Seven years Cancer Patient From India Meets Dubai Crown Prince – दुबई के युवराज ने पूरी की कैंसर से जूझ रहे भारतीय बच्चे की हसरत, मां बोलीं- अल्लाह का शुक्र है कि…


दुबई:

कैंसर से जूझ रहे सात वर्षीय भारतीय बच्चे की खुशी का उस समय ठिकाना न रहा, जब दुबई के युवराज शेख हमदान ने दिल को छू लेने वाली पहल करते हुए अपने इस प्रशंसक से मुलाकात की. शेख हमदान ने बच्चे के साथ अपनी फोटो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की. ‘गल्फ न्यूज’ ने बताया कि तीसरे चरण के कैंसर से जूझ रहे हैदराबाद के अब्दुल्ला हुसैन ने सोशल मीडिया के जरिए इच्छा जताई थी कि वह अपने आदर्श शेख हमदान से मिलना चाहता है जिसके बाद एक समाचार चैनल पर भी यह खबर दिखाई गई थी. अब्दुल्ला ने एक वीडियो में कहा था, ‘‘शेख हमदान बहुत शांत, साहसी और दयालु हैं. मैं उनके पालतू पशुओं से मिलना चाहता हूं और मैं उनकी पोशाकों को देखना चाहता हूं.” अब्दुल्ला ने वीडियो में एक बैनर भी पकड़ा हुआ था, जिस पर लिखा था, ‘‘शेख हमदान, मैं आपका प्रशंसक हूं. मैं आपसे मिलना चाहता हूं. फजा, मैं आपसे प्रेम करता हूं.” 

शेख हमदान के साथ शुक्रवार को मुलाकात के बाद अब्दुल्ला की मां नौशीन फातिमा ने ‘गल्फ न्यूज’ से बातचीत के दौरान अपने बच्चे और परिवार की खुशी के लिए आभार व्यक्त किया था. उन्होंने कहा, ‘‘महामहिम से मुलाकात के बाद से अब्दुल्ला बहुत खुश है. उनसे मिलना मेरे बच्चे की सबसे बड़ी हसरत थी. अल्लाह का शुक्र है कि उसकी हसरत पूरी हुई.” नौशीन फातिमा ने कहा कि शेख हमदान से मुलाकात के बाद अब्दुल्ला उनका और बड़ा प्रशंसक हो गया है. हमदान ने अब्दुल्ला के साथ मुलाकात के बाद इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर पोस्ट करके लिखा था, ‘‘आज इस साहसी लड़के से मुलाकात हुई.” नौशीन ने कहा, ‘‘वह अपने नायक से मिला है और हम सब युवराज की दिल को छूने वाली इस पहल से बहुत खुश हैं.” उन्होंने कहा कि ‘‘शेख हमदान की सरलता, दयालुता, अब्दुल्ला और उसके छोटे भाई अहमद से उनके बात करने के तरीके और उनके विनम्र एवं चुलबुले स्वभाव ने” परिवार का दिल छू लिया. उन्होंने कहा कि शेख हमदान ने अब्दुल्ला के उपचार और आगे की योजनाओं के बारे में पूछा. 

Coronavirus से ‘फीकी’ हुई होली : दुबई के हिंदू मंदिरों में नहीं खेला जाएगा रंग 

नौशीन ने कहा, ‘‘वह बहुत दरियादिल हैं. हमें लगा ही नहीं कि हम युवराज से बात कर रहे हैं.” अब्दुल्ला के पिता मोहम्मद ताजामुल हुसैन ने शेख हमदान को उनकी तस्वीर भेंट की. नौशीन ने बताया कि शेख हमदान ने उपहार स्वीकार किए और 15 मिनट की मुलाकात में परिवार के साथ तस्वीरें खिंचवाईं. इसके बाद, अब्दुल्ला के परिवार ने एक घंटे से अधिक समय तक शेख हमदान के पालतू पशुओं के साथ समय बिताया. 

दुबई में काम करने वाले शेफ ने दिल्ली की महिला को दी रेप की धमकी, सोशल मीडिया पर भड़का लोगों का गुस्सा

नौशीन ने बताया कि अब्दुल्ला को सबसे पहले अपने माता-पिता से शेख हमदान के बारे में पता चला था और बाद में, उसने यूट्यूब पर जनवरी में पहली बार शेख हमदान का वीडियो देखा. परिवार को अब्दुल्ला की बीमारी में बारे में दिसंबर में पता चला था. नौशीन ने कहा कि अब्दुल्ला फजा का प्रशंसक बन गया और वह उनसे मिलना चाहता था. कीमोथैरेपी के दौरान उसका ध्यान हटाने के लिए अब्दुल्ला के माता-पिता उसके सामने शेख हमदान और अवेंजर सुपरहीरो का जिक्र किया करते थे, ताकि उसका दर्द कम हो सके.

वीडियो: दुबई की कंपनी में नौकरी कर रहा था आयुष, ईरान के बंदरगाह से है लापता

    

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)