Members of parliamentary panel on IT favours ban on some more chinese apps – संसदीय समिति की बैठक में उठी मांग, चीन के PUBG और CamScanner जैसे ऐप्‍स पर भी लगे बैन


संसदीय समिति की बैठक में उठी मांग, चीन के PUBG और CamScanner जैसे ऐप्‍स पर भी लगे बैन

केंद्र सरकार टिकटॉक जैसे चीनी ऐप्‍स को पहले ही बैन कर चुकी है

नई दिल्ली:

आईटी मामलों की स्टैंडिंग कमेटी की शुक्रवार को हुई बैठक भारत सरकार द्वारा टिकटॉक सहित चीन के 59 मोबाइल ऐप (China-linked apps)को बैन (Ban )करने का मुद्दा उठा. करीब तीन घंटे तक चली इस बैठक में सदस्‍यों ने चीन के कुछ और ऐप्‍स पर प्रतिबंध लगाने की मांग उठाई. 58 मोबाइल ऐप को बैन करने का मुद्दा कमेटी की बैठक में उठा तो बीजेपी सांसदों ने इस बात पर आपत्ति जताई. उनका मानना था कि इस मुद्दे पर चर्चा की अब कोई जरूरत नहीं है. बीजेपी सांसदों ने कहा कि गृह मंत्रालय के अधिकरियों को बुलाकर इस मसले पर आगे की चर्चा की कोई आवश्यकता नहीं है. स्‍टैंडिंग कमेटी के कुछ सदस्यों ने इन 59 मोबाइल ऐप के अलावा PUBG जैसे और ऐप पर पाबंदी की मांग उठाई. 

यह भी पढ़ें

कमेटी के चेयरमैन शशि थरूर ने कहा कि चीनी ऐप CamScanner का इस्तेमाल कई राज्यों के पुलिस और अधिकरियों ने किया है. इस ऐप के इस्‍तेमाल से डेटा चोरी का डर है.गौरतलब है कि लद्दाख में हिंसक संघर्ष और एलएसी पर चीन के साथ जारी सीमा विवाद के बीच सरकार ने पिछले माह TikTok और UC Browser समेत चीन से संबंधित 59 ऐप्स को ब्लॉक कर दिया था. सरकार ने इन ऐप्स को सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक बताया है. सूत्रों ने बताया कि खुफिया जानकारी में सुझाव दिया गया कि यह ऐप्स उपयोग की शर्तों का उल्लंघन कर रहे हैं और यूजर्स के डेटा की सुरक्षा के लिए खतरा हैं.

सरकार ने जिन ऐप्स को ब्लॉक किया था, उनमें टिकटॉक (TikTok), शेयरइट (Shareit), यूसी ब्राउजर (UC Browser), हैलो (Helo), लाइकी (Likee), क्लब फैक्ट्री (Club Factory), न्यूज डॉग, वीचैट, यूसी न्यूज (UC News), वीबो (Weibo), जेंडर (Xender) मुख्य रूप से शामिल थे.