Union minister Ravi Shankar Prasad withdraw his accusation over Congress leader Shashi Tharoor – केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस नेता शशि थरूर पर लगाया ‘‘हत्या’’ का आरोप लिया वापिस


नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि उन्होंने शशि थरूर के खिलाफ लोकसभा चुनाव के दौरान लगाए गए अपने उस आरोप को वापस ले लिया है कि कांग्रेस नेता ‘‘हत्या के एक मामले में आरोपी” हैं. इस कदम पर प्रतिक्रिया देते हुए थरूर ने कहा कि वह अपने वकीलों को प्रसाद के खिलाफ दायर मामले को वापस लेने का निर्देश दे रहे हैं. प्रसाद ने ट्वीट किया, “श्री शशि थरूर जी के साथ मेरे हाल के मतभेदों के सौहार्दपूर्ण समाधान की घोषणा करने में प्रसन्नता हो रही है.” 

उन्होंने अपने आरोप को वापस लेने के लिए 20 मार्च को थरूर को लिखा अपना पत्र साझा किया. प्रसाद ने साथ ही वह पत्र भी साझा किया जो थरूर ने उन्हें लिखा है जिसमें उन्होंने लिखा है कि उन्हें खुशी है कि अब यह मामला बंद हो गया है.

थरूर ने कहा कि वह अपने वकीलों को निर्देश दे रहे हैं कि उन्होंने जो मामला दायर किया था उसे वापस ले लें. प्रसाद ने अपने पत्र में लिखा है, ‘‘एक साल से अधिक समय पहले चुनाव प्रचार के दौरान मैंने आपको हत्या के मामले में एक आरोपी के रूप में वर्णित करते हुए एक टिप्पणी की थी. संबंधित मामले में जांच पूरी होने पर बाद में जानकारी प्राप्त होने पर मुझे पता चला कि आपके खिलाफ उक्त आरोप तथ्यात्मक रूप से सही नहीं है. अत: इसे बिना शर्त वापस लेता हूं.”

प्रसाद ने कहा कि उन्होंने थरूर की टिप्पणियों के जवाब में आरोप लगाया, ‘‘जो आपकी खुद की नहीं बल्कि किसी और की टिप्पणी थी”, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहुत ही ‘‘प्रतिकूल तरह” से पेश किया गया.

मंत्री ने लिखा, ‘‘हालांकि यह निश्चित रूप से आपकी टिप्पणी नहीं थी, लेकिन आपके द्वारा इसे दोहराये जाने इसे प्रमुखता मिली और यह पूरे देश में मीडिया के माध्यम से प्रसारित हुआ. मुझे लगता है कि अगर कोई आत्मनिरीक्षण हो तो आप भी खुद को यह समझा सकते हैं कि आपके द्वारा की गई उक्त टिप्पणी से बचा जा सकता था.”

थरूर ने इसके जवाब में कहा, “..मैं आपकी भावनाओं का स्वागत करता हूं और हमारे बीच के लंबे जुड़ाव को देखते हुए, मैं इस मामले के बंद होने से खुश हूं.”