Panipat News In Hindi : Haryana Coronavirus Lockdown Live | Read Corona Virus Lockdown Day 6 {Curfew} In Haryana Karnal Rohtak Yamuna Nagar Rewari Panipat Latest News and Updates | केंद्र की सख्ती के बाद बदली तस्वीर, सड़कों पर कोई प्रवासी मजदूर नहीं; जगह-जगह शेल्टर होम में ठहराए गए


  • हरियाणा के सभी बॉर्डर सील, दिल्ली से सटे जिलों में पुलिस की सख्ती नजर आई
  • राज्य में सोमवार सुबह तक 21 मरीज मिले, इनमें सबसे ज्यादा 10 गुड़गांव से हैं

दैनिक भास्कर

Mar 30, 2020, 06:31 PM IST

पानीपत. लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने के केंद्र के निर्देश का असर सोमवार को हरियाणा की सड़कों पर दिखाई दिया। लॉकडाउन के छठे दिन सड़कें पूरी तरह सुनसान रही। हर जिले की सीमा पर पुलिस ने सख्ती बढ़ा दी। खासकर दिल्ली से सटे गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत, रेवाड़ी, झज्जर जिले में पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेडिंग कर रोड बंद कर दिए हैं। इससे प्रवासी मजदूरों सड़कों से नदारद रहे, उन्हें कैंप (शेल्टर होम) में ठहराया जा रहा है।

हरियाणा पुलिस ने स्टेट हाइवे को सील कर दिया है। 

गुड़गांव में निगम ने 23 शेल्टर होम बनाए
नगर निगम ने गुड़गांव में 23 शेल्टर होम तैयार किए हैं। पुलिस की निगरानी में रविवार शाम से मजदूरों का यहां ठहरना शुरू हो गया। शेल्टर होम में उनके लिए खाने की व्यवस्था है। सड़क पर से गुजर रहे प्रवासी मजदूरों को इनमें रोका जा रहा है। इससे पहले रविवार को भी बड़ी संख्या में लोग गुड़गांव से यूपी-बिहार के लिए पैदल जाते नजर आए थे। पुलिस ने डीएसपी लेवल के अधिकारियों को दिल्ली से सटी सीमा पर तैनात किया है। ताकि सख्ती से लॉकडाउन का पालन कराया जा सके। 

करनाल में राधा स्वामी सत्संग भवन में शेल्टर होम बनाया गया है। 

करनाल में तीन जगह शेल्टर होम बनाए
करनाल में डीसी निशांत कुमार यादव ने सभी फैक्ट्री और मिल मालिकों को आदेश दिए हैं कि वे किसी भी मजदूर को न निकालें। ऐसा करने पर कार्रवाई होगी। लाइसेंस रद्द होगा और केस भी दर्ज होगा। वहीं, करनाल में नेशनल हाइवे के पास तीन शेल्टर होम बनाए गए हैं। तीनों में करीब 5 हजार मजदूर पहुंच चुके हैं। इनके खाने-पीने और रहने की व्यवस्था की जा रही है।

करनाल के डीसी निशांत कुमार यादव व्यवस्था की जायजा लेते हुए। 

रेवाड़ी के स्कूलों को शेल्टर होम बनाया
जिला प्रशासन ने रेवाड़ी में 24 स्कूलों की सूची बनाई है, जिन्हें लोगों की संख्या के आधार पर शेल्टर होम में बदला जाएगा। फिलहाल एक स्कूल को शेल्टर होम बनाया गया है। इस पर खुद मंत्री बनवारी लाल नजर बनाए हुए हैं। राजस्थान से लगती सीमा को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।

13273 लोग लौटे हैं विदेश से
हरियाणा में अभी तक 13273 लोग विदेश से लौटे हैं। वहीं 243 लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। 666 सैंपल टेस्टिंग के लिए भेजे गए थे, इनमें से 459 नेगेटिव मिले थे, 22 पॉजिटिव मिले जबकि 187 की रिपोर्ट का इंतजार है। पॉजिटिव मिले लोगों में सबसे ज्यादा 10 गुरुग्राम से हैं, इसके बाद पानीपत में 4, फरीदाबाद में 4, अम्बाला, पंचकूला, पलवल, सोनीपत में 1-1 मरीज मिला है। गुरुग्राम से 5 मरीजों और फरीदाबाद से 1 मरीज को ठीक होने पर घर भेजा जा चुका है।

लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 610 पर एफआईआर दर्ज
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने बताया कि राज्य में लॉकडाउन के दौरान आवश्यक और आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सभी सार्वजनिक गतिविधियों पर प्रतिबंध है। हालांकि राज्य और राष्ट्रीय राजमार्गों पर वाहनों में कार्गो आवाजाही को अनुमति है। इसे ध्यान में रखते हुए लोगों को अनावश्यक रूप से सड़क पर घूमने से बचना चाहिए। लॉकडाउन के उल्लंघन के संबंध में अबतक 610 एफआईआर दर्ज कर 745 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। 3407 वाहनों को भी जब्त किया गया है।

अब तक 21 पॉजिटिव मिले, 12 हजार से ज्यादा लोग विदेश से लौटे

हरियाणा में सोमवार सुबह तक 21 पॉजिटिव मिल चुके हैं। इनमें सबसे ज्यादा 10 गुड़गांव से हैं। इसके बाद पानीपत में 4, फरीदाबाद में 3, अम्बाला, पंचकूला, पलवल, सोनीपत में एक-एक मरीज मिला है। राज्य में में मार्च महीने में 12521 लोग विदेश से लौटे हैं। इनकी स्क्रीनिंग की जा रही है।