Wash hands for 20 seconds, do not prepare sanitizer at home and keep the part of the house frequently touched | 20 सेकंड तक हाथ धोएं, घर पर सैनेटाइजर न तैयार करें और घर के जिस हिस्से को बार-बार छूते हैं उसे जरूर साफ रखें


  • हाथ ही शरीर में किटाणु को ले जाते हैं, इसलिए इसे जितना साफ रख सकें उतना बेहतर
  • खांसने या छींकने पर टिशु पेपर इस्तेमाल करें, इसे हमेशा अपनी जेब में रखें
  • न दूसरे का फोन इस्तेमाल करें और न अपना किसी और दें, वाइप से इसे साफ करें

दैनिक भास्कर

Apr 01, 2020, 09:42 PM IST

न्यूयॉर्क. दुनियाभर में कोरोनावायरस के मामले बढ़ रहे हैं। खासकर पहले से बीमार और बुजुर्गों को इसका खतरा ज्यादा है। महामारी रोग विशेषज्ञ और गणितज्ञ एडम कुचार्स्की के मुताबिक, यह वायरस एक से दूसरे इंसान में फैलता है। एक संक्रमित इंसान से संक्रमण के 400 मामले सामने आ सकते हैं। जानिए कोरोनावायरस से बचाव कैसे करें…

हाथ धोने के दौरान 20 तक उल्टी गिनती गिनें
संक्रमण से बचाव को बचाव का सबसे बेहतर तरीका है बार-बार हाथ धोएं लेकिन ज्यादातर लोग इसका सही तरीका नहीं जानते। इसके लिए अपने हाथ में पानी और साबुन लें। 20 तक उल्टी गिनती शुरू करें और इस दौरान कलाई और नाखूनों को अच्छे से धोएं। हाथ को एयर ड्रायर से मत सुखाएं, यह एक बड़ी गलती है। हाथ सुखाने के टॉवेल का इस्तेमाल करें और नल बंद करने के लिए भी तौलिए का इस्तेमाल करें ताकि दोबारा हाथ में संक्रमण का खतरा न रहे। कोलोराडो स्कूल ऑफ मेडिसन के प्रोफेसर डॉ. अदित गिंडे के मुताबिक, आपके हाथ ही सांस नली तक सारे किटाणु को ले जाते हैं, इसलिए इसे जितना साफ रख सकें उतना बेहतर है।

60 फीसदी अल्कोहल वाला सैनेटाइजर इस्तेमाल करें
अगर आप ऐसी जगह हैं जहां पानी-साबुन उपलब्ध नहीं है तो अल्कोहल बेस्ड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें। ध्यान रखें सैनेटाइजर में 60 फीसदी अल्कोहल होना चाहिए। सैनेटाइजर उपलब्ध न होने पर साबुन भी बेहतर विकल्प है। याद रखें कि सोशल मीडिया पर मौजूद एलोवेरा और अल्कोहल से सैनेटाइजर बनाने की विधि को नजरअंदाज करें क्योंकि इस तरह से बनाया गया सैनेटाइजर काम नहीं करता है। यह पैसे और समय की बर्बादी है।

हाथ बार-बार धोना है लेकिन कब धोएं ये समझें
आमतौर पर घर से निकलने से पहले और अपनी मंजिल पहुंचने के बाद हाथ जरूर धोएं। खाने बनाने, खाने से पहले और खाना बनाने के बाद हाथ धोएं। घर में सफाई के बाद, बच्चे का डायपर बदलने के बाद, शॉपिंग कार्ट छूने के बाद, बाथरूम का इस्तेमाल करने के बाद, खांसने या छींकने के बाद, पालतू जानवर को छूने के बाद और कचरा फेंकने के बाद भी हाथ धोना जरूरी है। 

बार-बार चेहरा छूने की आदत बदलें

ज्यादातर लोगों को चेहरा छूने की आदत होती है। एक रिसर्च के मुताबिक, खुद को अच्छा महसूस कराने के लिए इंसान अपना चेहरा छूते हैं। जब भी चेहरा छुएं तो टिशु पेपर का इस्तेमाल करें, आंख या नाक में खुजली होने पर भी टिशु पेपर बेहतर विकल्प है। इसे हमेशा अपनी जेब में रखें। बाहर निकले तो चश्मा पहनें। दस्तानों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

घर की रोजाना सफाई करें, खासकर उन हिस्सों की जहां किटाणु रहते हैं
घर की रोजाना सफाई करें। खासकर उन हिस्सों की जहां किटाणु रहते हैं, जैसे दरवाजे का हैंडल, लाइट स्विच, टेलीविजन रिमोट, फ्रिज, माइक्रोवेव हैंडल, नल की टोटी और टॉयलेट फ्लश। अगर घर का कोई हिस्से आपको ज्यादा पसंद है तो उसकी सफाई का खास ख्याल रखें। न्यूयॉर्क के एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ. रेस्सी वुड्स कहते हैं, घर के उन हिस्सों की ज्यादा सफाई करें जिसे बार-बार छुआ जाता है, यह एक अच्छी आदत है भले ही कोरोनावायरस का खतरा हो या न हो।

फोन की भी सफाई जरूरी, लेकिन ब्लीचिंग एजेंट का प्रयोग न करें
जिस तरह किटाणु चेहरे, हाथ, डेस्क पर होते हैं उसकी तरह फोन पर भी हो सकते हैं। कोरोनावायरस का संक्रमण फोन से हो सकता है या नहीं, इस पर अब तक कोई रिसर्च सामने नहीं आई है। टेक कंपनी एपल कहना है कि आईफोन को 70 फीसदी अल्कोहल से वाइप के जरिए साफ करें। किसी ब्लीचिंग एजेंट का प्रयोग न करें। अपने फोन को किसी दूसरे से शेयर करने से बचें। किसी दूसरे के फोन को मत छुएं। 

खांसते-छींकते समय मुंह को पेपर या रूमाल से ढकें
ओहिया के फिजिशियन डॉ. विलियम पी सॉवेयर के मुताबिक, कभी भी अपने हाथ पर मत छींकें, वरना हाथों के जरिया टीवी रिमोट, दरवाजे का हैंडल तक संक्रमण फैल सकता है। छींकते या खांसते समय टिशु पेपर या रुमाल का प्रयोग करें। ऐसा करने के बाद इसे डस्टबिन में फेंकें और हाथ को सैनेटाइजर से साफ करें। 

दूरी बनाएं रखें, पब्लिक प्लेस पर कम से कम छह फीट की दूरी बनाएं
वायरस से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। पब्लिक प्लेस पर लोगों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाएं। कोशिश करें कि ऐसी जगहों पर जाने से बचें जहां छींकने या खांसने से संक्रमण का खतरा ज्यादा है। भीड़भाड़ वाली जगहों पर टकराने से बचें। सीडीसी के मुताबिक, सामाजिक समारोह में 10 से ज्यादा लोग नहीं होने चाहिए।  

ट्रैवल एडवाइजरी को फॉलो करें, क्रूज से यात्रा का प्लान न करें
अलग-अलग देशों में ट्रैवल एडवाइजरी जारी की गई है। बॉर्डर सील किए जा चुके हैं और एयरलाइंस कंपनी फ्लाइट कैंसिल कर रही हैं। ऐसे में आप क्रूज से यात्रा का प्लान न बनाएं। आप सफर कर सकते हैं लेकिन ये याद रखें कि महामारी का खतरा भी तेजी से बढ़ रहा है।