Snapchat Bans Donald Trump Permanently after Capitol Hills Violence – Snapchat ने डोनाल्ड ट्रंप को हमेशा के लिए किया बैन, बताई ये वजह

Snapchat Bans Donald Trump Permanently after Capitol Hills Violence – Snapchat ने डोनाल्ड ट्रंप को हमेशा के लिए किया बैन, बताई ये वजह


Snapchat ने डोनाल्ड ट्रंप को हमेशा के लिए किया बैन, बताई ये वजह

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पारित हो गया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • Snapchat पर ट्रंप हमेशा के लिए बैन
  • कैपिटल हिल्स हिंसा के बाद लिया फैसला
  • कई प्लेटफॉर्म्स ट्रंप को कर चुके हैं बैन

वॉशिंगटन:

बीते 6 जनवरी को अमेरिकी संसद भवन कैपिटल हिल्स में हुई हिंसा (Capitol Hills Violence) के बाद अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर बैन कर दिए गए हैं. बुधवार को सोशल नेटवर्किंग ऐप स्नैपचैट (Snapchat) ने ट्रंप पर हमेशा के लिए बैन लगा दिया. स्नैपचैट की ओर से कहा गया कि ट्रंप के खिलाफ हो रहे विरोध को देखते हुए कंपनी ने यह फैसला लिया है. बीते दिन ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव भी पारित हो गया है. 10 रिपब्लिकन सांसदों ने महाभियोग प्रस्ताव का समर्थन किया है.

यह भी पढ़ें

स्नैपचैट को डर था कि डोनाल्ड ट्रंप अपने अकाउंट का इस्तेमाल कर अमेरिका के अगले राष्ट्रपति जो बाइडेन के सत्ता हस्तांतरण कार्यक्रम के दौरान और अधिक अशांति पैदा कर सकते हैं, लिहाजा उनके अकाउंट को हमेशा के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है. पिछले हफ्ते स्नैपचैट ने ट्रंप के अकाउंट को अनिश्चितकालीन समय के लिए निलंबित कर दिया था.

डोनाल्ड ट्रंप को बैन करने पर खुशी या गर्व नहीं : Twitter के CEO जैक डोर्सी

सोशल नेटवर्किंग ऐप की ओर से कहा गया, ‘सार्वजनिक सुरक्षा के हित में और गलत सूचना फैलाने, अभद्र भाषा और हिंसा को उकसाने के उनके (डोनाल्ड ट्रंप) प्रयासों के आधार पर, जो हमारे दिशा-निर्देशों का स्पष्ट उल्लंघन है, हमने उनके अकाउंट को स्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिया है.’

‘कानून से ऊपर कोई नहीं’, ट्रंप के खिलाफ महाभियोग पारित होने पर बोलीं स्पीकर नैंसी पलोसी

Newsbeep

ट्विटर, इंस्टाग्राम, फेसबुक, अमेजन, एप्पल, गूगल और यूट्यूब पर बैन किए जाने के बाद टेक्सास के अटार्नी जनरल केन पैक्सटन ने बुधवार को इन कंपनियों से पूछा कि ट्रंप को उनके प्लेटफॉर्म्स पर क्यों नहीं बने रहने दिया जाना चाहिए. पैक्सटन ने कंपनियों से उनकी सुरक्षा नीतियों को भी साझा करने के लिए कहा है.

VIDEO: खबरों की खबर : अमेरिका में सियासी हिंसा की आग

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Leave a Reply