Panipat News In Hindi : Haryana Coronavirus Lockdown Live | Read Corona Virus Lockdown Day 3 {Curfew} In Haryana Karnal Rohtak Yamuna Nagar Rewari Panipat Latest News and Updates | पैदल घर जा रहे आठ प्रवासी मजदूरों को गाड़ी ने कुचला; एक्सप्रेसवे पर हुए हादसे में एक बच्चे समेत पांच लोगों की मौत


  • बड़ी संख्या में प्रवासियों के पैदल जाने की खबर आने के बाद सरकार ने रोडवेज की बसें भेजने की बात कही
  • गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, रेवाड़ी के बॉर्डर पर लगी घर यूपी-बिहार और अन्य राज्यों में जाने वालों की कतारें

दैनिक भास्कर

Mar 29, 2020, 05:26 PM IST

पानीपत. कोरोनावायरस संक्रमण रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के कारण सबसे ज्यादा समस्या प्रवासी मजदूरों को झेलनी पड़ रही है। वे सरकार की अपील के बावजूद शहरों में रुक नहीं रहे हैं। हरियाणा के हाइवे पर लोगों की भीड़ देखी जा सकती है। कई लोग पैदल ही दूसरे राज्यों की तरफ रवाना हो गए। इस दौरान रविवार सुबह एक दुखद घटना सामने आई। नूंह से होकर गुजरने वाले कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे पर आठ लोगों को एक गाड़ी ने कुचल दिया। इसमें एक बच्चे समेत पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन गंभीर रूप से घायल हैं। ये सभी मजदूर थे और दिल्ली से अपने गांव जाने के लिए पैदल निकले थे।

इस बीच, हरियाणा सरकार की तरफ से कहा गया कि प्रवासियों को ले जाने के लिए रोडवेज ने 825 बसों को रवाना किया है। सोनीपत से 110, रेवाड़ी से 80, जींद से 34 बसों सहित उन जिलों से बसें रवाना की गई, जहां प्रवासी मजदूरों की संख्या ज्यादा है। हरियाणा के ट्रांसपोर्ट कमिश्नर वीरेंद्र दहिया ने कहा कि हरियाणा के 12 जिलों से 1009 बसों को चयनित किया गया था। इनमें से 825 बसों को रवाना कर दिया गया। ये बसें यूपी तक गईं। सभी बसों को धोकर, सेनिटाइज करके रवाना किया गया। ये बसें यूपी प्रशासन को हैंड ओवर कर दी गईं। कुछ बसें यूपी के लखनऊ, कानपुर आदि जिलों पहुंच चुकी हैं।

रोहतक में प्रवासी मजदूरों को जाने से रोकने की अपील करते हुए पुलिस अधिकारी।

फरीदाबाद, पलवल, गुरुग्राम और सोनीपत में प्रवासियों की भीड़

दिल्ली से सटे फरीदाबाद, पलवल, गुरुग्राम और सोनीपत में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं। ज्यादातर मजदूर अपने बच्चों, परिवार के अन्य सदस्यों व कुछ सामान सिर पर लादकर ही निकले हुए हैं। प्रशासन ने लोगों से रुकने की अपील की, लेकिन वे नहीं मान रहे। कुछ लोग दिल्ली से होकर गुरुग्राम के रास्ते यूपी जा रहे हैं, तो कुछ पलवल के रास्ते मथुरा की तरफ बढ़ रहे हैं। सोनीपत के राई में बड़ी औद्योगिक इकाइयां होने के कारण वहां से भी मजदूर पलायन कर रहे हैं। गुरुग्राम और फरीदाबाद में बसों की व्यवस्था भी की गई थी। 

रेवाड़ी में कार सवार से पूछताछ करते हुए पुलिसकर्मी। 

रेवाड़ी में भी प्रशासन ने की बसों की व्यवस्था

रेवाड़ी में जिला प्रशासन ने प्रवासियों के लिए करीब 80 बसों की व्यवस्था की है। ये बसें उन्हें दिल्ली, यूपी और राजस्थान बॉर्डर पर छोड़ेंगी। हालांकि, बाकी लोगों के लिए शहर में पुलिस सख्ती दिखा रही है। लोग कम ही बाहर निकल रहे हैं। 

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह गरीबों को खाना बांटते हुए।

अम्बाला, कैथल और कुरुक्षेत्र में व्यवस्था सामान्य

अम्बाला, कुरुक्षेत्र और कैथल जिले में व्यवस्था सामान्य है। अम्बाला में एक केस पॉजिटिव मिला है। इससे यहां लोगों में डर का माहौल है। पुलिस सख्ती दिखा रही है। कुरुक्षेत्र में राशन, दूध व सब्जी से जुड़ी दुकानें खुल रही हैं। शहरों की झुग्गियों में सामाजिक संस्थाओं द्वारा राशन व खाना पहुंचाया जा रहा है। शहर में रहने वाले बाबाओं को धर्मशालाओं में रहने की हिदायत दी गई है। वहीं, कैथल में भी हालात काबू में है। जरूरत की चीजें मिल रही हैं।

सब्जियों के दाम बढ़ने से परेशानी

कोरोनावायरस के बचाव के लिए 21 दिन के लॉकडाउन का रविवार को पांचवां दिन है। वहीं, प्रशासन अभी तक भी सब्जियों के दामों पर लगाम नहीं लगा सका है। गांव-देहात में सब्जी बेचने जा रहे लोग मनमाने दाम वसूल रहे हैं। कुछ जगह राशन की दुकानें भी खाली नजर आने लगी हैं। थोक विक्रेताओं की शिकायत है कि उन तक सप्लाई नहीं आ रही है। ऐसे में आम लोगों को भी कुछ जगह परेशानी हो रही है।