Rajasthan News In Hindi : Jaipur Coronavirus Latest News; Rajasthan (Lockdown) Update | Rajasthan Under Coronavirus Lockdown; Five Things To Know | सावचेत रहणो ही ई बीमारी को इलाज: पूरा भीलवाड़ा आइसोलेट, 27 मार्च तक 30 लाख की आबादी की स्क्रीनिंग होगी


  • दुनिया में पहला मौका है, जब किसी महामारी की वजह से लॉकडाउन हो रहा
  • दुनिया में पहला लॉकडाउन अमेरिका में 9/11 हमले के बाद किया गया था

दैनिक भास्कर

Mar 22, 2020, 04:29 PM IST

जयपुर/भीलवाड़ा. कोरोनावायरस के चलते राजस्थान के इतिहास में पहली बार लॉकडाउन किया गया है। दवा, किराना, मीडिया और चिकित्सा जैसी जरूरी सेवाएं छोड़कर सबकुछ बंद रहेगा। ऐसा भी पहली बार हो रहा है, जब किसी महामारी की वजह से लॉकडाउन किया गया है। इसकी वजह यह है कि भीलवाड़ा से कोरोना चेन बनी है। यहां एक संक्रमित डॉक्टर के जरिए 13 लोगों में संक्रमण फैला। फिर 6 हजार लोगों की स्क्रीनिंग करानी पड़ी। शनिवार को बांगड़ हॉस्पिटल के 5 और नर्सिंगकर्मी पॉजिटिव मिले। शुक्रवार को भी इसी अस्पताल के 3 डॉक्टर समेत 6 लोग पीड़ित पाए गए थे। इन्हीं में से एक डॉक्टर की पत्नी और एक डॉक्टर के भाई को भी कोरोना पॉजिटिव मिला है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीमें भी यहां पहुंच गई हैं। अगले 72 घंटे क्रिटिकल माने जा रहे हैं।

अब पूरा जिला आइसोलेट, हर घर का हाेगा सर्वे
भीलवाड़ा जिले को आइसोलेट करने के साथ पूरी 30 लाख की आबादी का सर्वे कर स्क्रीनिंग शुरू कर दी गई है। कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने बताया कि भीलवाड़ा शहर में 300 टीमों ने 2 दिन में 40 हजार से ज्यादा परिवारों का सर्वे किया है। 27 मार्च तक जिले की स्क्रीनिंग कर ली जाएगी। अभी 722 लोग सामान्य खांसी-जुकाम से पीड़ित पाए गए हैं। 32 ऐसे लोगों का पता भी चला है जो हाल ही में विदेश से लौटे हैं या किसी विदेशी के संपर्क में आए हैं।

सोडियम हाइपोक्लोराइट घोल के छिड़काव की जरूरत

भीलवाड़ा में काेराेना की भयावह स्थिति यानी स्टेज-3 काे देखते हुए डब्ल्यूएचओ और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधीन काम करने वाले नेशनल सेंटर ऑफ डिसीज कंट्राेल की टीम शनिवार सुबह भीलवाड़ा आई। डब्ल्यूएचओ  की टीम यह आकलन करने में लगी है कि बीमारी कितनी फैल सकती है और कैसे कंट्राेल किया जा सकता है? डिसीज कंट्राेल टीम ने एमजी हाॅस्पिटल में भर्ती पाॅजिटिव, संदिग्ध मरीजों सहित आउटडोर में आने वाले मरीजाें की बीमारी, इलाज, वर्किंग, एफर्ट का दाेपहर तक एनालिसिस किया और दिल्ली के लिए रवाना हाे गई। इन सभी बिंदुओं के आधार पर टीम एक रिपाेर्ट तैयार कर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय काे साैंपेगी। एक्सपर्ट के अनुसार सोडियम हाइपोक्लोराइट घोल के 1% छिड़काव की जरूरत है। लेकिन अभी तक अफसरों का ध्यान इस ओर नहीं गया। दिल्ली सहित देश के कई हिस्सों में लगे टीमों के एक्सपर्ट से बातचीत की तो पता लगा कि चीन के कुछ शहरों में ऐसे ही हालात बनने पर छिड़काव करने से स्थिति नाजुक होने से बची थी।

300 लाेग अस्पताल पहुंचे, अफसराें ने हाथ पर सील लगाई

बांगड़ हाॅस्पिटल में भर्ती मरीज और वहां काम करने वाले करीब 300 पुरुष व महिलाएं अलग-अलग समय एमजी हाॅस्पिटल पहुंचे और खुद काे भर्ती करने की बात कही। एमजी हाॅस्पिटल से उन्हें पर्ची बनाकर सीएमएचओ ऑफिस जाने के लिए कहा। जब वे वहां पहुंचे ताे उनका नाम, पता और माेबाइल नंबर लिए और हाथ पर सील लगाकर घर जाने के लिए कहा।

सावचेत रहणो ही ई बीमारी को इलाज
राजस्थानी में यह अपील कवि डॉ. कैलाश मंडेला के शब्दों में 

‘‘आज देस, समाज अर सकल जगत पर कोरोना वायरस रो संकट घेरो घाल्यो है। 
मिनखजूण पर आई ईं आफत हूं आपां सगळा ने मिल कर लड़णो है। 
या लड़ाई अस्या दुसमण सूं है जींने हाल तांई कोई नी पिछाण सक्यो है। 
ईं सूं जीतबा रो केवल एक ही तरीको है, अर ऊ है भीड़ अर दूजा मिनखां सूं दूरी राखतां हुयां थोड़ा समय रे वास्ते खुद रे घरां मांय सावचेत हो’र रहणो। 
एक निवेदन आप सूं और है कि आपां सगळां री रक्षा, सुरक्षा अर सेवा म लाग्योड़ा सैनिक, पुलिस, चिकित्सा कर्मी, संगठन, व्यापारी अर समाज सेवियां रो हौसलों बढ़ाबा सारूं शाम पांच बज्यां अपणी भावना ने आप जरूर प्रगट करो।’’

लॉकडाउन क्या है?

