US President Donald Trump Will Join Beirut Donor Conference Call – बेरूत की मदद के लिए इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस कॉल में हिस्सा लेंगे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प

US President Donald Trump Will Join Beirut Donor Conference Call – बेरूत की मदद के लिए इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस कॉल में हिस्सा लेंगे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प


बेरूत की मदद के लिए 'इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस कॉल' में हिस्सा लेंगे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प

अमेरिका की ओर से लेबनान को मदद भेजी गई है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • बेरूत में हुए धमाकों से दहली दुनिया
  • लेबनान की मदद को आगे आए देश
  • अमेरिका ने भी लेबनान के लिए भेजी मदद

वॉशिंगटन:

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने शुक्रवार को कहा कि वह बेरूत (Beirut Explosion) में हुए विशाल विस्फोट के बाद लेबनान की मदद को लेकर बुलाए गए इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस कॉल में हिस्सा लेंगे. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) इस कॉन्फ्रेंस के आयोजक हैं. ट्रम्प मदद को लेकर मैक्रों से बात कर चुके हैं. बातचीत के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘हर कोई मदद करना चाहता है.’

यह भी पढ़ें

डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को इस बारे में कहा, ‘रविवार को हम कॉन्फ्रेंस कॉल पर राष्ट्रपति मैक्रों, लेबनान के नेताओं और दुनिया के अलग-अलग देशों के नेताओं से बातचीत करेंगे.’ उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि तीन अमेरिकी विमान राहत सामग्री लेकर लेबनान जा रहे हैं. टीम में बचाव दल और स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हैं.

बेरूत धमाके में 100 से ज़्यादा की मौत हुई : लेबनानी रेड क्रॉस

बता दें कि मंगलवार को लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए दो धमाकों ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया. इन धमाकों में 113 से ज्यादा लोगों की जान एक झटके में चली गई, वहीं 4000 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. बेरूत पोर्ट पर हुए इन धमाकों से पहले वहां जहां आम दिनों की तरह ही चहल-पहल थी, वहीं अब तबाही का मंजर दिख रहा है.

बेरूत में हुए धमाके से स्तब्ध और दुखी हूं : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

संयुक्त राष्ट्र ने इस घटना पर दुख जताया है. संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि बेरूत में करीब तीन लाख लोग बेघर हो गए हैं. हजारों लोग अपने परिवारों से अलग हो गए. हादसे के बाद लेबनान की मदद को कई देश आगे आए हैं. ईरान, सऊदी अरब, UAE, फ्रांस, कुवैत, रूस और कतर ने लेबनान को मदद भेजी. अन्य देश भी लेबनान की मदद के लिए राहत सामग्री भेज रहे हैं.

VIDEO: 31 दिसंबर 2020 तक H1-B वीजा पर पाबंदी जारी

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Leave a Reply