Shirdi and Trimbakeshwar temples closed, sanitizers and masks are being distributed at many religious places | शिर्डी, त्र्यंबकेश्वर और शनि शिंगणापुर मंदिर बंद किए गए, कई धार्मिक स्थलों पर सैनेटाइजर बांटा जा रहा

Shirdi and Trimbakeshwar temples closed, sanitizers and masks are being distributed at many religious places | शिर्डी, त्र्यंबकेश्वर और शनि शिंगणापुर मंदिर बंद किए गए, कई धार्मिक स्थलों पर सैनेटाइजर बांटा जा रहा


  • उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर दर्शन के लिए अभी खुला रहेगा, यहां सिर्फ भष्म आरती रोकी गई है
  • अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर और गुवाहाटी स्थित कामाख्या मंदिर में दर्शनार्थियों को सैनेटाइजर दिया जा रहा है

दैनिक भास्कर

Mar 17, 2020, 03:01 PM IST

नई दिल्ली. कोरानावायरस फैलने के डर से देशभर में भीड़ जुटने से रोकने की कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में धार्मिक स्थानों पर भी बंदिशें लगाई जा रही हैं। शिर्डी का साईं मंदिर, शिंगणापुर स्थित शनिधाम और मदुरै स्थित त्र्यंबकेश्वर मंदिर दर्शनार्थियों के लिए अगले आदेश तक पूरी तरह बंद कर दिए गए हैं। 

मदुरै स्थित मीनाक्षी मंदिर में नियमित साफ-सफाई की जा रही है।
  • शिर्डी: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए महाराष्ट्र के शिर्डी साई मंदिर को मंगलवार दोपहर तीन बजे से श्रद्धालुओं के लिए अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। यह जानकारी श्री साईंबाबा संस्थान, शिर्डी ने दी है।
  • त्र्यंबकेश्वर: मदुरै स्थित इस ज्योतिर्लिंग तीर्थ में भी मंगलवार से दर्शन बंद कर दिए गए हैं। यह बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। 
  • शनि शिंगणापुर: महाराष्ट्र जिले के शिंगणापुर में शनिधाम को भी अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। 
  • ईशा योग केंद्र: दुनियाभर में संस्था के सभी केंद्रों पर अगले आदेश तक कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने कहा है कि उनके केंद्रों में रहने वालों के स्वास्थ्य की हर तीन दिन में जांच की जाएगी।
कोयंबटूर में ईशा योग परिसर भी बंद किया गया। -फाइल फोटो
  • सिद्धिविनायक: मुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर को सोमवार से अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। मंदिर प्रशासन ने अपने सभी कर्मचारियों को मास्क पहनने और हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया है।
  • मुंबई के 4 मंदिर 31 मार्च तक बंद: मुंबादेवी मंदिर, महालक्ष्मी, बबूलनाथ और इस्कॉन मंदिर 31 मार्च तक बंद रखने की घोषणा की गई है।
  • महाकाल: महाकाल मंदिर में सिर्फ भस्म आरती में भक्तों का प्रवेश बंद किया गया है। ऐसा इसलिए, क्योंकि इस दौरान यहां करीब 3-4 घंटे तक बड़ी संख्या में लोग जुटते हैं।
  • तिरुपति: तिरुपति बालाजी मंदिर में दर्शन बंद नहीं किए गए हैं, लेकिन यहां वेटिंग की व्यवस्था बंद की गई है। यहां बीते कुछ दिनों से भक्तों की संख्या में काफी कमी आई है।
  • गुरुवायुर: केरल के कोच्चि स्थित गुरुवायुर मंदिर में सीमित संख्या में भक्तों को प्रवेश दिया जा रहा है। खास तौर पर 20 मार्च से 28 मार्च के बीच यहां होने वाले भारणी महोत्सव को देखते हुए यह पाबंदी लागू की गई है। इस दौरान यहां काफी भीड़ होती है।
गुरुवायुर मंदिर में 20 मार्च से 28 मार्च के बीच भारणी महोत्सव मनाया जाएगा।
  • कामाख्या मंदिर: मंदिर प्रशासन ने रोजाना लगने वाले भोग को कुछ दिन के लिए बंद कर दिया है। यहां श्रद्धालुओं को हैंड सैनेटाइजर्स मुहैया कराया जा रहा है।
  • अमृतसर: गोल्डन टैम्पल खुला है, लेकिन परिसर में गोल्डन टैम्पल प्लाजा बंद कर दिया गया है। यहां श्रद्धालुओं को हैंड सैनेटाइजर्स मुहैया कराया जा रहा है।
  • ओंकारेश्वर: ज्योतिर्लिंग संस्थान को दर्शन के लिए बंद तो नहीं किया गया है, लेकिन संस्थान ने श्रद्धालुओं से वहां नहीं आने का आग्रह किया है।
  • दलाई लामा टैम्पल: धर्मशाला स्थित यह मंदिर और सिद्धिबाड़ी स्थित ग्यूतो मोनेस्ट्री में आम लोगों का प्रवेश एक महीने के लिए बंद कर दिया गया है।
  • वैष्णोदेवी धाम: जम्मू के कटरा स्थित श्री माता वैष्णोंदेवी ट्रस्ट ने निर्देश दिया है कि एनआरआई देश में आने के 28 दिन बाद ही यहां आएं। जिन्हें खांसी, बुखार और सांस लेने में परेशानी हो वे फिलहाल अपनी यात्रा टाल दें।

Leave a Reply