Over 2,000 delegates attended the Tabligh-e-Jamaat congregation 200 Case corona suspected | निजामुद्दीन स्थित मरकज में दो हजार लोग पहुंचे, इनमें से 200 कोरोना संदिग्ध; अब बाकियों को निकाला जा रहा


  • निजामुद्दीन स्थित मरकज में लॉकडाउन से पहले ही मलेशिया, इंडोनेशिया जैसे देशों और भारत के कई राज्यों से लोग आए
  • निजामुद्दीन स्थित मरकज इस्लाम की शिक्षा का का दुनिया का सबसे बड़ा केंद्र, यहीं पास में निजामुद्दीन औलिया की मजार
  • यहां 200 लोगों को कोरोना संक्रमण की जांच के लिए भेजा गया, पूरा इलाका सील किया गया

दैनिक भास्कर

Mar 30, 2020, 10:00 PM IST

दिल्ली. निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के धार्मिक आयोजन में इंडोनेशिया और मलेशिया जैसे देशों से आए 2 हजार लोगों ने हिस्सा लिया। इनमें से 200 लोगों को कोरोना से संक्रमित होने की आशंका है। इस पूरे इलाके से 1200 लोगों को अभी निकाला जा रहा है। संदिग्धों को जांच के लिए अस्पताल भेजा गया है। इन्हें सर्दी, खांसी और जुकाम की शिकायत है। तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल दो हजार लोगों में से कुछ लोग अपने राज्यों में चले गए थे। लेकिन, यहां से जाने वालों में 6 कोरोना पॉजिटिव पाए गए और एक व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। स्वास्थ्य विभाग, विश्व स्वास्थ्य संगठन, नगर निगम और दिल्ली पुलिस की टीम मरकज से लोगों को निकालने का काम कर रही है। 
निजामुद्दीन का यह मरकज इस्लाम की शिक्षा का दुनिया का सबसे बड़ा केंद्र है, यहां कई देशों के लोग आते रहते हैं। मरकज से कुछ ही दूर पर सूफी निजामुद्दीन औलिया की मजार है, लेकिन इन दिनों दरगाह पूरी तरह बंद है।

यहां से जाने वाले 6 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे

तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल दो हजार लोगों में से कुछ लोग अपने राज्यों में चले गए थे। लेकिन, यहां से जाने वालों में 6 कोरोना पॉजिटिव पाए गए और एक व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। स्वास्थ्य विभाग, डब्ल्यूएचओ, नगर निगम और पुलिस की टीमें यहां से लोगों को निकालने का काम कर रही हैं।

मरकज में रहने वाले ज्यादातर लोगों की उम्र 60 से ऊपर
पुलिस ने बताया कि लॉकडाउन से पहले ही यहां से भीड़भाड़ हटाने के लिए प्रयास किए जा रहे थे और लोगों से अपील की जा रही थी। लेकिन, तब्लीगी मरकज में जमा लोगों ने बात नहीं सुनी। यहां रहने वाले लोगों में ज्यादातर लोगों की उम्र 60 साल से ऊपर है। 

मरकज के आसपास का इलाका पूरी तरह सील
मरकज के आसपास के इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है। जिन लोगों को जांच के लिए ले जाया गया है, उनमें बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन के करीब 100 विदेशी नागरिक शामिल हैं। पुलिस इस इलाके पर ड्रोन से निगरानी रख रही है।