही भाजपा विधायकों के साथ गए। 

क्या यह कांग्रेस की सेंधमारी?
सियासी हल्के में नारायण त्रिपाठी के पाला बदलने की चर्चाएं हो रही हैं। त्रिपाठी पहले सपा में थे, फिर कांग्रेस में आए और अब वह भाजपा में है। बता दें कि नारायण त्रिपाठी वही विधायक हैं, जिन्होंने शरद कोल के साथ मिलकर मानसून सत्र के दौरान क्रॉस वोटिंग की थी। कांग्रेस ने इन्हीं 2 विधायकों के अपने साथ होने का दावा किया था। त्रिपाठी ने कुछ दिन पहले सीएम हाउस पहुंचकर कमलनाथ से मुलाकात की थी। बाहर निकलकर कहा था- मैं अपने क्षेत्र के विकास के लिए बात करने आया हूं। इस पूरे सियासी ड्रामे के दौरान त्रिपाठी को एक बार भी भाजपा नेताओं या विधायक दल के साथ नहीं देखा गया।