Unacceptable Behaviour By China Says US On India China Ladakh Clashes | लद्दाख मुद्दे पर विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा- चीन का रवैया स्वीकार करने लायक नहीं, चीनी ऐप बैन करने का भारत का फैसला सही

Unacceptable Behaviour By China Says US On India China Ladakh Clashes | लद्दाख मुद्दे पर विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा- चीन का रवैया स्वीकार करने लायक नहीं, चीनी ऐप बैन करने का भारत का फैसला सही


वाशिंगटनएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (यूएसआईबीसी) की इंडिया आइडिया समिट को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया।

  • गलवान में शहीद हुए भारतीय सैनिकों के लिए अमेरिका के विदेश मंत्री ने गहरा दुख व्यक्त किया
  • पोम्पियो ने कहा- भारत के पास चीन से हटकर सप्लाई चैन तलाशने का शानदार मौका है

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बुधवार को चीन के खिलाफ भारत की तरफदारी की। इंडिया आइडिया समिट को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि लद्दाख में पीपुल्स लेबर आर्मी ने हाल ही में जो कुछ भी किया, वो चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के रवैए का जीता-जागता उदाहरण है। चीन का ऐसा रवैया किसी भी तरह से स्वीकार करने लायक नहीं है। पोम्पियो ने गलवान में शहीद हुए भारतीय सैनिकों के लिए दुख जाहिर किया।

पोम्पियो ने चीनी एप्स बैन करने का स्वागत किया
यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (यूएस-आईबीसी) की समिट में पोम्पियो ने यह भी कहा कि मैं टिक-टॉक सहित 59 चीनी मोबाइल ऐप बैन करने के भारत के फैसले की सराहना करता हूं, जो लोगों की प्राइवेसी के लिए खतरा बन सकते थे। भारत के पास चीन से हटकर सप्लाई चैन तलाशने का शानदार मौका है। ऐसा कर के भारत टेलीकॉम, चिकित्सा आपूर्ति और अन्य क्षेत्रों में चीनी कंपनियों पर निर्भरता कम कर सकता है। भारत अमेरिका का उभरता हुआ रक्षा साझेदार है।

भारत अमेरिका का बड़ा डिफेंस पार्टनर
अमेरिका के विदेश मंत्री ने कहा कि भारत ग्लोबल और इंडो-पेसिफिक क्षेत्र में अमेरिका का बड़ा डिफेंस पार्टनर है। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली अमेरिका का एक अहम पार्टनर होने के साथ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की विदेश नीति का अहम हिस्सा है।

चीन पड़ोसियों को धमका रहा: पोम्पियो
पोम्पियो चीन के खिलाफ सहयोगी देशों को फिर से एकजुट करने की कोशिशों के तहत कई देशों की यात्रा पर निकले हैं। मंगलवार को वे लंदन में थे। वहां प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से बातचीत की। बाद में मीडिया से बातचीत की। पोम्पियो ने कहा- यह दुनिया के लिए मुश्किल वक्त है। इस वक्त में तो चीन को बाकी देशों की मदद के लिए आगे आना चाहिए था। लेकिन, उसने इसका फायदा उठाने का साजिश रची, पड़ोसियों को धमकाया।

पहले भी कर चुके हैं चीनी ऐप बैन करने का समर्थन
इससे पहले इकोनॉमिक क्लब ऑफ न्यूयॉर्क में बोलते हुए भी उन्होंने भारत में चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का उदाहरण दिया था। साथ ही यह भी कहा था कि भारत ने ऐसा इसलिए किया, क्योंकि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी से भारतीय लोगों को खतरा था। हम भारतीयों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। उनके पास सभी जानकारियां हैं, जिससे वे सही फैसले कर सकें।

ये भी पढ़ सकते हैं…

1. अमेरिका ने कहा- महामारी का इस्तेमाल चीन ने अपने पड़ोसियों को धमकाने में किया, हम उसकी हर हरकतों पर नजर रख रहे हैं

2. विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा- दुनिया चीन से आने वाले खतरों को लेकर सतर्क, लोकतंत्र समर्थक देश इसका जवाब देंगे

0

Leave a Reply