Third death in 17 days in Karnataka, today 65-year-old infected man dies in Tumkur | कर्नाटक में 17 दिन में तीसरी मौत, सरकारी संस्था बीईएल को 30 हजार वेंटिलेटर तैयार करने का आदेश


  • कर्नाटक में दम तोड़ने वाला बुजुर्ग 5 मार्च को ट्रेन से दिल्ली गया और 11 मार्च को तुमकुर लौटा था, उसके 24 करीबी ट्रेस

  • गृह मंत्रालय ने बड़े शहरों से घर लौट रहे मजदूरों के लिए शेल्टर होम और खाने का इंतजाम करने के निर्देश दिए

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 04:42 PM IST

नई दिल्ली. भारत में कोरोनावायरस के संक्रमण के 700 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। शुक्रवार को इस महामारी से देश में 21वीं मौत हुई। तुमकुर में कोरोना संक्रमण से जूझ रहे 65 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। कर्नाटक में यह तीसरी मौत है। यहां 11 और 26 मार्च को कोरोना से मौत हुई थी। गुरुवार को देश के अलग-अलग राज्यों में 7 संक्रमितों की जान गई थी। इनमें से दो सिर्फ राजस्थान के भीलवाड़ा में थीं। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने कहा- वेंटिलेटर की कमी दूर करने के लिए 10 हजार नए वेंटिलेटर खरीदने का फैसला लिया गया है। साथ ही सरकारी उपक्रम भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) से 30 हजार वेंटिलेटर तैयार करने को कहा गया है।

शुक्रवार को जिस बुजुर्ग ने जान गंवाई वह 5 मार्च को संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के एस6 कोच में परिवार के 13 सदस्यों के साथ दिल्ली गया था। यहां वह जामिया मस्जिद भी गया था। इसके बाद 11 मार्च को बुजुर्ग कोंगु एक्सप्रेस के एस9 कोच में बैठकर तुमकुर लौटा था। 18 मार्च को कफ और बुखार की शिकायत के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। 24 मार्च को बुजुर्ग जिला अस्पताल से छुट्टी लेकर प्राइवेट इलाज कराने लगा। लेकिन बाद में फिर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मृतक के 24 करीबी ट्रेस किए गए

कर्नाटक के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, बुजुर्ग के 24 सबसे करीबी लोगों को ट्रेस किया जा चुका है। जिसमें से 13 लोगों को आइसोलेट किया गया है। इन 13 के अलावा तीन हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स और 8 लोगों की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। हालांकि, इन 11 लोगों को घर पर क्वारैंटाइन किया गया है।

24 घंटे में कोरोना के 75 नए केस मिले

पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 75 नए मामले सामने आने के बाद, सरकार ने कोरोना के चक्र को तोड़ने के लिए सभी राज्यों को मुस्तैद रहने के लिए कहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी आज सभी राज्यपालों और उपराज्यपालों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कोरोना से निपटने पर चर्चा की। उन्होंने कहा- हमें इस लड़ाई में सभी के सहयोग की जरूरत है। सोशल डिस्टेंस बनाए रखें। सरकार ने कोरोना से लड़ाई के लिए एक टास्क फोर्स बनाई है। इससे निपटने के लिए राहत पैकेज का भी ऐलान किया है।

घर लौटने वाले मजदूरों के लिए इंतजाम के निर्देश

गृह मंत्रालय के अधिकारी ने कहा- हम कोरोना कोे रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। हम चाहते हैं कि लोगों को आवागमन में परेशानी न हो। दिल्ली समेत दूसरे शहरों से घर लौट रहे मजदूरों के मुद्दे पर मंत्रालय ने संज्ञान लिया है। गृह सचिव ने सभी राज्य सरकारों से कहा है कि ऐसे मजदूरों के लिए इंतजाम किए जाएं। उनके रहने के लिए शेल्टर होम, खाने की व्यवस्था की जाए।

गुरुवार को देश में संक्रमण से सात मौतें हुईं

26 मार्च को मध्य प्रदेश के इंदौर में 65 वर्षीय बुजुर्ग, जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में 65 साल के मरीज, महाराष्ट्र के मुंबई में 65 वर्षीय बुजुर्ग, गुजरात के भावनगर में 70 साल की बुजुर्ग और राजस्थान के भीलवाड़ा में 63 और 70 साल के दो मरीजों की जान गई। इसके अलावा कर्नाटक में 75 साल की महिला की मौत हो गई।