Security forces encounter militants at Dairoo in Shopian district | जम्मू-कश्मीर में दो जगहों पर हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने मार गिराए चार आतंकी, दो आतंकी एसपीओ की हत्या में शामिल थे


  • जम्मू और शोपियां में हुई मुठभेड़, जम्मू के आतंकियों ने तीन दिन पहले एक एसपीओ की हत्या की थी
  • वहीं शोपियां में जवानों को आतंकियों के छिपे होने की खुफिया सूचना शुक्रवार को मिली थी

दैनिक भास्कर

Apr 17, 2020, 05:44 PM IST

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार को दो अलग-अलग मुठभेड़ में चार आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया। पहली मुठभेड़  शोपियां जिले के दायरू में  हुई, इसमें दो आतंकी मारे गए।  सुरक्षाबलों  को खुफिया जानकारी मिली थी कि इलाके में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। इसके बाद सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया। जैसे ही जवान आतंकियों के ठिकाने के पास पहुंचे, उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी।इसके बाद जवानों ने गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया और एक के बाद एक आतंकी को ढेर कर दिया। 

वहीं, दूसरी मुठभेड़ जम्मू में सुंदर गांव में हुई। इस दौरान भी दो आतंकियों को मार गिराया गया। दोनों के पास से एक एके-74 राइफल और एक इंसास राइफल बरामद हुई है। इनकी पहचान बशरत हुसैन और आशिक हुसैन के रूप में हुई है। दोनों आतंकी हिज्ब-उल- मुजाहिदीन के थे। ये दोनों आंतकी तीन दिन पहले हुई एसपीओ पशिद इकबाल की हत्या में शामिल थे। एसपीओ पशिद और विशाल सिंह दकन में सर्च ऑपरेशन में गए हुए थे। इस दौरान आतंकियों ने हमला कर दिया था। हमले में पशिद की मौत हो गई थी और विशाल सिंह घायल हो गए थे। 

 

कश्मीर में इस साल हुए एनकाउंटर

  • 17 अप्रैल: जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले के दायरू में मुठभेड़ में शुक्रवार सुबह एक आतंकी मारा गया।
  • 11 अप्रैल:  कुलगाम जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी, इसमें आतंकी हथियार छोड़कर भाग गए थे।
  • 7 अप्रैल: सेना ने आमने-सामने की लड़ाई में 5 आतंकी मार गिराया था, यह कश्मीर में साल का सबसे मुश्किल ऑपरेशन था। इसमें सर्जिकल स्ट्राइक कर चुकी पैरा यूनिट के 5 जवान शहीद हो गए थे
  • 4 अप्रैल: कुलगाम में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में हिजबुल के 4 आतंकियों को मार गिराया
  • 15 मार्च: अवंतीपोरा जिले के वटरीग्राम में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया।
  • 22 फरवरी: दक्षिण कश्मीर के संगम बिजबेहरा में जवानों और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। दो आतंकी मारे गए।
  • 19 फरवरी: पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर के दौरान 3 आतंकियों को ढेर किया।
  • 5 फरवरी: श्रीनगर के पास मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे, एक सीआरपीएफ जवान शहीद हुआ था। बाइक पर आए 3 आतंकियों ने सीआरपीएफ चैकपोस्ट पर फायरिंग की थी।
  • 31 जनवरी: जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर ट्रक में छिपे 4-5 आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था। ट्रक को नगरोटा के टोल प्लाजा पर चैकिंग के लिए रोका गया था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घेराबंदी कर इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। मुठभेड़ के दौरान 3 आतंकी मारे गए, जबकि एक पुलिस जवान जख्मी हो गया। ट्रक का ड्राइवर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकी आदिल डार का चचेरा भाई है और वही आतंकियों का मुख्य हैंडलर था।
  • 25 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 2 पाकिस्तानी आतंकी कारी यासिर और बुरहान शेख मारे गए थे। यासिर जैश-ए-मोहम्मद का कश्मीर एरिया कमांडर था। 
  • 21 जनवरी: पुलवामा जिले के अवंतिपोरा में मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए थे। सेना का एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एसपीओ शहीद हो गया था।
  • 20 जनवरी: शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकी मारे गए थे।