Ranchi Dhanbad Coronavirus Lockdown Live | Read Corona Virus Lockdown {Curfew} In Jharkhand Ranchi Jamshedpur Dhanbad (COVID-19) Cases News and Updates | तब्लीगी मरकज में सोरेन के मंत्री हाजी हुसैन का बेटा भी शामिल हुआ था, पूरा परिवार होम क्वारैंटाइन

Ranchi Dhanbad Coronavirus Lockdown Live | Read Corona Virus Lockdown {Curfew} In Jharkhand Ranchi Jamshedpur Dhanbad (COVID-19) Cases News and Updates | तब्लीगी मरकज में सोरेन के मंत्री हाजी हुसैन का बेटा भी शामिल हुआ था, पूरा परिवार होम क्वारैंटाइन


  • मंत्री परिवार का ब्लड सैंपल जांच के लिए रिम्स भेजा, तब्लीगी मरकज में शामिल होने वाले जमातियों के खिलाफ एक्शन जारी
  • सवाल: बाकी कैबिनेट और अन्य विधायकों में से वे किसके संपर्क में आए थे और क्या उनकी भी जांच की जाएगी

दैनिक भास्कर

Apr 02, 2020, 02:39 PM IST

रांची/जमशेदपुर/धनबाद. 21 दिन के लॉकडाउन के नौंवे दिन गुरुवार को तब्लीगी मरकज में शामिल होकर झारखंड लौटने वाले जमातियों के खिलाफ पुलिस का एक्शन जारी है। उधर, तबलीगी मरकज में शामिल होकर लौटे हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल में शामिल हाजी हुसैन के बेटे का भी नाम शामिल है। मंत्री परिवार को एतिहात के तौर पर परिवार समेत होम क्वारैंटाइन किया गया है। गुरुवार सुबह राजधानी रांची, जमशेदपुर, धनबाद सहित अन्य जिलों के बाजारों में अन्य दिनों के मुकाबले भीड़ कम देखी गई। पुलिस अब बाजारों व सड़कों पर सख्ती बरत रही है। हालांकि कुछ जगहों बाजारों में रामनवमी को लेकर चहल-पहल दिखी।

दिल्ली में तब्लीगी जमात के मरकज से झारखंड लौटने वालों की सूची में मधुपुर से झामुमो विधायक व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के बेटे का भी नाम है। हालांकि, मंत्री व उनके पुत्र दोनों ने ही इस बात से साफ इनकार किया है। मंत्री के बेटे का कहना है कि वे 1993 के बाद कभी दिल्ली गए ही नहीं। राज्य पुलिस की विशेष शाखा ने सभी जिलों के डीसी को तब्लीगी जमात में शामिल लोगों की सूची सौंपी थी। जिला प्रशासन ने मंत्री पुत्र व सूची के दूसरे व्यक्ति मोहम्मद अब्बास का ब्लड सैंपल जांच के लिए रिम्स भेजा है। साथ ही मंत्री हाजी हुसैन अंसारी, उनके बेटे व पूरे परिवार को होम क्वारैंटाइन किया गया है। मंत्री हाजी हुसैन अंसारी अपने बेटे मोहम्मद तनवीरुल हसन के साथ थाने पहुंचे। उन्होंने कहा कि उनके पुत्र का तबलीगी जमात से कोई लेनादेना नहीं है। मंत्री के होम क्वारैंटाइन होने के बाद ये सवाल भी उठने लगे हैं कि बाकी कैबिनेट व अन्य विधायकों में से वे किसके संपर्क में आए थे और क्या उनकी भी जांच की जाएगी।

धनबाद के रणधीर वर्मा चौक स्थित मंदिर को बंद कराने पहुंची पुलिस।

झारखंड में एक दिन में 212 संदिग्ध मिले, ज्यादातर मरकज से लौटे हैं
राज्य में बुधवार को एक दिन में सबसे अधिक 212 संदिग्ध पकड़े गए और सबसे अधिक सैंपल जांच भी की गई। रिम्स में 70 और एमजीएम जमशेदपुर में 42 संदिग्धों के ब्लड सैंपल की जांच हुई। इनमें 111 की रिपोर्ट निगेटिव है, जबकि एक रिपोर्ट पेंडिंग है। विभिन्न जिलों में पकड़े गए संदिग्धों को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। ज्यादातर वैसे लोग हैं, जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के जलसे में शरीक हुए हैं। इनमें विदेशी के अलावा देश के विभिन्न राज्यों के 22 धर्मप्रचारक शामिल हैं। जलसे से लौटे रांची के तीन युवकों को रिम्स में क्वारैंटाइन किया गया है। इधर, पुलिस-प्रशासन ने योगदा सत्संग, रामकृष्ण मिशन आश्रम और मस्जिदों की जांच की, पर कोई विदेशी नहीं मिला।

