Vikas Dubey Encounter was not fake, he fired 9 round, UP Government says in Supreme Court – यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- फेक नहीं था विकास दुबे का एनकाउंटर, 9 राउंड गोलियां उसने चलाई थीं

Vikas Dubey Encounter was not fake, he fired 9 round, UP Government says in Supreme Court – यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- फेक नहीं था विकास दुबे का एनकाउंटर, 9 राउंड गोलियां उसने चलाई थीं


यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- फेक नहीं था विकास दुबे का एनकाउंटर, 9 राउंड गोलियां उसने चलाई थीं

नई दिल्ली :

कानपुर के विकास दुबे एनकाउन्टर मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल कर कहा है कि फर्जी मुठभेढ़ की बात गलत है, विकास दुबे ने पुलिस पर 9 राउंड गोलियां चलाई थीं. यूपी सरकार ने कहा कि पुलिस ने शुरुआत में गोली चलाकर उसे सरेंडर करने को कहा लेकिन विकास ने बात नहीं मानी और फायर करने पर उस पर गोली चलाई पड़ी. यूपी सरकार ने दलील दी कि इसे किसी भी तरह फेक एनकाउंटर नहीं कहा जा सकता है. इसे लेकर किसी तरह का संशय नहीं रहे इसके लिए सरकार ने सभी तरह के कदम उठाए हैं.

यह भी पढ़ें

यूपी पुलिस ने कहा है कि एनकाउंटर के मामले में सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का पूरी तरह पालन किया गया है. आत्मरक्षा में पुलिस ने हथियार छीनकर भाग रहे दुर्दान्त अपराधी पर गोली चलाई थी.   एनकाउंटर के बाद सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के मुताबिक़ यूपी सरकार ने हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज का न्यायिक आयोग गठित किया है जो कि एनकाउंटर की जांच कर रहा है. इसके साथ ही 24 घंटे के भीतर मामले की सूचना मानवाधिकार आयोग को भी दे दी गई थी.  जांच के लिए SIT का गठन किया गया है.  

इसके साथ ही यूपी पुलिस ने दुबे के ख़िलाफ़ दर्ज सभी आपराधिक मामलों की सूची कोर्ट को दी है.   एनकाउंटर के समय घटनास्थल पर पलटी पुलिस की गाड़ी की फ़ोटो, विकास दुबे के शव की फ़ोटो, विकास दुबे ने जिन आठ पुलिस वालों की हत्या की, उनके शवों की फ़ोटो कोर्ट में जमा की है. 

यूपी सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कही गईं प्रमुख बातें

  • – आत्म-रक्षा में पुलिस ने गोलीबारी की क्योंकि दुबे हमला करना चाहता था और आत्मसमर्पण नहीं करना चाहती था.
  • – हादसा वास्तविक था और मैन्यूफैक्चर्ड नहीं था.
  • – राज्य द्वारा न्यायिक जांच कराई जा रही है इसलिए SC को हस्तक्षेप करने की आवश्यकता नहीं है.
  • – राज्य ने कहा कि जवाबी गोली चलाना पुलिस के लिए एकमात्र विकल्प था क्योंकि दुबे का पुलिसवालों की हत्या  करने और भागने का इरादा था, जैसे उसने पहले किया था.

Leave a Reply