MP Rajya Sabha election: interesting fight between Congress, BJP, know what is the game of statistics – मध्यप्रदेश राज्यसभा चुनाव: कांग्रेस-BJP के बीच दिलचस्प लड़ाई, जानें- क्या है आंकड़ों का गेम


खास बातें

  1. राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मध्यप्रदेश में होना है चुनाव
  2. बीजेपी और कांग्रेस की एक-एक सीट पर जीत तय है
  3. कांग्रेस की तरफ से दिग्विजय सिंह की जीत तय मानी जा रही है

नई दिल्ली:

राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मध्य प्रदेश में होने वाले चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच दिलचस्प लड़ाई देखने को मिलेगी, जहां कांग्रेस के कम से कम 22 विधायकों के बगावत के चलते कमलनाथ सरकार का भविष्य अधर में लटक गया है. वहीं, राज्य में तीन सीटों के लिए दोनों पार्टियों ने दो-दो प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं. दोनों पार्टियां विधायकों के संख्या बल के आधार पर आसानी से अपने एक-एक प्रत्याशियों को राज्यसभा भेज सकती है. जबकि तीसरी सीट के लिए कांग्रेस को बढ़त मिलती दिख रही थी लेकिन 22 विधायकों के विधानसभा से इस्तीफे के साथ संख्याबल के इस खेल में अनिश्चितता की स्थिति पैदा हो गई है.

मध्यप्रदेश : विधानसभा स्पीकर ने कांग्रेस के 22 बागी विधायकों में से 13 को नोटिस भेजा

इस्तीफा देने वाले अधिकतर विधायक ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक हैं, जिन्होंने कांग्रेस से मंगलवार को इस्तीफा देने के बाद बुधवार को भाजपा की सदस्यता ले ली. राज्य की 228 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस विधायकों की संख्या आधिकारिक रूप से 114 है, जबकि पार्टी को चार निर्दलीय, दो बहुजन समाज पार्टी और एक विधायक का समर्थन भी हासिल है. बेंगलुरु में डेरा डाले अगर 22 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया जाता है या राज्यसभा चुनाव में मतदान के दौरान वे अनुपस्थित रहते हैं तो विधानसभा में सदस्यों की संख्या 206 रह जाएगी.

दिग्विजय का राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन, कांग्रेस संकट में, आंकड़ों से बीजेपी जीत सकती है बाजी

टिप्पणियां

ऐसी स्थिति में कांग्रेस के पास सिर्फ 92 सदस्य होंगे, जबकि भाजपा के खेमें में 107 विधायक होंगे. उम्मीद है कि भाजपा के सिंधिया और कांग्रेस के दिग्विजय सिंह आसानी से जीत दर्ज कर लेंगे क्योंकि वे संभवत: अपनी-अपनी पार्टियों की पहली पसंद है. तीसरी सीट के लिए भाजपा के सुमेर सिंह सोलंकी और कांग्रेस के फूल सिंह बरैया के बीच मुकाबला होगा. सोलंकी की उम्मीदवारी की घोषणा मंगलवार को की गई और वह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े रहे हैं. वह संघ की विभिन्न योजनाओं के तहत राज्य के आदिवासी इलाको में काम कर रहे हैं. 

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल, बनाए गए राज्यसभा उम्मीदवार

Leave a Reply