Reliance Industries becomes second-largest brand after Apple, making it number one contender in time to come with Facebook and Google’s investment | एपल के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड बना, फेसबुक और गूगल के निवेश से आनेवाले समय में यह नंबर वन का दावेदार

Reliance Industries becomes second-largest brand after Apple, making it number one contender in time to come with Facebook and Google’s investment | एपल के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड बना, फेसबुक और गूगल के निवेश से आनेवाले समय में यह नंबर वन का दावेदार


  • Hindi News
  • Business
  • Reliance Industries Becomes Second largest Brand After Apple, Making It Number One Contender In Time To Come With Facebook And Google’s Investment

मुंबई7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड लगातार नया स्थान हासिल कर रही है। कंपनी को दूसरे नंबर का ब्रांड बनने में उसकी टेलीकॉम कारोबार की महत्वपूर्ण भूमिका रही है

  • आरआईएल अब ऑयल बिजनेस के साथ टेलीकॉम और रिटेल पर फोकस कर रही है
  • पिछले चार महीनों में कंपनी के शेयरों में तेजी, जुटाए गए पैसे से इसकी वैल्यूएशन बढ़ी है

मुकेश अंबानी के तेल से लेकर टेलीकॉम समूह रिलायंस इंडस्ट्रीज दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड बना है। पहले नंबर पर एपल है। यह जानकारी फ्यूचरब्रांड इंडेक्स 2020 में दी गई है। फ्यूचर ब्रांड ने 2020 लिस्ट को जारी किया है। उसने कहा कि इस साल के नंबर दो के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सभी विशेषताओं को हासिल की है।

ब्रांड अच्छी सेवा के साथ जुड़ता जा रहा है

फ्यूचर ब्रांड ने कहा कि भारत में सबसे लाभदायक कंपनियों में से एक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को बहुत अच्छे सम्मान और नैतिकता की दृष्टि से देखा जा रहा है। यह ब्रांड अच्छी तरह से विकास, नए उत्पादों और ग्राहक की अच्छी सेवा के साथ जुड़ता जा रहा है। विशेष रूप से लोगों का इस संगठन के साथ एक मजबूत भावनात्मक संबंध है। फ्यूचरब्रांड ने कहा कि मुकेश अंबानी द्वारा भारतीयों के लिए वन-स्टॉप-शॉप के रूप में फर्म की रीकास्टिंग से आरआईएल को सफलता मिली है।

आरआईएल अब डिजिटल सेक्टर की बड़ी कंपनी है

आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने मौजूदा पेट्रो केमिकल्स व्यापार को पूरी तरह से ट्रांसफॉर्म कर इसे एक बड़ी डिजिटल कंपनी बना दी है। यह आज हर ग्राहक की जरूरत को पूरा करने में सक्षम है। आज यह कंपनी एनर्जी, पेट्रोकेमिकल्स, टेक्सटाइल, नेचुरल रिसोर्सेज, रिटेल और टेलीकम्युनिकेशन समेत कई सेक्टर्स में शामिल है। फ्यूचर ब्रांड ने यह भी कहा कि अब जब गूगल और फेसबुक आरआईएल में निवेश किए हैं तो हम अगले इंडेक्स में टॉप पोजीशन के लिए रिलायंस को देख सकते हैं।

दुनिया में काफी बदलाव देखा जा रहा है

फ्यूचर ब्रांड ने कहा कि पहले FutureBrand इंडेक्स से छह साल बाद दुनिया में काफी बदलाव देखा गया है। अब जरूरतें भी बदल गई हैं और दुनिया की टॉप 100 कंपनियां भी चुनौतियों के साथ काम कर रही हैं। 2020 की सूची में एपल सबसे ऊपर है जबकि सैमसंग तीसरे स्थान पर है। इसके बाद एनवीडिया, मौताई, नाइकी, माइक्रोसॉफ्ट, एएसएमएल, पे-पल और नेटफ्लिक्स हैं। फ्यूचर ब्रांड ने कहा कि रिलायंस पीडब्ल्यूसी की 2020 लिस्ट में 91वें स्थान पर है।

इस साल 15 नई कंपनियां शामिल हुई हैं

इस लिस्ट में नई कंपनियों में एएसएमएल होल्डिंग्स, पे-पल, दानहेर, सऊदी अरामको और अमेरिकन टॉवर कॉर्पोरेशन शामिल हैं। कुल मिलाकर, इस साल 15 नई कंपनियां आई हैं। इसमें से सात टॉप 20 में हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज नंबर दो पर है। फ्यूचर ब्रांड इंडेक्स बताता है कि अगले कुछ सालों में कैसा प्रदर्शन रहने वाला है। उसने कहा कि दुनिया एक सदी में सबसे खराब स्वास्थ्य संकट के दौर से गुजर रही है।

0

Leave a Reply