Madhya Pradesh News In Hindi : Coronavirus Indore | 100 Indians Medical, Engineering Students Stranded At Philippines Manila Airport | फिलीपींस ने भारतीय छात्रों से 72 घंटे में देश छोड़ने को कहा, मनीला एयरपोर्ट पर 100 से ज्यादा छात्र और ताशकंद में महाराष्ट्र के 39 लोग फंसे


  • 39 पर्यटकों का यह समूह 10 मार्च को मुंबई से उज्बेकिस्तान गया था, इन्हें 16 मार्च को लौटना था
  • फिलीपींस में फंसी इंदौर की मेडिकल छात्रा अन्विता बोलीं- यहां कर्फ्यू सा माहौल, सरकार हमें निकाले

दैनिक भास्कर

Mar 19, 2020, 12:06 AM IST

इंदौर/मुंबई. कोरोनावायरस के बढ़ते प्रभाव के कारण कई भारतीय नागरिक विदेश में फंसे हुए हैं। उज्बेकिस्तान की राजधानी ताशकंद घूमने गए महाराष्ट्र के 39 पर्यटक यहां एयरपोर्ट पर फंस गए हैं। कोरोनावायरस की वजह से उनकी वापसी की फ्लाइट रद्द कर दी गई। उधर, फिलीपींस की राजधानी मनीला में भी एयरपोर्ट पर 100 से ज्यादा छात्र फंस गए हैं। फिलीपींस सरकार ने छात्रों को 72 घंटों में देश छोड़ने के लिए कहा है। इनमें मेडिकल की पढ़ाई कर रही इंदौर की अन्विता वर्मा भी शामिल हैं।

दूतावास से भी मदद नहीं मिल रही: अन्विता
अन्विता ने कहा, ‘‘यहां फ्लाइट का किराया बहुत ज्यादा हो गया है, फिर भी हमने जैसे-तैसे फ्लाइट बुक की। सड़कों पर कर्फ्यू जैसा माहौल है। हम किसी तरह एयरपोर्ट पहुंचे। कई घंटों बिठाए रखने के बाद हमें बोर्डिंग पास जारी किए गए। इमीग्रेशन हो जाने के बाद अब हमें कहा जा रहा है कि फ्लाइट नहीं जाएगी। हमारे 40-50 साथी तो एयरपोर्ट के बाहर हैं, जिन्हें अंदर नहीं आने दिया जा रहा। भूखे-प्यासे बैठे हैं। सारी व्यवस्था दम तोड़ रही है। स्थानीय एयरपोर्ट स्टाफ हमें पुलिस के हवाले करने की धमकी दे रहा है। हमारी सरकार से अपील है कि हमें जल्द से जल्द यहां से निकालें।’’

मलेशिया में 50 से ज्यादा छात्र फंसे

फिलीपींस से आने वाली ज्यादातर फ्लाइट मलेशिया के रास्ते ही भारत आती हैं। भारत सरकार ने मलेशिया से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगाने का निर्णय तो ले लिया, लेकिन आसपास के देशों में फंसे छात्रों के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की। दूतावास से मदद न मिलने के कारण करीब 50 से ज्यादा छात्र यहां एयरपोर्ट के बाहर फंसे हैं। 

कुआलालंपुर से भारतीय छात्र निकाले जाएंगे
कुआलालंपुर में फंसे भारतीय छात्रों और अन्य यात्रियों को एयर एशिया एयरलाइंस के विमानों से निकालने की इजाजत दे दी गई है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट करके यह जानकारी दी। उन्होंने कुआलालंपुर एयरपोर्ट पर इंतजार कर रहे छात्रों की हौसला आफजाई की।

ताशकंद में फंसे लोगों ने मंत्री से गुहार लगाई

ताशकंद घूमने गए पर्यटकों में से कुछ लोगों ने महाराष्ट्र सरकार में जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल से वीडियो कॉल के जरिए वापस बुलाने की गुहार लगाई। पाटिल ने बताया कि इस बारे में राकांपा प्रमुख शरद पवार को जानकारी दे दी गई है। जल्द ही वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। 39 टूरिस्टों का यह ग्रुप 10 मार्च को मुंबई से उज्बेकिस्तान गया था और इन्हें 16 मार्च को लौटना था। ग्रुप के सदस्य जब एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि भारत जाने वाली सभी फ्लाइट्स रद्द कर दी गई हैं।