SBI also reduced loans by 0.75% after 10 hours of RBI rate cut, new rates will be applicable from April 1 | आरबीआई के रेट कट के 10 घंटे बाद एसबीआई ने भी लोन 0.75% सस्ते किए, नए रेट 1 अप्रैल से लागू होंगे


  • एक्सटर्नल बेंचमार्क और रेपो से लिंक लोन पर ब्याज दरें घटेंगी
  • एसबीआई ने एफडी पर भी ब्याज घटाया, 0.20% से 1% तक कटौती की

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 09:57 PM IST

मुंबई. आरबीआई ने शुक्रवार सुबह 10 बजे रेपो रेट में 0.75% कटौती के फैसले की जानकारी दी थी। इसके 10 घंटे बाद ही यानी रात 8 बजे देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने भी ब्याज दरों में इतनी ही कमी का ऐलान कर दिया। इस कटौती का फायदा बाहरी बेंचमार्क से जुड़ी ब्याज दरों (ईबीआर) और रेपो रेट से जुड़ी ब्याज दरों (आरएलएलआर) वाले ग्राहकों को होगा। नई दरें एक अप्रैल से लागू होंगी।

ईएमआई में प्रति 1 लाख रुपए पर 52 रुपए का फायदा
एसबीआई का ईबीआर 7.80% से घटकर 7.05% हो जाएगा। आरएलएलआर 7.40% से घटकर 6.65% हो जाएगा। एसबीआई ने बताया कि इस रेट कट से 30 साल के लोन वाले ग्राहकों को एक लाख रुपए पर ईएमआई में 52 रुपए की बचत होगी। यानी आपका लोन 30 लाख रुपए का है तो मासिक किश्त में 1,560 रुपए की कमी आएगी।

30 साल के लोन पर ईएमआई कितनी कम होगी

लोन की रकम ईएमआई में कमी
20 लाख 1,040 रुपए
25 लाख 1,300 रुपए
30 लाख 1,560 रुपए
35 लाख 1,820 रुपए
40 लाख 2,080 रुपए
45 लाख 2,340 रुपए
50 लाख 2,600 रुपए

एफडी पर भी ब्याज घटाया
एसबीआई ने सभी अवधियों की एफडी पर भी ब्याज दरों में 0.20% से 1% तक कटौती की है। यह कमी रिटेल और बल्क डिपॉजिट पर लागू होगी।

एमसीएलआर वाले लोन की दरें घटाने पर फैसला अगले महीने
एसबीआई ने कहा है कि मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेडिंग (एमसीएलआर) आधारित लोन की ब्याज दरें घटाने पर फैसला अगले महीने एसेट लायबिलिटी कमेटी की बैठक में लिया जाएगा। आरबीआई ने पिछले साल अक्टूबर में ब्याज दरों को रेपो रेट जैसे किसी बाहरी बेंचमार्क से जोड़ना अनिवार्य कर दिया था। लेकिन, एमसीएलआर की पुरानी व्यवस्था भी चल रही है। इसमें रेपो रेट घटने का पूरा फायदा नहीं मिलता, क्योंकि इस व्यवस्था में बैंकों के लिए बाध्यता नहीं कि वे रेपो रेट घटते ही तुरंत रेट कट करें और उतना ही करें जितना आरबीआई ने किया है। रेट घटाने के बाद भी फायदा मिलने में लंबा वक्त लगता है, क्योंकि एमसीएलआर वाले ज्यादातर लोन एक साल में रीसेट होते हैं।