Positive results of Lockdown in India, situation better than developed countries: Health Ministry – कोरोना को लेकर लोकल ट्रांसमिशन की स्टेज में भारत, अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं: स्वास्थ्य मंत्रालय

Positive results of Lockdown in India, situation better than developed countries: Health Ministry – कोरोना को लेकर लोकल ट्रांसमिशन की स्टेज में भारत, अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं: स्वास्थ्य मंत्रालय


कोरोना को लेकर लोकल ट्रांसमिशन की स्टेज में भारत, अभी कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं: स्वास्थ्य मंत्रालय

Coronavirus संक्रमण रोकने के लिए देश में लॉकडाउन करने के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं.

खास बातें

  • हमारे देश में 100 से 1000 केस तक पहुंचने में 12 दिन लगे
  • विकसित देशों में इतने दिनों में 3500, 5000, 8000 तक केस
  • गाइड लाइन पर 100 प्रतिशत अमल होना जरूरी

नई दिल्ली:

स्वास्थ्य मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल का दावा है कि कोराना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को रोकने के लिए देश में किए गए लॉकडाउन के कुछ हद तक पॉजिटिव रिजल्ट मिल रहे हैं. विकसित देशों में जो तेज़ी से आंकड़ा बढ़ा, वैसा हमारे यहां नहीं है. सौ से 1000 केस तक जाने में हमारे देश में 12 दिन लगे. जबकि विकसित देशों में इतने ही दिनों में 3500, 5000, 8000  केस आए हैं. 

लव अग्रवाल ने कहा कि देश में लॉकडाउन का असर दिखा है. कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 1071 मामले सामने हैं और 29 लोगों की मौत हुई हैं.  उन्होंने कहा कि 24 घंटे में 92 नए मामले आए. हमारे देश में 100 से 1000 केस तक पहुंचने में 12 दिन लगे. विकसित देशों में इतने दिनों में 3500, 5000, 8000 तक केस आए हैं.

अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए समाज के हर व्यक्ति का सहयोग चाहिए. अगर एक भी व्यक्ति छूटता है, सहयोग नहीं करता है तो जीरो पर आ जाएंगे. गाइड लाइन पर 100 प्रतिशत अमल हो. यदि 99 फीसदी हुआ तो सब बेकार हो जाएगा. सौ फीसदी एफर्ट की ज़रूरत है.

उन्होंने कहा कि 10 empowered ग्रुप बनाए गए हैं. एम्स और nimhans की तरफ से ट्रेनिंग दी जा रही है. जो बुजुर्ग हैं..और जिन्हें कोई बीमारी है…वे ज़्यादा खतरे में हैं. इस वायरस के लिए टेस्टिंग फैसिलिटी, डेडिकेटेड covid हॉस्पिटल बनाने की हमारी प्राथमिकता है. 38442 टेस्ट हुए हैं. 115 आईसीएमआर की लैब टेस्ट कर रही हैं. 47 प्राइवेट लैब में 1334 लोगों के टेस्ट हुए हैं.

लव अग्रवाल ने कहा कि सरकारी डाक्यूमेंट में अगर हम कम्युनिटी लिख देते हैं तो लोग अलग तरीके से लेने लगते हैं. अभी हमारा देश लोकल ट्रांसमिशन की स्टेज में है. जो फिगर आ रहे हैं, बता रहे हैं कि हमारी दिशा ठीक है और इसी को बरकरार रखने की कोशिश होनी चाहिए.

दिल्ली के निजामुद्दीन को लेकर उन्होंने कहा कि हमारे प्रोटोकॉल के हिसाब से एक्शन लेते हैं. निज़ाममुद्दीन या कहीं भी हो तो टीम जाती है और containment strategy के तहत काम करते हैं. उन्होंने कहा कि लॉक डाउन को लेकर कैबिनेट सेक्रेटरी ने जो कहा, उसके बारे में कुछ नहीं कह सकता. आज की बात करूंगा कि जिस दिशा में जा रहे हैं, पॉजिटिव परिणाम मिल रहे हैं.

VIDEO : लॉकडाउन को लेकर दिल्ली पुलिस हुई सख्त

Leave a Reply