दुनिया में सबसे पहला लॉकडाउन अमेरिका ने 9/11 आतंकी हमले के बाद तीन दिन के लिए किया था। इसके बाद 2013 को बोस्टन को आतंकियों की खोज के लिए लॉकडाउन किया गया था। नवंबर 2015 में पेरिस हमले के बाद संदिग्धों को पकड़ने के लिए ब्रुसेल्स लॉकडाउन किया गया था।

  • लॉकडाउन वह व्यवस्था है, जो महामारी या किसी आपदा के वक्त शहर में सरकारी तौर पर लागू होती है।
  • लॉकडाउन में उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती, उन्हें सिर्फ दवा या अनाज जैसी जरूरी चीजों के लिए बाहर आने की इजाजत मिलती है। बैंक से पैसा निकालने भी जा सकते हैं। 

लॉकडाउन का असर 5 सवालों से समझें

1. मेरी राेजमर्रा की जरूरताें का क्या हाेगा, क्या उपलब्ध होंगी? 
जवाब-
सब्जी, दूध, दवाएं आदि राेज काम आने वाली जरूरी वस्तुएं इस लाॅकडाउन से बाहर रहेंगी। 

2. मैं पार्क में वाॅक कर सकूंगा और दूसरे रोजमर्रा के काम?
जवाब- यह लाॅकडाउन आपकी जिंदगी काे अधिक सुरक्षित बनाने के लिए है। आप घर से बाहर जाएंगे ताे दूसराें के संपर्क में आ जाएंगे, जाे आपकी सेहत के लिए जानलेवा भी हाे सकता है। लाॅकडाउन इसीलिए है। अति आवश्यक हाेने पर ही आपकाे अपने घर से बाहर निकलना हाेगा।

3. क्या मैं अपने वाहन से बाहर जा सकूंगा?
जवाब- लाॅकडाउन का मतलब ही यही है कि आप अपनी चार दीवारी में सीमित हाे जाएं। हां, किसी आवश्यक काम जैसे मेडिकल इमरजेंसी में एंबुलेंस की सेवाएं ली जा सकती हैं। काेई अन्य आपातकाल हाे ताे आपकाे सुरक्षा-व्यवस्था से जुड़े प्रशासन के लाेगाें से मदद लेनी हाेगी।

4. परिवार में वैवाहिक कार्यक्रमाें का क्या हाेगा? 
जवाब- अभी काेराेनावायरस से वैसे ही हालात खराब हैं। ऐसे में किसी भी सामूहिक सामाजिक कार्यक्रम के आयाेजन की अनुमति ही नहीं है। आवश्यक ही हाे ताे इसकी मंजूरी स्थानीय प्रशासन से लेनी हाेगी।

5. क्या लाॅकडाउन में सरकारी और प्राइवेट संस्थान बंद हैं?
जवाब- सब बंद हैं। सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े विभाग के ऑफिस ही खुले रहेंगे।


जनता कर्फ्यू के दिन देश और आपके राज्य में क्या हैं हाल…

#1. जनता कर्फ्यू LIVE / देश थमा: मोदी की अपील- कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं; कश्मीर पुलिस बोली- खुद न निकलें, पड़ोसियों को भी ताकीद दें

#2. राजस्थान में जनता कर्फ्यू LIVE / भरतपुर के मंदिरों में लगे ताले, 31 मार्च तक रहेंगे बंद, जोधपुर रेलवे स्टेशन पर नहीं मिल रहे ऑटो; जयपुर में दूध-किराना की दुकानों पर भीड़

#3. मध्यप्रदेश में जनता कर्फ्यू LIVE / इंदौर में निगम कर्मचारी शहर साफ कर रहे, खंडवा में हो रहा दवा का छिड़काव

#4. छत्तीसगढ़ में जनता कर्फ्यू LIVE / शहरों की सड़कें सूनी, शाम 5 बजे बजाया जाएगा सायरन; घरों की छतों, बालकनी और खिड़कियों से लोग कहेंगे- शुक्रिया

#5. तस्वीरों में जनता कर्फ्यू LIVE / सब कुछ बंद, सब कुछ ठहरा; देश में ऐसा पहली बार जब किसी कर्फ्यू के लिए जनता खुद ही तैयार है

#6. महाराष्ट्र में जनता कर्फ्यू LIVE / मुंबई स्टेशन पर आज सिर्फ ट्रेनों और अनाउंसमेंट की आवाज, यात्री एक भी नहीं; इंडस्ट्रियल हब मगरपट्टा में भी सन्नाटा

#7. बिहार-झारखंड में जनता कर्फ्यू LIVE / पटना-रांची समेत प्रमुख शहरों में सड़कों पर सन्नाटा; मॉल और दुकानें बंद, बाहर निकलने वालों को पुलिस समझा रही

#8. यूपी में जनता कर्फ्यू LIVE / मेट्रो, बसें और पेट्रोल पंप बंद; लखनऊ में पुलिस लोगों को जरूरी निर्देश दे रही, काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर सिर्फ सुरक्षाकर्मी नजर आए