Nirbhaya Rapists Hanged | | Nirbhaya Case Rapists Latest News Updates On Nirbhaya Delhi Gang Rape And Murder Case | निर्भया का सारा सामान और कपड़े तक ले गए थे दुष्कर्मी; राजस्थान से स्मार्टफोन तो बिहार से सोने की अंगूठी बरामद हुई थी


  • निर्भया के 6 दोषी थे, एक ने जेल में आत्महत्या कर ली, एक नाबालिग 3 साल की सजा काटकर छूटा; 4 दोषियों को फांसी की सजा
  • 16 दिसंबर 2012 को चलती बस में निर्भया के साथ गैंगरेप हुआ था, दुष्कर्मी निर्भया और उसके दोस्त का सारा सामान ले गए थे
  • मुख्य दोषी राम सिंह के पास से निर्भया की मां आशा देवी के नाम का डेबिट कार्ड मिला था, जो घटना के वक्त निर्भया के पास था

दैनिक भास्कर

Mar 20, 2020, 04:33 AM IST

नई दिल्ली. दरिंदों ने निर्भया के साथ किस हद तक हैवानियत की थी, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दुष्कर्मी उसके कपड़े उतार कर ले गए। बाद में इन्हीं कपड़ों से बस भी साफ की। फिर कपड़ों को जला दिया। इतना ही नहीं, दोषी निर्भया और उसके दोस्त का सारा सामान भी लूट ले गए थे। कुछ सामान बिहार के औरंगाबाद से मिला तो कुछ राजस्थान के करौली के गांव से। इसके अलावा दुष्कर्मी दिल्ली की जिस झुग्गी में रहते थे, उस रविदास कैंप से भी कई चीजें पुलिस ने बरामद की थीं। 

किसी ने फोन रखा तो किसी ने जूते-घड़ी
2012 की 16 दिसंबर की जिस रात को निर्भया के साथ दुष्कर्मियों ने दरिंदगी की थी। उसी रात उन्होंने एक और व्यक्ति (राम आधार) से भी लूट-पाट की थी। सभी 6 दोषी उस रात जमकर नशे में थे। रात करीब 9 बजे के बाद मुनरिका बस स्टैंड से निर्भया और उसके दोस्त जैसे ही बस में चढ़े, वैसे ही इन दोषियों ने उनके साथ बदतमीजी शुरू कर दी थी। एक ने पहले निर्भया के दोस्त को थप्पड़ लगाया। एक ने निर्भया को पकड़ा। फिर बारी-बारी से सबने निर्भया के साथ गैंगरेप किया। दोषियों ने उनसे सारा सामान छीन लिया। उनके कपड़े उतार लिए। गैंगरेप करने और लूटपाट करने के बाद दोषियों ने उन दोनों को बस से नीचे फेंक दिया। उसके बाद जितना भी सामान मिला था, सभी ने आपस में बांट लिया। दोषी अक्षय निर्भया के दोस्त की चांदी और सोने की अंगूठी लेकर बिहार चला गया। मुकेश सिंह निर्भया के दोस्त का स्मार्टफोन लेकर राजस्थान के करौली में अपने गांव निकल गया। मुख्य दोषी राम सिंह ने निर्भया की मां का डेबिट कार्ड रख लिया था। जबकि, नाबालिग दुष्कर्मी ने 11 रुपए रख लिए थे।

 

दोषियों के पास निर्भया और उसके दोस्त का क्या सामान मिला था?

दोषी क्या सामान मिला कहां से
राम सिंह

निर्भया की मां आशा देवी के नाम का डेबिट कार्ड।

रविदास कैंप, आरके पुरम, दिल्ली
मुकेश सिंह निर्भया के दोस्त का सैमसंग स्मार्टफोन। करौली, राजस्थान
अक्षय ठाकुर निर्भया के दोस्त की चांदी और सोने की अंगूठी। औरंगाबाद, बिहार
विनय शर्मा निर्भया के दोस्त के जूते। निर्भया का नोकिया मोबाइल फोन। रविदास कैंप, आरके पुरम, दिल्ली
पवन गुप्ता निर्भया के दोस्त की सोनाटा घड़ी और 1000 रुपए। रविदास कैंप, आरके पुरम, दिल्ली

दुष्कर्मियों ने मोबाइल, डेबिट-क्रेडिट कार्ड, घड़ी, अंगूठी, जूते सब छीन लिए
निर्भया के दोस्त ने गैंगरेप के तीन दिन बाद यानी 19 दिसंबर 2012 को दोपहर 3:30 बजे अपना बयान दर्ज कराया था। उसके मुताबिक, ‘‘दुष्कर्मियों ने उसके पास से सैमसंग के दो स्मार्टफोन, वॉलेट (जिसमें 1000 रुपए थे), सिटी बैंक का क्रेडिट कार्ड, आईसीआईसीआई बैंक का डेबिट कार्ड, कंपनी आईडी कार्ड, दिल्ली मेट्रो का स्मार्ट कार्ड छीन लिया था। इसके साथ ही एक सोने और एक चांदी की अंगूठी, कपड़े और जूते भी छीन लिए थे। दुष्कर्मियों ने निर्भया का नोकिया मोबाइल और पर्स भी छीन लिया था। वे निर्भया और उसके दोस्त की घड़ी भी ले गए थे।’’