Sushant Singh case: BMC releases Bihar IPS officer from quarantine center – सुशांत केस की जांच के लिए मुंबई पहुंचे बिहार के IPS अफसर को क्‍वारंटाइन सेंटर से मिली छुट्टी..

Sushant Singh case: BMC releases Bihar IPS officer from quarantine center – सुशांत केस की जांच के लिए मुंबई पहुंचे बिहार के IPS अफसर को क्‍वारंटाइन सेंटर से मिली छुट्टी..


सुशांत केस की जांच के लिए मुंबई पहुंचे बिहार के IPS अफसर को क्‍वारंटाइन सेंटर से मिली छुट्टी..

सुशांत मामले की जांच के सिलसिले में IPS विनय तिवारी मुंबई पहुंचे थे

खास बातें

  • सुशांत मामले की जांच को पहुंचे थे विनय तिवारी
  • बीएमसी ने उन्‍हें क्‍वारंटाइन सेंटर में भेज दिया था
  • मामले में मुंबई-बिहार पुलिस के बीच हुई थी तनातनी

मुंंबई:

बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने शुक्रवार को कहा कि उसने यहां एक कोविड-19 पृथकवास केंद्र (Quarantine Center) में रखे गए बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी (IPS officer Vinay Tiwari)को अपने गृह राज्य लौटने की अनुमति दे दी है. मध्य पटना के पुलिस अधीक्षक तिवारी रविवार को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज FIR की जांच के सिलसिले में मुम्बई पहुंचे थे. यहां पहुंचने के साथ ही उन्हें 15 अगस्त तक के लिए क्‍वारंटाइन सेंटर में भेज दिया गया था.

यह भी पढ़ें

सुशांत केस : केंद्र सरकार ने भी सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की अर्जी, पक्षकार बनाने की मांग

निगम के एक अधिकारी ने बताया कि तिवारी को क्‍वारंटाइन दिशानिर्देशों से छूट दी गयी है और उन्हें अपने गृह राज्य लौटने की अनुमति दे दी गयी है. बिहार पुलिस ने बृहस्पतिवार को मुंबई के निगम आयुक्त को पत्र लिखकर तिवारी को दिशानिर्देश से छूट देने और उन्हें लौटने की सुविधा प्रदान करने को कहा था.पत्र में कहा गया था कि अब तिवारी की मुंबई में जरूरत नहीं है और उन्हें सात दिनों के अंदर पटना पहुंचने की आवश्यकता है. इस पर निगम ने बिहार पुलिस को सूचित किया कि वे तिवारी को पृथक-वास दिशानिर्देश से छूट प्रदान कर रहे हैं. तिवारी उपनगरीय क्षेत्र गोरेगांव में एक गेस्ट हाउस में क्‍वारंटाइन में थे.

अधिकारी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी से संबंधित महाराष्ट्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार कोई यात्री जो एक सप्ताह से कम समय के लिए राज्य में आ रहे हैं और आगे या वापसी की यात्रा की योजना है, उन्हें इसका विवरण साझा करना होगा और फिर क्‍वारंटाइन से छूट दी जाएगी. उन्होंने निगम के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि छूट की शर्तों के अनुसार तिवारी को पृथक-वास अवधि की शुरुआत के सातवें दिन (शनिवार, 8 अगस्त) से पहले महाराष्ट्र छोड़ना होगा.उन्होंने कहा कि आईपीएस अधिकारी को यहां अतिरिक्त नगर आयुक्त के कार्यालय में रिटर्न टिकट का विवरण प्रस्तुत करना होगा.अधिकारी ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपायों के तहत तिवारी को निजी कार में हवाई अड्डे तक की यात्रा करने और सभी आवश्यक सावधानी बरतने को कहा गया है.

सुशांत मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्डरिंग का केस दर्ज किया

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Leave a Reply