Metro services for emergency services at 30-minute intervals, market completely closed | बाजार, सड़कें सब सूनीं नजर आईं;अब 23 मार्च शाम 5 बजे से 27 मार्च रात 12 बजे तक 33 जिलों के लगभग सभी नगरपालिका वाले इलाकों में लॉकडाउन रहेगा

Metro services for emergency services at 30-minute intervals, market completely closed | बाजार, सड़कें सब सूनीं नजर आईं;अब 23 मार्च शाम 5 बजे से 27 मार्च रात 12 बजे तक 33 जिलों के लगभग सभी नगरपालिका वाले इलाकों में लॉकडाउन रहेगा


  • कोलकाता और बंगाल के अन्य जिलों से चलने वाली अंतर्राज्यीय बस सेवाएं बंद 
  • कोलकाता के निकटवर्ती शहरों सॉल्टलेक, बैरकपुर इत्यादि जगहों पर भी सड़कें खाली 

दैनिक भास्कर

Mar 22, 2020, 09:35 PM IST

कोलकाता से भोला नाथ साहा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरोना वायरस से निपटने के लिए जनता कर्फ्यू के आह्वान का असर महानगरी कोलकाता समेत पूरे बंगाल में दिखाई दिया। यहां जनजीवन पूरी तरह से थमा रहा। ना तो कहीं सड़कों पर लोग निकले, ना ही बाजारों में आवाजाही दिखी। कोलकाता के व्यस्ततम जगहों में एस्प्लेनेड, टालीगंज, बेहाला, डलहौसी, श्यामबाजार फाइव पॉइंट इत्यादि जगहों पर पूरे 14 घंटे पिनड्राप शांति रही। कोलकाता के सभी प्रमुख बाजार जैसे मानिकतला बाजार गरियाहाट व लेक मार्केट, सियालदह मार्केट, बड़ाबाजार पूरी तरह से बंद रहे। हालांकि शाम 5 बजे पूरे शहर में लोगों ने घरों की खिड़कियों, बालकनी और छतों पर जाकर तालियां, थालियां और घंटियां बजाईं।

कोलकाता में 5 बजते ही घरों में यह नजारा दिखा।

इन सब के बीच पश्चिम बंगाल सरकार ने सोमवार  यानी 23 मार्च शाम 5 बजे से लेकर आगामी 27 मार्च रात 12 बजे तक राज्य के सभी बड़े शहरों में लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। बंगाल के 33 जिलों के लगभग सभी नगरपालिका वाले इलाकों में यह लॉकडाउन रहेगा। सभी जरूरी सेवाएं और चीजें जैसे- खाने पीने के सामान, पीने के पानी , इमरजेंसी सेवाएं, दवा की दुकानें, हॉस्पिटल को इस लॉकडाउन से बाहर रखा गया है। लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर छह-सात लोगों के एक साथ बिना काम के आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। सरकार के आदेश ना मानने वालों पर कानून के दायरे के अंतर्गत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कोलकाता में बाजार बंद हैं। रेस्टोरेंट से लेकर सारी दुकानें बंद हैं।

मेट्रो और लोकल ट्रेन में यात्रियों की संख्या न के बराबर
इमरजेंसी सेवाओं के लिए मेट्रो 8 मिनट के अंतराल के बदले 30 मिनट के अंतराल पर चल रही है। मेट्रो ट्रेनों में यात्रियों की संख्या न के बराबर है। हाल में शुरू हुई ईस्ट वेस्ट मेट्रो में सूनसान है। जनता कर्फ्यू के दौरान हलाँकि कुछ लोकल ट्रेनें चल रही है, लेकिन कंपार्टमेंट पूरी तरह खाली हैं। कोलकाता के निकटवर्ती शहरो सॉल्टलेक, बैरकपुर इत्यादि जगहों पर भी सड़कें पूरी तरह खाली हैं। 

Leave a Reply