जमशेदपुर के आजाद नगर में कोरोना संदिग्ध को ले जाती पुलिस व डॉक्टरों की टीम।

इन जिलों में संदिग्ध मिले

बोकारो 14
धनबाद 22
घाटशिला 05
चक्रधरपुर 06
चाईबासा 21
जमशेदपुर 24
बोकारो 14
खूंटी 06
सिमडेगा 26
गुमला 02
रामगढ़ 03
गढ़वा 01
चतरा 13
कोडरमा 24

70 पर केस
कोडरमा :
चंदवारा में होम क्वारैंटाइन नहीं माना, 60 पर केस।
गढ़वा : बंशीधर नगर में क्वारेंटाइन सेंटर से 9 भागे, मुखिया पर भी केस

48 घंटे में पहुंचेंगे 5 हजार पीपीई, 10 हजार टेस्ट किट
एनआरएचएम के डायरेक्टर फाइनांस नरसिंह खलखो ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने 200 थर्मल स्कैनर मंगाए हैं। मायोलैब से 10 हजार टेस्ट किट और 30 हजार पीपीई किट का ऑर्डर है। 5000 किट झारखंड भवन में है। एक-दो दिनों में यहां पहुंच जाएंगे।

रांची: रामनवमी में कोरोना बना रोड़ा
राजधानी रांची में रामनवमी महोत्सव को निकलने वाली शोभायात्रा इस बार नहीं दिखेगी। कोरोनावायरस की वजह से पूरे शहर में धारा 144 लागू किया गया है। लॉकडाउन की वजह से लोगों को अपने घरों में ही पूजा पाठ करने की सलाह दी गई है। पुलिस लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने में जुटी है। शहर में लॉकडाउन को देखते हुए रामनवमी पर निवारणपुर स्थित श्रीराम जानकी तपोवन मंदिर के कपाट नहीं खोले गए। तपोवन मंदिर ट्रस्ट कमेटी ने यह निर्णय लिया गया है। मंदिर के 282 वर्षों के इतिहास में यह पहला अवसर है कि रामनवमी के दिन मंदिर का मुख्य द्वार बंद रहा। हालांकि मंदिर के पुजारियों द्वारा आम दिनों की तरह ही पूजा की गई।

धनबाद: संदिग्धों की संख्या में बढ़ोतरी के बाद नए क्वारैंटाइन सेंटर की तलाश
तब्लीगी जमात में शामिल युवकों के राज्य में आने की खबर और हर दिन कोरोना संदिग्धों की बढ़ती संख्या को देख अब नए क्वारैंटाइन सेंटर की तलाश शुरू हो गई है। जिले में स्कूल, कॉलेज भवन और धर्मशाला को क्वारैंटाइन सेंटर बनाने की तैयारी है। डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर मुकेश कुमार के नेतृत्व में गुरुवार को शहर के विभिन्न मंदिरों को बंद कराया गया। सुबह से ही मंदिरों में भगवान हनुमान को ध्वज अर्पण करने को लेकर भीड़ थी।

42 सैंपल की हुई जांच, सभी रिपोर्ट रही निगेटिव, संदिग्ध मरीजों की संख्या 197
पूर्वी सिंहभूम जिले से बुधवार को 42 सैंपल की जांच हुई और सभी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसमें आजादनगर के वे दो मौलवी भी शामिल हैं, जो पिछले दिनों दिल्ली से वापस आए हुए थे। एमजीएम के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए हैं। हालांकि एमजीएम लैब में कुल 62 सैंपल आए, जिसमें से 42 की जांच हो गई है और 20 ऑनप्रोसेस है, जिसकी रिपोर्ट गुरुवार को आएगी। मंगलवार को मुसाबनी के राखा माइंस क्षेत्र के पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में बने क्वारेन्टाइन से कुल 16 संदिग्ध मरीजों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। इसमें चार वे संदिग्ध भी शामिल हैं। 135 संदिग्ध मरीजों की संख्या बुधवार को 197 पहुंच गई है।

Leave a Reply